विपक्ष का गठबंधन हिंदू और सनातन के खिलाफ है


असम सीएम हिमंता ने कमलनाथ को बताया थका हुआ चेहरा

जबलपुर: दो-तीन माह में देश का माहौल बदला है। विपक्ष का गठबंधन हिंदू और सनातन के खिलाफ है। पांच हजार साल पुराने सनातन के खिलाफ जिस तरह बयानबाजी हुई उसको लेकर कांग्रेस मौन है। मैं राहुल गांधी से बोलना चाहता हूं कि वह श्रद्धा के साथ हिंदू के लिए कुछ बोले। कांग्रेस कुछ करके दिखाए। बीजेपी की हिंदू पर कोई मोनोपॉली नहीं है। हिंदू सहनशील है। यह बातें जबलपुर पहुंचे असम के मुख्यमंत्री डॉ हिमंता बिस्वा सरमा ने इंडिया गठबंधन पर तंज कसते हुए पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहीं। उन्होंने पूर्व सीएम कमलनाथ पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि कमलनाथ को थका हुआ चेहरा बताया।

उन्होंने कहा कि मैं बचपन से कमलनाथ जी को जानता हूं, अभी एक कांग्रेस नेता असम गए थे, मैंने उनसे पूछा कि इतने थके हुए चेहरे को पार्टी क्यों बार-बार लाती है। पत्रकारवार्ता में केन्द्रीय मंत्री प्रहलाद पटैल, विधायक अशोक रोहाणी, इंदु तिवारी, प्रभात साहू, अलिखेश जैन समेत अन्य उपस्थित रहे। श्री हिमंता शनिवार सुबह 10.30 बजे गुवाहाटी से विशेष विमान द्वारा डुमना एयरपोर्ट जबलपुर आए। इसके बाद सर्किट हाउस में पत्रकारों से रूबरू हुए। डॉ सरमा डुमना एयरपोर्ट से दोपहर 12.30 बजे हेलीकॉप्टर से कटनी प्रस्थान कर कर गए। आप मुंगवानी, गोटेगांव से हेलीकॉप्टर द्वारा शाम 6 बजे वापस डुमना विमानतल आए और यहाँ से शाम 6.30 बजे विशेष विमान द्वारा गुवाहाटी प्रस्थान कर गए।
राहुल के पास हिंदुओं का हृदय सम्राट बनने का मौका
बिस्वा सरमा ने कहा कि राहुल गांधी के पास हिंदुओं के हृदय का सम्राट बनने का अच्छा मौका है। उन्हें बयान देने वाले स्टालियन से गठबंधन तोडक़र हिंदुओं का समर्थन लेने चाहिए। उन्हें सनातन के खिलाफ दिए बयान का विरोध करना चाहिए। राहुल स्टालिन को बोले कि आप हिंदू के खिलाफ बयान वापस ले नहीं तो हम आप से समर्थन वापस लेंगे। क्या राहुल ऐसा कर सकते है। हमने तो राम मंदिर बना कर दिखा दिया आप एक काम करके दिखाओ।
..तो सर तन से जुदा के नारे लगते
उन्होंने कहा कि इंडिया गठबंधन आ जाने के बाद तीन राज्यों में चुनाव का मापदंड़ बदल गया है। अब चुनाव भाजपा के खिलाफ नहीं, बल्कि हजारों साल पुरानी सनातन परंपरा से हो गया है। आगे उन्होंने कहा कि हिंदू सहनशील है, इसलिए चुप है अगर ऐसी टिप्पणी दूसरे धर्म के लिए होती तो अब तक सर तन से जुदा होने के नारे लगने लगते। लेकिन पांच हजार साल पुराने सनातन के खिलाफ जिस तरह बयानबाजी हुई है उसको लेकर कांग्रेस मौन है।
कांग्रेस सिर्फ नकल कर सकती है
मुख्यमंत्री डॉ हिमंता बिस्वा सरमा ने जन आशीर्वाद यात्रा को लेकर कहा कि भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो सत्ता में रहते हुए भी जनता के बीच जाती है। पांच साल में हुए विकास कार्यों को बताती है। मप्र में खूब विकास हुआ है। जन आशीर्वाद का मतलब है लोगों को जोडक़र उनसे आशार्वाद लेना। महिलाओं को सशक्त बनाने काम शिवराज सरकार ने किया है। करीब डेढ़ करोड़ महिलाओं को इस योजना से जोडक़र आशीर्वाद शिवराज सरकार को मिला है इसके आगे कांग्रेस इस अशीर्वाद का मुकाबला नहीं कर पाएगी। कांग्रेस सिर्फ नकल कर सकती है।
हम कांग्रेस को चांद पर भेज देंगे
इंडिया गठबंधन के कुछ मीडिया एंकर पर प्रतिबंध के सवाल पर श्री हिमंता ने कहा कि इतिहास पुराना है। यह 1975 से चला आ रहा है। अगर कांग्रेस सरकार आ गई तो यह मीडिया ऐसे ही सेंसर कर देगी। मीडिया का बाय काट करना बच्चों के झगड़े के जैसा है। जैसे बच्चे आपस में झगड़ा कर कट्टी कर लेते है उसी प्रकार का इनका हाल है। उन्होंने कहा कि इसरो ने ठीक समय पर चंद्रयान बना दिया। हम उसमें बैठाकर पूरी कांग्रेस को चांद पर भेज देंगे। वहीं जाकर सरकार बनाओ, वहीं जाकर बैन लगाओ।
हिंदुत्व के मुद्दे पर मौन तोड़े कांग्रेस: प्रहलाद
केन्द्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि उनका हिंदुत्व छिंदवाड़ा से बाहर नहीं निकल पताा। वह पहले अपने नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का हिंदुत्व के मुद्दे पर मौन तोड़े। कांग्रेस की जन आक्रोश यात्रा पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की जब भी सरकार आती है तब जनहित की योजनाओं का पैसा रोकने लगती है।


नव भारत न्यूज

Next Post

तेज बारिश ने निमाड़ को धो डाला,प्रलय जैसे हालात

Sun Sep 17 , 2023
खंडवा: गुरूवार से लगातार हो रही तेज बारिश ने 31 साल पुरानी तस्वीरें उकेर दीं। नर्मदा किनारे पसरे अतिक्रमण खुद नर्मदा ने हटा दिए। इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर बांध के सभी गेट खोलने पड़े। खंडवा के सुक्ता और नागचुन तालाब जैसे बड़े जलस्रोत ओवर फ्लो होकर आबना व अन्य नदियों […]