आज बृहस्पति को अंतरिक्ष में देखें चन्द्रमा के साथ


ग्वालियर: कल सोमवार, 4 सितंबर की रात को आप बृहस्पति गृह को अंतरिक्ष में अपने घर की छत से खुली आँखों से देख पाएंगे। ऐसे नजारे आकाश में बहुत कम ही देखने को मिलते है। बृहस्पति की स्थिति इतने सटीक स्थान पर होगी कि कोई भी व्यक्ति उसको आसानी से देख और पहचान सकेगा।विवेक गौतम पिछले कई वर्ष से आसमान की गतिविधियों पर निगाह रख रहे ग्वालियर के विख्यात खगोल शास्त्री और सॉफ्टवेयर इंजीनियर विवेक गौतम ने नवभारत को बताया कि ४ सितंबर की रात आकाश में बृहस्पति गृह आपको चन्द्रमा के बिलकुल पास एक बड़े चमकीले तारे की तरह दिखयी देगा।

तारे की तरह इसलिए क्योंकि बृहस्पति गृह पृथ्वी से लगभग 66 करोड़ किलोमीटर दूर अंतरिक्ष में स्थित है और 4 सितंबर को वह पृथ्वी से 666,271,910 किमी की दूरी पर होगा। बृहस्पति गृह चमकीला इसलिए दिखेगा क्योंकि जिस तरह सूर्य के प्रकाश से चन्द्रमा चमकता है, ठीक उसी तरह सूर्य के प्रकाश से बृहस्पति और अन्य गृह भी चमकते है।
देखने का समय…
4 सितंबर की रात को बृहस्पति गृह और चन्द्रमा दोनों एक साथ और एक समय पर आसमान में निकलेंगे और पूरी रात एक दूसरे के साथ आसमान में दिखेंगे। बृहस्पति गृह रात को 21:50 बजे पूर्व दिशा में उदय होगा और कुछ घंटों के बाद जब ये आकाश में पर्याप्त ऊँचाई पर आ जायेगा तब ये छत से दिखना शुरू हो जायेगा। लेकिन इसे सुबह 4 बजे आसमान में सबसे अच्छी तरह से देखा जा सकेगा। क्योंकि इस समय तक बृहस्पति चन्द्रमा से थोड़ा दूर निकल करके चन्द्रमा के कटे हुए (छुपे हुए) हिस्से के पास में आ जायेगा। जैसा प्रतीक चित्र में दर्शाया गया है।
बृहस्पति गृह कितना चमकीला दिखेगा…
4 सितंबर को बृहस्पति गृह कितना चमकीला दिखेगा, यह चन्द्रमा की उस रात की चमक पर निर्भर करेगा। अगर चन्द्रमा की रोशनी बहुत अधिक होगी, तो बृहस्पति एक कम चमकीले तारे की तरह ही दिखाई देगा। यही कारण है कि उजली रातों में कम चमक वाले तारे भी आसमान में दिखाई नहीं देते है। ग्वालियर के विवेक गौतम विश्वस्तरीय एक्सेंचर कम्पनी में सेवाएं दे चुके हैं।


नव भारत न्यूज

Next Post

भाजपा की जिला कार्यसमिति पर चुनावी संतुलन की छाप देर रात अभय चौधरी ने किया अपनी टीम का ऐलान

Mon Sep 4 , 2023
चार सिंधिया समर्थकों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां ग्वालियर: भारतीय जनता पार्टी के ग्वालियर महानगर के पदाधिकारियों की घोषणा देर रात ज़िलाध्यक्ष अभय चौधरी ने कर दी। पूर्व कार्यकारिणी में महामंत्री रहे राजू सैंगर को उपाध्यक्ष बनाया गया है तो वहीं विनय जैन व राजू पलैया को नये महामंत्री का दायित्व दिया […]