शिवराज ने छतरपुर से पैदल भोपाल पहुँचे दंपत्ति का सम्मान किया


भोपाल, 30 अगस्त (वार्ता) मध्यप्रदेश के दूरस्थ अंचल से पदयात्रा कर राजधानी तक पहुँचे दंपत्ति का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री निवास में सम्मान किया।

लाड़ली बहना श्रीमती विमला ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को राखी सौंपी। मुख्यमंत्री ने मुहूर्त अनुसार राखी बंधवाने के लिए ग्रहण की और अपने हाथ से बहना को मिठाई खिलाई। उन्होंने प्रजापति दंपति को कहा कि वे छतरपुर उनके घर भी जरूर आएंगे। श्री चौहान ने कहा कि प्रजापति दंपत्ति को राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाया जायेगा।

आज मुख्यमंत्री निवास पहुँचकर छतरपुर से भोपाल तक पैदल आए प्रजापति दंपत्ति ने श्री चौहान से भेंट की। मुख्यमंत्री ने हरि प्रजापति और श्री विमला प्रजापति को मुख्यमंत्री निवास में भोजन करवाया, उनका टीका किया और दंपत्ति को 25 हजार रुपए की सहायता एवं प्रोत्साहन राशि प्रदान की। मुख्यमंत्री ने लाड़ली बहन योजना की हितग्राही श्रीमती विमला और उनके पति हरि प्रजापति को वाहन द्वारा छतरपुर घर तक पहुँचाने की व्यवस्था के निर्देश दिए।

स्वेच्छा से चले पैदल, चाहते तो बस या ट्रेन से आते, श्री चौहान का आभार व्यक्त करना चाहते थे। प्रजापति दंपत्ति राजधानी भोपाल और मुख्यमंत्री निवास आकर काफी प्रसन्न थे। उन्होंने बातचीत में बताया कि वे लाड़ली बहन योजना से प्रभावित होकर आभार व्यक्त करने पदयात्रा कर भोपाल आये। स्वेच्छा से पैदल चलकर आए हैं, चाहते तो बस या ट्रेन से आ सकते थे। लेकिन मन में यह भावना थी कि वे अपनी खुशी पैदल चलकर ही व्यक्त करनी है। तभी अन्य लोगों को योजना के बारे में अधिक मालूम चलेगा। परिवार की बिटिया को लाड़ली लक्ष्मी योजना का लाभ भी मिल रहा है।

श्री हरि प्रजापति ने बताया कि छतरपुर से भोपाल पैदल आते हुए मार्ग में किसान और अन्य लोग मिलते थे तो हाथों में मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना की तख्ती देखकर जरूरी सहयोग भी करते थे। रास्ते में रात्रि विश्राम और भोजन के लिए अनेक लोगों ने सहयोग दिया। इस पदयात्रा से उन्हें लाड़ली बहना योजना के लोकप्रिय होने की जानकारी भी मिली। जब परिवार को योजना की पहली किश्त की राशि मिली थी, तभी तय किया था कि राज्य शासन, विशेष रूप से मुख्यमंत्री श्री चौहान के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए पदयात्रा करेंगे। श्री हरि प्रजापति ने बताया कि वे ईंट भट्टे में कार्य करने वाले श्रमिक हैं। छतरपुर के वार्ड क्रमांक-8 सरानी दरवाजा के वे निवासी हैं। उनके पास अपना भू-खंड भी है। मजदूरी का काम भी चल रहा है लेकिन अपना स्वरोजगार प्रारंभ करने की इच्छा है। आज मुख्यमंत्री श्री चौहान से मिलकर यह अहसास हुआ कि वे वास्तव में बहनों के भाई हैं। मुख्यमंत्री निवास में मेहमान की तरह सुविधाएँ मिलीं।

मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना की हितग्राही श्रीमती विमला प्रजापति ने बताया कि वह एक हजार रुपये मासिक की सहायता राशि प्राप्त होने की प्रसन्नता को व्यक्त करने के लिए भोपाल तक पैदल चलकर आई है। पदयात्रा में पति श्री हरि प्रजापति के साथ जिस भी गाँव, कस्बे से निकले मिलने पर सभी लोगों ने पूरा साथ दिया। गत 15 अगस्त को छतरपुर से शुरु पैदल यात्रा 29 अगस्त को भोपाल के आनंद नगर स्थित राम मंदिर में पूरी हुई। मंदिर में ही रुकने के पश्चात संकल्प लिया कि एक दिन और रूकेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान को राखी बांधने के बाद ही वापस छतरपुर जाएंगे।


नव भारत न्यूज

Next Post

राज्यपाल को बालिकाओं, बहनों ने रक्षासूत्र बांधा

Wed Aug 30 , 2023
भोपाल, 30 अगस्त (वार्ता) मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने रक्षाबंधन का पर्व राजभवन में मनाया। रक्षा-बंधन के मौके पर आज एस.ओ.एस. चिल्ड्रन्स विलेज खजुरी कला की बालिकायें, प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के पदाधिकारी राजभवन पहुंचे। श्री पटेल को रक्षासूत्र बांध कर परम्परागत स्वरुप में रक्षाबंधन का उत्सव मनाया। राज्यपाल […]