टाटा प्ले की सेवायें अब जीसैट 24 से


नयी दिल्ली (वार्ता) डीटीएच सेवायें देने वाली कंपनी टाटा प्ले की सेवायें आज से जीसैट 24 उपग्रह से शुरू हो गयी है और अब इस पर देश में उपलब्ध लगभग सभी नौ सौ चैनल उपभोक्ताओं को मिलेंगे।

पहले टाटा स्काई के नाम से प्रसिद्ध टाटा प्ले ने सरकार के मेक इन इंडिया मिशन के अनुरूप जून 2022 में इसरो की वाणिज्यिक इकाई न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) के साथ गठबंधन कर जीसैट-24 उपग्रह का प्रक्षेपण किया था।

एक वर्ष तक के परीक्षण के बाद टाटा प्ले ने अपने कक्ष में स्थापित हो चुके इस उपग्रह का उपयोग आज से शुरू करने की घोषणा की।

इस बढ़ी हुई बैंडविड्थ से टाटा प्ले अपने उपयोगकर्ताओं को और भी बेहतर पिक्चर और ध्वनि प्रदान कर पाएगा और सभी डीटीएच प्लेटफार्मों के बीच सबसे बड़ा उपग्रह बैंडविड्थ प्रदाता बनने के साथ 50 प्रतिशत ज़्यादा चैनल प्रसारित कर पाएगा।

इस सेवा के शुभारंभ के मौके पर दूरसंचार और सूचना एवं प्रसारण सचिव अपूर्व चंद्रा ने कहा,“ जीसैट-24 सफलतापूर्वक शुरू होने से अंतरिक्ष और संचार के क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत की ओर एक और कदम बढ़ाया है।

इस मौके पर इसरो के अध्यक्ष एस सोमनाथ ने कहा, “जीसैट-24 एक 4-टन वर्ग का संचार उपग्रह है, जो डीटीएच सेवाएं प्रदान करने के लिए बनाया गया है।

इसने कक्षा में विस्तृत परीक्षण के बाद अपनी अधिकतम उपग्रह क्षमता के साथ काम करना शुरू कर दिया है।

यह महत्वपूर्ण उपलब्धि भारत के दूरसंचार क्षेत्र में अत्याधुनिक स्वदेशी प्रौद्योगिकी द्वारा लायी गई एक क्रांति का प्रतीक है।

यह हमारे देश के एयरोस्पेस के कौशल को हमारा आभार है और मांग पर आधारित मिशन के क्षेत्र में भारत के सफल प्रवेश की शुरुआत करता है।

एनएसआईएल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक राधाकृष्णन दुरईराज ने कहा, “अंतरिक्ष क्षेत्र में सुधारों के बाद जीसैट-24 एनएसआईएल द्वारा शुरू किया गया पहला मांग आधारित संचार उपग्रह मिशन है।

जीसैट-24 उपग्रह भारत में उपग्रह टेलीविजन के एक नए युग की शुरुआत करने के लिए तैयार है।

मेक इन इंडिया पहल की सफलता प्रमाणित करते हुए यह उपग्रह अत्याधुनिक डिजिटल टीवी प्रसारण क्षमताओं द्वारा घरेलू प्रसारण सेवाओं में मदद करेगा।

एनएसआईएल, इसरो और टाटा प्ले की टीमों को बधाई, जिन्होंने इस परियोजना को सफल बनाने में सहयोग दिया।

इस अवसर पर टाटा प्ले के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ हरित नागपाल ने कहा “टाटा प्ले द्वारा देखने के अनुभव को सबसे ज़्यादा महत्व दिया जाता है।

एनएसआईएल के साथ इस सहयोग द्वारा हमारे डीटीएच ग्राहकों को और भी बेहतर वीडियो एवं ऑडियो गुणवत्ता मिलेगी और वो कई सारे चैनलों व सेवाओं का आनंद ले सकेंगे।

यह इस देश में लीनियर टीवी की ओर हमारी प्रतिबद्धता को भी मजबूत करता है, जहां लगभग 14 करोड़ घरों में अभी भी पहला टीवी खरीदा जाना बाक़ी है।

हमने अपनी सभी सेवाएं हमेशा अंतरिक्ष विभाग द्वारा निर्मित स्वदेशी उपग्रहों के माध्यम से प्रदान की हैं और क्षमता में इस वृद्धि से ‘मेक इन इंडिया’ के प्रति हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि होती है।

जीसैट-24 एक 24-केयू बैंड संचार उपग्रह है, जिसे भारत सरकार द्वारा केवल टाटा प्ले की डीटीएच सेवाओं के लिए प्रक्षेपित किया गया है।

जीसैट-24 उपग्रह की संपूर्ण क्षमता को इसके प्रतिबद्ध ग्राहक टाटा प्ले को पट्टे पर दिया गया है।


नव भारत न्यूज

Next Post

भारत और अमेरिका के वित्तीय मामलों की अधिकारियों की बैठक

Tue Aug 8 , 2023
नयी दिल्ली (वार्ता) भारत और अमेरिका के अधिकारियों ने कई आर्थिक एवं वित्तीय मुद्दों पर चर्चा की है जिनमें दोनों देशों में आर्थिक परिदृष्य, वैश्विक ऋण चुनौतियों से निपटने में भारतीय एवं अमेरिकी प्राथमिकताएं, स्वच्छ ऊर्जा को अपनाने की दिशा में आगे बढ़ने और जलवायु वित्त जुटाने के लिए संयुक्त […]