जुलाई में 1.65 लाख करोड़ का जीएसटी संग्रह


नयी दिल्ली (वार्ता) माल एवं सेवा कर (जीएसटी) राजस्व संग्रह इस वर्ष जुलाई में 1.65 लाख करोड़ रुपए से अधिक रहा है जो जुलाई 2022 के जीएसटी संग्रह की तुलना में 11 प्रतिशत अधिक है।

वित्त मंत्रालय ने आज यहां जारी बयान में कहा कि जीएसटी के प्रवाभी होने से लेकर जुलाई ऐसा पांचवां महीना रहा है जब जीएसटी संग्रह 1.60 लाख करोड़ रुपए से अधिक रहा है।

जून में जीएसटी संग्रह 161497 करोड़ रुपये रहा था।

इस वर्ष अप्रैल में रिकार्ड 1.87 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी राजस्व संग्रहित हुआ था जो अब तक का सर्वाधिक राजस्व था।

इससे पहले पिछले वर्ष अप्रैल में यह राशि 167540 करोड़ रुपये रहा था।

पिछले 16 महीने से जीएसटी राजस्व संग्रह 1.40 लाख करोड़ रुपये से अधिक बना हुआ है।

मार्च 2023 में यह 160122 करोड़ रुपये रहा था।

वित्त मंत्रालय ने आज यहां जीएसटी राजस्व संग्रह का आंकड़ा जारी किया जिसमें जुलाई 2023 में संग्रहित राजस्व 165105 करोड़ रुपये रहा है।

इस वर्ष जुलाई में संग्रहित राजस्व में सीजीएसटी 29773 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 37623 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 85930 करोड़ रुपये रहा जिसमें आयात पर संग्रहित कर 41239 करोड़ रुपये शामिल है।

उपकर संग्रह 11779 करोड़ रुपये रहा जिसमें आयात पर संग्रहित कर 840 करोड़ रुपये शामिल है।

सरकार ने नियमित निपटान के तहत आईजीएसटी में से सीजीएसटी में 39785 करोड़ रुपये और एसजीएसटी में 33188 करोड़ रुपये दिये है।

इस तरह से जून में सीजीएसटी 69558 करोड़ रुपये और एसजीएसटी 70811 करोड़ रुपये रहा है।


नव भारत न्यूज

Next Post

चुनावी तैयारियों में आई तेजी, दावेदार गांवों की ओर कर रहे कूच

Wed Aug 2 , 2023
सुरेश पांडेय पन्ना: आगामी विधानसभा चुनाव के लिए प्रमुख राजनैतिक दल भाजपा एवं कांग्रेस ने अपनी अपनी चुनावी तैयारियां शुरू कर दी है। वहीं सपा एवं बसपा हमेशा की तरह चुनाव के लगभग एक या दो माह के पूर्व ही सक्रिय होते रहे हैं और ऐसा ही इस बार दिख […]