भारत ने इंग्लैंड को ड्रॉ पर रोका


बार्सिलोना, (वार्ता) भारतीय महिला हॉकी टीम ने बुधवार को स्पैनिश हॉकी फेडरेशन 100वीं वर्षगांठ अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के अपने शुरुआती मैच में पिछड़कर वापसी करते हुए इंग्लैंड को 1-1 के ड्रा पर रोक लिया।

इंग्लैंड होली हंट (सातवां मिनट) के गोल के दम पर जीत की ओर बढ़ रही थी, लेकिन लालरेम्सियामी (41वां) ने भारत के लिये गोल जमाकर मुकाबला ड्रॉ करवाया।

इंग्लैंड की टीम मुकाबले के पहले मिनट से अपनी लय में दिखी और बेहतरीन तरीके से गेंद को पास करते हुए उसपर कब्ज़ा रखा।

मैच के सातवें ही मिनट में हंट ने भारतीय डी के अंदर ज़ोरदार शॉट खेलकर अपनी टीम को बढ़त दिला दी।

भारत ने स्कोर बराबर करने के कई मौके बनाये लेकिन इंग्लैंड के अटूट रक्षण ने उसे एक बार भी गेंद को नेट में पहुंचाने का मौका नहीं दिया।

दूसरे क्वार्टर में भारत के आक्रामक रवैये को देखकर इंग्लैंड ने गेंद को अपनी मिडफील्ड और रक्षकों तक सीमित रखने की योजना बनायी।

यह योजना इंग्लैंड के काम आयी और भारतीय महिलाएं हाफ टाइम तक पिछड़ी रहीं।

इंग्लैंड ने 30वें मिनट तक अपनी बढ़त सुरक्षित रखने के बाद भारतीय खेमे में आक्रमण करने का फैसला किया।

इस नीति ने इंग्लैंड को मैच का पहला पेनल्टी कॉर्नर दिलाया, हालांकि वह इसे भुना नहीं सका।

इस बीच, इंग्लैंड की आक्रमणकारी नीति ने भारत को भी गेंद पर कब्ज़ा करने का मौका दे दिया।

कुछ देर बाद ही भारत ने अपना पहला पेनल्टी कॉर्नर अर्जित किया और लालरेम्सियामी ने इसे गोल में बदलने में कोई चूक नहीं की।

दोनों ही टीमों ने मुकाबले के अंतिम मिनटों में कई पेनल्टी कॉर्नर अर्जित किये लेकिन गोल न होने के कारण मुकाबला 1-1 की बराबरी पर समाप्त हुआ।

गौरतलब है कि हाल ही में जूनियर एशिया कप 2023 में भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम के साथ खिताब जीतने वाली युवा मिडफील्डर ज्योति छेत्री ने इस मैच में सीनियर टीम के लिये पदार्पण किया था।


नव भारत न्यूज

Next Post

एशियाई खेलों के लिये भारतीय फुटबॉल टीम को मिली मंजूरी

Thu Jul 27 , 2023
    नयी दिल्ली, (वार्ता) केन्द्रीय खेल मंत्रालय ने ‘नियमों में ढील देते हुए’ भारत की पुरुष और महिला फुटबॉल टीम को चीन के हांग्झोउ में 23 सितंबर से होने वाले एशियाई खेलों में भेजने का निर्णय लिया है। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने इसकी जानकारी देते हुए बुधवार को […]