चोरी हुई ट्राली का पता लगाकर पुलिस ने चोरों को पकड़ा


दमोह:जिले के तारादेही थाना अंतर्गत सुधार कार्य के लिए खड़ी ट्रैक्टर की ट्राली के अचानक रहस्यमय ढंग से गायब हो जाने के बाद पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए 24 घंटे के अंदर चोरी गई ट्राली को बरामद करने में सफलता हासिल की है. कुछ आरोपियों को पकड़ लिया गया है वहीं कुछ फरार बताए जा रहे हैं.प्राप्त जानकारी के अनुसार तारादेही थाना अंतर्गत बासी निवासी प्रशांत यादव की ट्राली जेतगढ़ तिराहे पर एक बैल्डिंग दुकान पर सुधार कार्य के लिए खड़ी थी. रात्रि के समय वह अचानक इसके चोरी चले जाने पर सुबह से हड़कंप के हालात बनते देर नहीं लगी. दुकानदार सहित ट्राली मालिक इधर-उधर ट्राली की खोजबीन में लगे हुये थे वहीं पता नहीं लगने पर ट्राली मालिक ने तारादेही थाने में भी लिखित आवेदन देकर कार्यवाही की मांग की थी.

18 जून की सूचना तारादेही पुलिस को मिली की चोरी हुई ट्राली तेंदूखेड़ा थाने के नरगवा ग्राम में एक घर के पीछे खडी हैं. सूचना पर थाना प्रभारी श्याम वैन मौके पर पहुंचे और ट्राली वाले को बुलाकर पहचान कराई तो उसने ट्राली को पहचान लिया.वहीं मकान मालिक मंगल सिंह से पूछताछ की तो उसने बताया की उसने ट्राली खरीदी हैं, चोरी की ट्राली का कलर बदलने के लिए बदमाशों का प्राइमर पोत दिया गया था. वहीं जांच के दौरान पुलिस को पता लगा कि राहुल सिंह ट्रैक्टर के सहारे ट्राली को चोरी करके यहां लाया गया था तथा बिहारी रैकवार नाम का व्यक्ति भी इनके साथ में था.

मामले का खुलासा करते हुए तारादेही थाना प्रभारी श्याम वैन ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में ट्रैक्टर ट्राली की चोरी की जांच के दौरान पता लगा कि ट्राली को राहुल उर्फ तखत सींग आदिवासी अपने टैक्टर मे बधाकर गया था. उसके साथ बिहारी रैकवार भी था, राहुल को पकड़ने के साथ उसका टैक्टर भी जप्त किया गया है. चोरी की ट्राली खरीदने वाले मंगल सिंह को भी पकड़ लिया गया है. लेकिन बिहारी रैकबार अभी फरार हैं. प्रशांत यादव की शिकायत पर तीनों आरोपियों पर 379 की धारा पर मामले दर्ज किया गया हैं और बिहारी की तलाश की जा रही हैं.


नव भारत न्यूज

Next Post

वन विभाग की पकड़ से दूर बाघ,

Tue Jun 20 , 2023
पकड़ने का प्रयास जारी, अधिकारी पीड़ित परिवार से मिले, दी आर्थिक सहायता इंदौर: गत 18 जून को को सूचना प्राप्त होने पर कि वन परिक्षेत्र महूँ अंतर्गत वन्यप्राणी द्वारा एक व्यक्ति को मार दिया गया है पर त्वरित वन परिक्षेत्र महू, रेस्क्युदल, उप वन मंडलाधिकारी, महू, अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) महूँ […]