चिड़िया बचाओ थीम पर कार्यशाला में प्रो. अली ने कहा – दुनिया में 50 अरब पक्षियों की प्रजातियां


भिंड: नवजीवन संस्कार सेवा समिति द्वारा बीटीआई रोड पर बेटी बचाओ और चिड़िया बचाओ थीम पर कार्यशाला का आयोजन किया गया।मुख्य रूप से मौजूद प्रो. इकबाल अली ने पक्षियों से जुड़ी हुई कई जानकारियों से मौजूद लोगों को अवगत कराया।कार्यशाला में प्रो. अली ने बताया कि दुनिया में 50 अरब के आसपास पक्षियों की प्रजातियां मिलती है। भारत में 1371 प्रजातियों के पक्षी पाए पाए जाते हैं। वर्तमान में पक्षियों की बहुत सी प्रजातियां विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुकी हैं।

पिछले चार दशक में दुनिया भर से 40 फीसदी पक्षियों की प्रजातियां विलुप्त हो चुकी हैं। गिद्ध, डोडो जैसे परिंदे, जो कि हमारे ईको सिस्टम के महत्वपूर्ण अंग थे, यह भी समाप्ति की ओर बढ़ चुके हैं। गांव-देहात में एक चिड़िया को चुगते हुए जरूर देखा होगा, गौरैया जिसे कहा जाता है, अभी यह परिंदा हमारी आंखों से लगभग ओझल हो चुका है।

उन्होंने बताया कि एक पारिस्थितिक तंत्र में हर एक जीव-जंतु का अपना अलग सा महत्व है जो इस पृथ्वी के वातावरण को संतुलित रखता है लेकिन बढ़ते इंसानी प्रभाव से अन्य जातियों के जीवन पर खतरा मंडरा रहा है। पक्षियों का हमारे इकोसिस्टम में बेहद महत्व है । उन्होंने बताया कि नवजीवन संस्कार सेवा समिति बेटी बचाओ और चिड़िया बचाओ विषय पर लगातार काम करता आ रहा है। इस अवसर पर नीतेश जैन, पालय, फूला, अनिल शर्मा, शैलेष सक्सेना, नीलेश रपरिया आदि मौजूद रहे।


नव भारत न्यूज

Next Post

कूनो से फिर गाँवों की ओर निकला चीता ओवान, घरों की छतों पर चढ़े ग्रामीण

Mon Apr 17 , 2023
श्योपुर: कूनो नेशनल पार्क से चीता ओवान एक बार फिर बाहर निकल गया है। उसे शिवपुरी के बैराड़ क्षेत्र के जोरोई गांव में खेतों में देखा गया। चीते को देखकर लोग अपने घरों के दरवाजे बंदकर छत पर चढ़ गए हैं। सूचना पर पहुंचे वन अमले ने मोर्चा संभाल लिया […]