कमलनाथ ने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में किया ध्वजाराेहण

भोपाल,  (वार्ता) मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज गणतंत्र दिवस पर यहां स्थित प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय प्रांगण में ध्वजारोहण किया। उन्होंने ध्वजबंधन कर ध्वज को सलामी दी और कांग्रेस पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं और प्रदेश की जनता को गणतंत्र दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं दी।
श्री कमलनाथ ने 74 वें गणतंत्र दिवस के पावन पर्व पर प्रदेश की जनता के नाम संबोधित अपने संदेश में कहा कि आज का समय भारत के प्रत्येक नागरिक के लिए चुनौतियों से भरा हुआ समय है। आज देश और मध्यप्रदेश का हर वर्ग परेशान है, हर समाज परेशान है। हर घर चरम मंहगाई के बोझ से दब रहा है, आमजन का जीवनयापन दुर्भर हो रहा है। युवा रोजगार के लिए भटक कर परेशान हो रहे हैं।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान खेती की नई चुनौतियों से परेशान है। व्यापारी शोषण से परेशान है। कमजोर वर्ग अत्याचार से परेशान है। बहन, बेटियां और बच्चे असुरक्षा और सम्मान बचाने को लेकर परेशान है। हमारा मध्यप्रदेश पिछड़ेपन को लेकर परेशान है, औद्योगिक अविकास को लेकर परेशान है, प्रदेश पर लाखों करोड़ों के कर्ज को लेकर परेशान है। मध्यप्रदेश में शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल है। आज के ये हालात हमारे प्रदेश का कड़वा सच है, वो कड़वा सच, जिसे आमजन रोज जी रहा है।
श्री कमलनाथ ने कहा कि इन हालातों को बदलने का मन आपने बनाया था और 2018 में कांग्रेस को समर्थन दिया था। एक नई सुबह की शुरूआत प्रदेश में हुई थी। कांग्रेस सरकार ने अपने अल्प कार्यकाल में अपनी नीति और नियत का परिचय दिया था। हमने शुरूआत की थी। किसान कर्जमाफी, 100 रूपये में 100 यूनिट बिजली, वृद्ध, विधवा और दिव्यांगों को बढ़ी पेंशन, अगड़ों और पिछड़ों को आरक्षण, हजारों नई गौशालाएॅं, शुद्ध का युद्ध, अपराधमुक्त-माफियामुक्त मध्यप्रदेश, कन्या विवाह हेतु 51 हजार की सहायता दी थी।
उन्होंने कहा कि राम वन गमन पथ, महाकाल व आेंकारेश्वर मंदिर विस्तार, सभी समाज के युवाओं को निजी उद्योगों में रोजगार के लिए आरक्षण जैसे अनेक कदमों से हमने मध्यप्रदेश की नई तस्वीर बनाने की ओर काम शुरू किया था, एक ऐसी तस्वीर जो मध्यप्रदेश की नई पहचान बना सके, परंतु प्रदेश के नव निर्माण का सफर पूरा न हो सका। परंतु वे आप सभी को विश्वास दिलाना चाहते हैं कि हम मिलकर मध्यप्रदेश के नव निर्माण का सफर फिर शुरू करेंगे। 2023 का साल मध्यप्रदेश के भविष्य को निर्धारित करने वाला साल है।
श्री कमलनाथ ने कहा कि हम किसान कर्जमाफी के लिए प्रतिबद्ध हैं, हम युवाओं को रोजगार देने के लिए प्रतिबद्ध हैं, हम कर्मचारियों को पेंशन देने के लिए प्रतिबद्ध हैं, हम अगड़ों और पिछड़ों के भविष्य के लिए प्रतिबद्ध हैं। हर दलित और आदिवासी को हक और न्याय मिले, यह हमारी प्राथमिकता है। माताएॅं, बहने और बच्चे मुस्करायें, यह हमारा संकल्प है। मध्यप्रदेश निवेश और औद्योगीकरण के पथ पर तेजी से आगे बढ़े, यह हमारा संकल्प है। हम स्वास्थ्य और जल के अधिकार को धरातल पर साकार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
उन्होंने कहा कि शिक्षा और भोजन के अधिकार को नये आयाम देने के लिए संकल्पित हैं। गणतंत्र दिवस की हीरक जयंती पर हम एक साथ मिलकर मध्यप्रदेश के नव निर्माण के सपने को साकार करना प्रारंभ करेंगे। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति और भारतीय मानस चुनौतियों को स्वीकार करते आये हैं और उन पर पार भी पाते आये हैं। आज देश व प्रदेश की परिस्थितियों से डरने का समय नहीं है, बल्कि उनसे लड़ने का समय है। आज का समय चुनौती से भयभीत होने का नहीं, बल्कि निडर होकर उसका सामना करने का समय है।
प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारी चंद्रप्रभाष शेखर, राजीव सिंह, प्रकाश जैन, अशोक सिंह, पी सी शर्मा, मुकेश नायक, योगेश यादव, विभा पटेल, के के मिश्रा, जे पी धनोपिया, गोविंद गोयल, राजकुमार पटेल, भूपेन्द्र गुप्ता, संगीता शर्मा, आशुतोष चौकसे, रवि सक्सेना सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस पदाधिकारी, कार्यकर्ता और बाल कांग्रेस के सिपाही उपस्थित थे।

नव भारत न्यूज

Next Post

नगरों का सुनियोजित विकास सरकार का लक्ष्य : नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह

Fri Jan 27 , 2023
विभाग की योजनाओं पर बजट चर्चा में विशेषज्ञों ने दिये सुझाव नगरपालिक निगम भोपाल की महापौर श्रीमती मालती राय ने कहा कि चुंगी क्षतिपूर्ति की राशि समय पर मिलनी चाहिए भोपाल :-नगरों का सुनियोजित विकास करना राज्य सरकार का लक्ष्य है। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए जरूरी बजट […]