तीसरे मोर्चे की सुगबुगाहट से भाजपाई खुश

दिल्ली डायरी

प्रवेश कुमार मिश्र

लोकसभा चुनाव में भाजपा के नेतृत्व वाले राजग खेमे से मुकाबले के लिए विपक्षी दलों की ओर से एकजुट महागठबंधन बनाने के प्रयास को जिस तरह से झटका लगा है उससे साफ है कि लोकसभा चुनाव में आमने सामने के बजाय त्रिकोणीय मुकाबले की संभावना है. हालांकि तीसरे मोर्चे के उदय से सबसे ज्यादा नुकसान कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व वाले संप्रग को होने जा रहा है लेकिन इस विपक्षी बिखराव से सबसे ज्यादा खुशी भाजपाई खेमे में दिख रही है. भाजपाई रणनीतिकार इसे 2024 की लड़ाई के लिए बेहतर मान रहे हैं. इसलिए उनकी ओर इस संभावित गठबंधन पर किसी स्तर से आक्रामक टिप्पणी नहीं किया गया है.

केसीआर ने नीतीश से किया किनारा

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पार्टी की पहली बैठक के साथ गैर-कांग्रेसी विपक्षी मोर्चा बनाने की दिशा में पहला कदम उठाया. हैदराबाद के खम्मम शहर में भारत राष्ट्र समिति की बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री व जदयू नेता नीतीश कुमार को छोड़ सपा,आप, सीपीआई समेत लगभग 21दलों के नेताओं को निमंत्रित कर यह साफ कर दिया कि नीतीश कुमार के संभावित नेतृत्व को वे स्वीकारने को तैयार नहीं हैं. उधर नीतीश कुमार ने भी साफ कर दिया कि उन्हें इस बैठक के लिए बुलाया नहीं गया था. नीतीश कुमार के प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने के संभावित उम्मीद को लगे झटके को लेकर दिल्ली की राजनीतिक गलियारों में खूब चर्चा हो रहा है. कुछ लोग कह रहे हैं कि नीतीश कुमार से जब उनके सरकार में शामिल राजद कोटे के मंत्री ही कंट्रोल में नहीं हैं तो वे किस तरह से दो दर्जन से ज्यादा पार्टी को एकजुट रख पाएंगे. संभवतः इसी वजह से केसीआर ने उनसे अचानक किनारा कर लिया है.

आपसी रार में फंसा जदयू-राजद का कुनबा

बिहार में सत्ताधारी दलों की राजनीति इन दिनों आपसी टकराव और एक दूसरे पर छोड़े जा रहे शब्दबाण को लेकर सुर्खियों में है. राजद कोटे मंत्रियों ने एक एक कर जिस तरह से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व को ही चुनौती देते उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के पक्ष में माहौल बना रहे हैं उससे बिहार की राजनीति में एकबार फिर असमंजस और असहजता की स्थिति दिखाई दे रही है. हालांकि टकराव बढ़ने के बाद जदयू व राजद के ओर से डैमेज कंट्रोल करने का कोरम पूरा किया गया है लेकिन अभी भी टकराव की सुगबुगाहट भांपी जा रही है. कहा जा रहा है कि जल्द ही जदयू का एक खेमा अपने को जदयू से अलग करने की घोषणा कर सकता है.

भारत जोड़ो यात्रा के समापन समारोह को भव्य बनाने में जुटे कांग्रेसी

भारत जोड़ो यात्रा के समापन समारोह को भव्य और ऐतिहासिक बनाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने 21 समान विचारधारा वाले विपक्षी दलों के अध्यक्षों को 30 जनवरी को श्रीनगर पहुंचने के न्योता भेजा है. जानकारी के मुताबिक कांग्रेस ने टीएमसी, जेडीयू, राजद, शिवसेना, टीडीपी, नेशनल कॉन्फ्रेंस को आमंत्रित किया है. साथ ही सपा, बसपा, डीएमके, भाकपा, सीपीएम, झारखंड मुक्ति मोर्चा, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी, हिंदुस्तान आवाम मोर्चा, पीडीपी, राकांपा, एमडीएमके, विदुथलाई चिरुथिगाल काची पार्टी (वीसीके), आईयूएमएल, केएसएम,आरएसपी को न्योता भेजा गया है. चर्चा है कि इस आयोजन में कुछ विदेशी राजनीतिक दलों के सदस्य भी भाग ले सकते हैं. राहुल गांधी के नेतृत्व में चल रहे इस यात्रा के समापन समारोह को भव्य बनाने के लिए देश के नामचीन हस्तियों को भी निमंत्रण भेजा गया है. इस आयोजन के माध्यम से कांग्रेसी रणनीतिकार की तरह के राजनीतिक संदेश देने के प्रयास में लगे हैं.

भाजपा ने 2024 के लिए 350 का रखा लक्ष्य
भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 2024 लोकसभा चुनाव जिताने का जो फार्मुला तय हुआ है उसके मुताबिक पार्टी 465 सीटों को चिन्हित कर इन सीटों के लिए बेहतर उम्मीदवार को मैदान में उतारेगी और इन सीटों पर आक्रामक अंदाज में लड़ाई लड़ेगी. पार्टी रणनीतिकारों ने 465 में से 350 सीट जितने का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है और इसके लिए पूरा रोड मैप भी स्वीकृत किया जा चुका है. इस अभियान के तहत पूर्व अनुभवों को आधार बनाकर और नकारात्मक रिपोर्ट कार्ड वाले लगभग 100 मौजूदा सांसदों का टिकट काटकर नए उम्मीदवारों को मैदान में उतारेगी. कहा जा रहा है कि मध्यप्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, गुजरात, राजस्थान जैसे राज्यों को केन्द्र में रखकर रणनीति बनाई गई है. ताकि इन प्रदेशों में स्थानीय राजनीति का असर केन्द्रीय राजनीति पर नहीं पड़े और लड़ाई मोदी बनाम अन्य पर केंद्रित रहे.

नव भारत न्यूज

Next Post

गोहद में चल रहीं सनातन धर्म महा समागम की तैयारियां, बनेंगे अस्थायी अस्पताल व कंट्रोल रूम

Tue Jan 24 , 2023
भिंड: गोहद में श्री रघुनाथ मंदिर विजय राम धाम खनेता पर 30 जनवरी से 6 फरवरी तक सनातन धर्म महासमागम का आयोजन होगा। इसको लेकर आज ग्वालियर चंबल कमिश्नर दीपक सिंह ने सनातन धर्म महासमागम की तैयारियों की समीक्षा बैठक और स्थल निरीक्षण किया।मंदिर प्रांगण में महाराज श्री के समक्ष […]