अन्नाद्रमुक गठबंधन से अलग हुआ पीएमके

चेन्नई, 15 सितंबर (वार्ता) तमिलनाडु में पट्टालि मक्कल काचि (पीएमके) ने घोषणा की है कि वह अन्नाद्रमुक के नेतृत्व वाले मोर्चे से बाहर निकल रही है तथा उसने तमिलनाडु के नौ नवनिर्मित जिलों में छह और नौ अक्टूबर को होने वाले स्थानीय निकाय चुनाव अपने बूते लड़ने का फैसला किया है।
पीएमके अध्यक्ष और विधायक जी के मणि ने एक बयान में कहा कि मंगलवार की देर रात इस आशय का एक ‘सर्वसम्मत’ निर्णय एक आभासी बैठक में विचार करते हुए लिया गया। उन्होंने कहा कि नौ जिलों के निकाय चुनाव लड़ने के इच्छुक उम्मीदवारों से आवेदन मांगे गए हैं।
पीएमके का अकेले चुनाव लड़ने का फैसला इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि उसके पास नौ जिलों में से सात जिलों में वन्नियार वोटों का अच्छा खासा आधार है।
श्री मणि ने कहा कि इस निर्णय का समर्थन पार्टी के संस्थापक डॉ एस रामदास और युवा इकाई के नेता एवं राज्यसभा सदस्य डॉ अन्बुमणि रामदास ने भी किया है।
अन्नाद्रमुक गठबंधन से अलग होने के साथ ही पीएमके का तीन वर्षाें का इस पार्टी के साथ तालमेल भी समाप्त हो गया है।
पीएमके ने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव और इस साल के विधानसभा चुनाव में अन्नाद्रमुक के नेतृत्व वाले गठबंधन के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था।
लोकसभा चुनाव में पीएमके ने सात सीटों पर चुनाव लड़ा था लेकिन एक भी सीट नहीं जीत पायी थी। विधानसभा चुनाव में अन्नाद्रमुक द्वारा आवंटित 23 सीटों में से पांच पर पीएमके जीत हासिल करने में कामयाब रही थी।
सं

नव भारत न्यूज

Next Post

आरएसएस की विचारधारा से कभी समझौता नहीं कर सकता : राहुल

Wed Sep 15 , 2021
नयी दिल्ली, 15 सितम्बर (वार्ता) कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ-(आरएसएस) की सोच नफरत फैलाने और समाज को बांटने वाली है इसलिए वह आरएसएस-भाजपा की विचारधारा से कभी समझौता नहीं कर सकते हैं। श्री गांधी ने महिला कांग्रेस के स्थापना दिवस पर बुधवार […]