जिले में बिजली व्यवस्था को सुधारने के लिये ट्रांसफार्मर बदलने के साथ ही किये गये अन्य कार्य

छिन्दवाड़ा।कलेक्टर श्रीमती शीतला पटले द्वारा दिये गये निर्देशों के परिपालन में विद्युत विभाग ने रबी सीजन में बिजली व्यवस्था को सुधारते हुए बड़ी मात्रा में फेल हुए ट्रांसफार्मर को शीघ्र बदलने की कार्यवाही गत 15 दिवसों में की है। छिन्दवाड़ा जिले के अंतर्गत कुल 21884 ट्रांसफार्मर स्थापित है जिसमें वर्ष 2022-23 में नवंबर 2022 तक कुल 1362 ट्रांसफार्मर फेल हुये है जो कि कुल स्थापित ट्रासफार्मर का 6.22 प्रतिशत है, जबकि गत वर्ष कुल 2093 ट्रांसफार्मर फेल हुए थे जिनका प्रतिशत 9.56 था। इस प्रकार इस वर्ष गत वर्ष की तुलना में कम ट्रांसफार्मर फेल हुये है । वित्तीय वर्ष 2022-23 में कुल 1362 फेल ट्रांसफार्मर में से अक्टूबर में 232, नवम्बर में 283 और दिसम्बर में 7 दिसंबर तक 130 ट्रांसफार्मर बदले जा चुके हैं। नवम्बर माह में व्यवस्था कमजोर होने की स्थिति में तत्काल मुख्य अभियंता (ज.क्षे.) जबलपुर द्वारा स्थिति को संज्ञान में लेते हुए जबलपुर क्षेत्रीय भंडार से लगभग 160 ट्रांसफार्मर उपलब्ध कराये गये जिससे वर्तमान में छिन्दवाड़ा जिले में ट्रांसफार्मर की स्थिति ठीक हुई है।
म.प्र.पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अधीक्षण अभियंता श्री के.एस.बिसेन ने बताया कि रबी सीजन के दौरान कुछ क्षेत्रों में लो बोल्टेज की समस्या प्राप्त होने पर बिजली विभाग द्वारा वोल्टेज बढ़ाने की भी कवायद की गई जिसमें हर्रई उपकेन्द्र में अतिभारित 5 एम.व्ही.ए.क्षमता का ट्रांसफार्मर की क्षमता वृध्दि करते हुए 8 एम.व्ही.ए.क्षमता का ट्रांसफार्मर स्थापित किया गया। इसी प्रकार बटकाखापा एवं हर्रई उपकेन्द्रों में 1200 के.व्ही.ए.क्षमता का केपेसीटर बैंक स्थापित किया गया है। साथ ही तत्काल की स्थिति में 1.5 कि.मी.की नवीन लाइन निर्माण कर 11 के.व्ही.व्ही.सी.बी.लगाकर लाईन को पृथक किया गया जिससे क्षेत्र में लो वोल्टेज की समस्या का निदान हो पाया है ।
लो वोल्टेज की समस्या एवं ट्रांसफार्मरों के अतिभारित होने पर चिन्हित जगहों में विभागीय कार्ययोजना 2022-23 के अंतर्गत छिन्दवाड़ा जिले में 336 नये अतिरिक्त ट्रांसफार्मर और 77 वितरण ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृध्दि का कार्य स्वीकृत कर कार्य किया जा रहा है जिसकी वजह से भी किसानों और विद्युत उपभोक्ताओं को लो वोल्टेज की समस्या से राहत प्राप्त होगी ।
म.प्र.पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अधीक्षण अभियंता श्री बिसेन ने बताया कि छिन्दवाड़ा जिले के अंतर्गत विद्युत व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ करने के लिये केन्द्र सरकार की महती योजना आर.आर.आर.डी.एस.एस. के अंतर्गत पूरे छिन्दवाड़ा जिले में 8 नये 33/11 केव्ही उपकेन्द्र की स्थापना विकासखण्ड छिन्दवाड़ा के ग्राम जमुनिया, जुन्नारदेव के ग्राम चोरडोंगरी, तामिया के ग्राम सांगाखेड़ा, परासिया के ग्राम दमुआमाल, अमरवाडा के ग्राम पटनिया, हर्रई के ग्राम ओझलढाना, पांढुर्णां के ग्राम मोरडोंगरी व सिराठा में किया जाना प्रस्तावित है जिसका सर्वे कार्य पूर्ण कर निविदा प्रक्रियाधीन है। इस प्रकार पुराने 33/11 केव्ही उपकेन्द्रों का उन्नयन करते हुये 11 अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर और 27 पावर ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृध्दि किया जाना प्रस्तावित है जिसका सर्वे कार्य प्रक्रियाधीन है। इस योजना के अंतर्गत अतिभारित 33 एवं 11 के.व्ही.लाईनों को सामान्य भार में परिवर्तित करने के लिये पृथक से 171 कि.मी.नवीन 33 के.व्ही.लाईन और 1065 कि.मी.नवीन 11 के.व्ही. लाइन एवं 480 कि.मी.नवीन निम्नदाब लाइन के साथ ही 2958 नवीन वितरण ट्रांसफार्मरों की स्थापना का प्रावधान है जिसका सर्वे कार्य प्रक्रियाधीन है। इस प्रकार प्रस्तावित कार्य के हो जाने से संपूर्ण छिन्दवाड़ा जिले की विद्युत व्यवस्था और अधिक सुदृढ़ होगी ।

नव भारत न्यूज

Next Post

जिले की 5 अशासकीय गौ-शालाओं को चारा भूसा क्रय और स्वर्णदाना प्रदाय के लिये 943020 रूपये की राशि प्रदाय

Fri Dec 9 , 2022
छिन्दवाड़ा। कलेक्टर श्रीमती शीतला पटले एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हरेन्द्र नारायण के मार्गनिर्देशन में मध्यप्रदेश गौ-संवर्धन बोर्ड भोपाल द्वारा प्रदायित राशि छिंदवाड़ा जिले की स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संचालित 5 अशासकीय गौ-शालाओं को चारा भूसा के लिये 707265 रूपये और गौ-शालाओं को स्वर्णदाना प्रदाय करने के लिये पशु […]