अब हर अपराधी होगा सिटीजन आई की निगरानी में

शहर की सुरक्षा के तहत पुलिस ने की एक नई योजना की शुरुआत।
इंदौर: पुलिस व्यवस्था को बेहतर बनाने एवं आम नागरिकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए तथा आगामी अंतर्राष्ट्रीय एनआरआई समिट और इन्वेस्टर्स मीट को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस आयुक्त हरिनारायणचारी मिश्र के निर्देशन में इंदौर पुलिस द्वारा सिटीजन कॉप फाउंडेशन के सहयोग से सिटीजन आई नाम से एक नई सुरक्षा तकनीकी सुविधा की शुरूआत की गई है. इसके तहत शहर में व्यक्तिगत रूप से विभिन्न जगहों पर लगाये गए कैमरों की जानकारी पुलिस कर्मियों के पास रहेगी. इस फीचर की मदद से शहर के 1 लाख कैमरे को इस योजना से जोड़ सकेंगे तो एक औसत लागत के हिसाब से करोड़ों रूपए के कैमरों की मदद पुलिस प्रशासन को मिल सकेगी. इसमें किसी के पर्सनल फीड नहीं लिए जाएंगे और किसी की निजता को भी भंग नहीं किया जाएगा. इस योजना का मकसद सिर्फ शहर व नागरिक की सुरक्षा है.

इस नई तकनीक की शुरुआत करते हुए पुलिस आयुक्त हरिनारायणचारी मिश्र ने कहा कि शहर को सुरक्षित रखने एवं अपराधों पर अंकुश लगाने हेतु इस फीचर की मदद से हम तुरंत कैमरे में कैद हुई घटनाओं को देखकर प्रभावी कार्यवाही कर सकेंगे. उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि यह फीचर सिटीजन कॉप के अंतर्गत ऐड किया गया है जिसका नाम सिटीजन आई है. ंइसमे लोगों से अपील की जा रहीं है कि वह अपने खुद के लगाए हुए कैमरा जो रोड साइड पर और शहर में अलग-अलग स्थानों पर लगे हुए हैं उसकी जानकारी उसमें दे दे. जनभागीदारी से किया गया यह प्रयास अनूठा है और हम अपेक्षा रखते हैं अगर इस तरह से लोगों को जोड़कर एक लाख कैमरे का डाटा इसमें रख पाए तो पुलिस और शहर की सुरक्षा के लिए तो शायद यह एक अनूठा प्रयास होगा.

इसमें करोड़ों रूपए के राजस्व की बचत भी हम कर सकेंगे. साथ-साथ में मेंटेनेंस भी नागरिक, जनभागीदारी से करते रहेंगे. इस सुविधा से किसी समय पर पर कोई घटना होने पर पुलिस यह देख सकेगी कि उस स्थान पर आसपास कितने प्राइवेट कैमरे लगे हुए हैं चाहे वह लोगों के व्यवसायिक स्थानों पर हो, या लोगों के निवास पर हो, या कोई चौराहे पर हो, पुलिस इन कैमरों की मदद से उस घटना के संदिग्ध के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही कर पाएगी. . इस अवसर पर पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र की विशेष उपस्थिति में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त राजेश हिंगणकर, पुलिस उपायुक्त रजत सकलेचा, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त प्रमोद सोनकर, सहायक पुलिस आयुक्त सुभाष सिंह एवं सिटीजन कॉप ऐप के संस्थापक राकेश जैन विशेष रूप से मौजूद रहे।
केवल घटना के समय लेंगे जानकारी
सिटीजनकॉप के संस्थापक राकेश जैन ने कहा कि इसे एक सुरक्षित प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है. इस सुविधा की मदद से पुलिस कर्मियों को घटना की तुरंत व सही जानकारी सही समय पर मिल सकेगी. सिटीजन कॉप एडमिन पैनल के साथ इंदौर पुलिस के लिए कैमरों की जानकारी हासिल करना आसान हो जायेगा. पुलिस केवल किसी घटना आदि के समय जरूरत पड़ने पर ही वो जानकारी लेगी, इसमें किसी के पर्सनल फीड नहीं लिए जाएंगे और किसी की निजता को भी भंग नहीं किया जाएगा.

नव भारत न्यूज

Next Post

सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में हुआ जटिल आपरेशन

Thu Dec 8 , 2022
रीवा: सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के न्यूरोसर्जरी विभाग ने अभूतपूर्व उपलब्धि अर्जित करते हुये 60 वर्षीय वृद्ध के गर्दन में स्पाइनल का आपरेशन किया. वह बढ़ते दबाव के कारण चलने में असमर्थ थे, हाथों में ताकत भी कम हो रही थी. कई बार पैर अकड़ जाने से गिर भी चुके थे. […]