जयंत-मोरवा मुख्य मार्ग 10 घण्टे से बाधित

मुड़वानी डैम के समीप मुख्य मार्ग में दो कोल वाहनों के बे्रक फेल होने से आवागमन है प्रभावित,बड़े वाहनों का आवागमन ठप,यात्री बस परेशान

सिंगरौली : जयंत-मेढ़ौली-मोरवा मार्ग तकरीबन 10 घण्टे से बाधित है। मुड़वानी डेम के पास मुख्य मार्ग में दो काल वाहनों के बे्रक डाउन होने से यह हालात उत्पन्न हुआ है। सड़क मार्ग का आवागमन बाधित होने से यात्री बसों के पहिए भी थम गये हैं।

दरअसल जानकारी के मुताबिक जयंत-मेढ़ौली-मोरवा मुख्य मार्ग के मुड़वानी डैम के चढ़ाई पर एक के बाद एक सहित कुल दो कोल वाहनों के तकरीबन अपरान्ह 3 बजे बे्रक डाउन हो गया। जिसके चलते दोनों ट्रक सड़क के बीचो-बीच खड़े हो गये। जयंत-मोरवा मुख्य मार्ग में दो ट्रकों के लगातार सड़क के बीचो बीच खड़े हो जाने के कारण पहले छोटे वाहन कार जीपों का भी आवागमन पूरी तरह से ठप था। जयंत पुलिस के पहुंचने के करीब 2 घण्टे बाद किसी तरह कार-जीपों का आना जाना शुरू हो गया। लेकिन हैवी वाहन ट्रक, हाईवा, टे्रलर, बस, टै्रक्टर इन सबका आवाजाही पूरी तरह से ठप है। बताया जा रहा है कि रात करीब 9 बजे के अधिक समय तक पुलिस आवागमन को बहाल कराने में मशक्कत करती रही।

किन्तु उक्त दोनों वाहनों में ओव्हरलोड कोयला होने के कारण सड़क मार्ग के किनारे भी नहीं हो पाये। लिहाजा आवागमन को बहाल कराने के लिए पुलिस के भी पसीने छूटने लगे। हालांकि इस दौरान पुलिस इतना जरूर कर रही थी कि छोटे वाहनों के आवाजाही के लिए रास्ता बना दिया था। कड़ी मशक्कत के बाद कार-जीपों वाहनों का आवागमन किसी तरह चलता रहा। फिलहाल जयंत के मेढ़ौली मार्ग में आये दिन लग रहे जाम से राहगीरों एवं यात्रियों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। इसका मुख्य कारण ओव्हरलोड कोल वाहनों के चलने से है। जिन पर किसी भी जिम्मेदार अधिकारियों की नजर नहीं पड़ रही है। समाचार लिखे जाने तक उक्त मार्ग से बड़े वाहनों की आवाजाही अवरूद्ध रहा।

यात्री व शिफ्ट बसों के भी थमे रहे पहिए
बैढऩ से मोरवा की ओर जाने वाली यात्री व शिफ्ट बसों के भी पहिए थम गये। बैढऩ व मोरवा से आने जाने वाली दर्जनभर बसें बीच रास्ते में खड़ी रहीं। जहां यात्रियों को भी काफी परेशानी उठानी पड़ी है। परेशान यात्रियों ने लचर सरकारी व्यवस्था व ओव्हरलोड कोल वाहनों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई न किये जाने पर सवाल उठाये। तो वहीं ओबी कंपनियों में बसों से ड्यूटी जाने वाले कर्मी भी काफी परेशान रहे। मजबूर होकर ओबी कंपनी के कर्मी पैदल गन्तव्य की ओर रवाना हुए।

मेढ़ौली मार्ग में जाम से कब मिलेगी मुक्ति
कोल वाहन सबके लिए सिरदर्द बन गये हैं। आलम यह है कि ओव्हरलोड कोल वाहनों के चलते अधिकांश मेढ़ौली डैम व जयंत खदान के पहले चढ़ाई पर ही ब्रेक डाउन होता है। जिसके चलते आये दिन उक्त मार्ग में जाम लगना स्वाभाविक माना जाने लगा है। बताया जा रहा है कि ओव्हरलोड कोल वाहनों के विरूद्ध पुलिस के साथ-साथ जिला परिवहन विभाग कार्रवाई करने से कतराता है। इसके पीछे कारण क्या है यह बात किसी से छुपी नहीं है। कोल ट्रासपोर्ट वाहन के मालिकों व पुलिस तथा परिवहन विभाग से कितना गहरा नाता है यह जगजाहीर है। संभवत: उक्त अमला इन पर दरियादिली दिखा है और इसी का फायदा कोल वाहन उठा रहे हैं। सवाल उठ रहा है कि मेढ़ौली मार्ग के जाम से कब मुक्ति मिलेगी।

नव भारत न्यूज

Next Post

वैश्विक मंच पर मजबूत पहचान बना रही है हिंदी: मोदी

Tue Sep 14 , 2021
नयी दिल्ली 14 सितंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंदी दिवस पर देशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि वैश्विक मंच पर हिंदी लगातार मजबूत पहचान बना रही है। प्रधानमंत्री ने मंगलवार को एक ट्वीट संदेश में कहा, “आप सभी को हिन्दी दिवस की ढेरों बधाई। हिन्दी को एक […]