शहपुरा स्वास्थ केंद्र में मरीज नहीं, आवारा कुत्ते करते हैं आराम

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल, बीएमओ को नोटिस, जांच समित गठित

जबलपुर: कहने को तो सरकार मरीजों को अच्छे से अच्छी सुविधाएँ मुहैया करने के लिए करोड़ों रूपए खर्च कर रही है, शासकीय अस्पतालों को भी बेहतर सेवाएँ देने तमाम प्रयास किए जा रहे है परंतु जमीनी हकीकत कुछ और ही है। ताजा मामला शहपुरा स्वास्थ केंद्र का प्रकाश मेें आया है जहां मरीजों के इस्तेमाल में आने वाले बेड पर आवारा कुत्ता आराम करते हैं। जिसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर अब तेजी से वायरल हो गया है। जिससे स्वास्थ्य विभाग में हडक़ंप मच गया। सीएमएचओ डॉ. संजय मिश्रा ने एक्शन लेते हुए बीएमओ को नोटिस जारी करते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। इसके साथ मामले की जांच के लिए दो सदस्यों की जांच समिति गठित कर दी है जिन्हें जांच करके तीन दिन के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दे दिए गए है।
क्या है मामला
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शहपुरा निवासी एक गर्भवती महिला को बीती रात जब प्रसव पीड़ा हुई तो उसका पति उसेे इलाज के लिए शहपुरा स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचा जहां इलाज करने के नाम पर सिर्फ एक नर्स मिली। मरीजों के लिए बनाए गए पलंग पर आवारा श्वान आराम फरमा रहे थे। जिनकी उसने मोबाइल से पहले तो तस्वीर ले ली और फिर शिकायत सीएम हेल्पलाइन में कर दी। इसके साथ ही वीडियो भी वायरल कर दिया। शहपुरा स्वास्थ केंद्र में बड़ी लापारवाही सामने के बाद हडक़ंप मच गया है। अस्पताल में मरीजों के इस्तेमाल में आने वाले बेड पर आवारा कुत्ता आराम करना अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था के साथ साथ संक्रमण फैलने का अंदेशा भी काफी अधिक है, जिसे लेकर अस्पताल प्रबंधन की सहजता का अंदाजा लगाया जा सकता है।
नर्स के भरोसे चल रहा स्वस्थ्य केन्द्र
गर्भवती महिला के पति ने स्वास्थ केंद्र में चिकित्सकों के साथ साथ सुरक्षा कर्मियों के भी समय पर मौजूद न होने का आरोप लगाया है। सूत्रों के मुताबिक शहपुरा का स्वास्थ्य केंद्र सिर्फ एक नर्स के भरोसे चल रहा है। चिकित्सक कब आते है और कब चले जाते है इसका किसी को कुछ पता नहीं होता है वहीं यहां स्टाफ और संसाधन की कमी है।
गंदगी का भी आलम
अस्पताल में साफ-सफाई व्यवस्था भी नदारत रहती है जिसके चलते यहां गंदगी आलम रहता है। साफ-सफाई न होने से अस्पताल दुर्गंध मारता है। जिसके चलते मरीजों से लेकर परिजनों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
इनका कहना है
बीएमओ को नोटिस जारी कर दिया गया है। दो सदस्यों की जांच समिति गठित कर दी गई। जिन्हें जांच करके तीन दिन के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दे दिए गए है। जिसके बाद जो तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई होगी।
डॉ. संजय मिश्रा, सीएमएचओ

नव भारत न्यूज

Next Post

तेज रफ्तार ट्रक ने कार को मारी ठोकर, कार के अन्दर जिंदा जले दो युवक 

Tue Dec 6 , 2022
दोनो वाहनों में लगी आग, सुबह मौके पर पहुंची कलेक्टर-एसपी  रीवा:रीवा में भीषण सडक़ हादसे में कार एवं ट्रक में आग लग गई. कार के अन्दर बैठे दो लोग जिंदा जल गये. तडक़े जानकारी मिलते ही कलेक्टर एवं एसपी मौके पर पहुंचे. दिलदहला देने वाला यह हादसा शहर के चोरहटा […]