राजधानी में डेंगू कंट्रोल करने शुरू हुई फॉगिंग


कलेक्टर की फटकार के बाद जागा नगर निगम, 25 घरों में चालानी कार्रवाई
नवभारत न्यूज
भोपाल, 10 सितंबर. राजधानी भोपाल में डेंगू और चिकनगुनिया के मरीजों की संख्या 183 पहुंच गई है. यहां हर दिन 15 से ज्यादा डेंगू के मरीज मिल रहे हैं. मरीजों की बढऩे की बड़ी वजह इस वर्ष नगर निगम के अधिकारियों की लापरवाही मानी जा रही. दरअसल निगम इस वर्ष शहर में ना तो फॉगिंग कर रहा था ना ही लार्वा मिलने पर कोई कार्रवाई. मरीज बढ़े तो भोपाल कलेक्टर ने निगम अधिकारियों को फटकार लगाई जिसके बाद गुरुवार को अलग-अलग वार्डों में करीब 25 घरों पर 500-500 रुपये का जुर्मा किया है.
95 फीसदी मरीज सात दिन में ठीक हो जाते हैं.
विशेषज्ञों का कहना हैं रुक-रुककर हो रही बारिश की वजह से मच्छर बढ़ेे हैं मच्?छर बढऩे के साथ मच्?छरजनित बीमारियों का खतरा भी बढ़ा है. यही वजह है कि प्रदेश भर में रोज औसतन 100 मरीज मिल रहे हैं. जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. अखिलेश दुबे ने बताया कि जो समझाइस के बाद भी नहीं मान रहे हैं, उन पर चालानी कार्रवाई शुरू कर दी गई है. साथ ही शहर के कई क्षेत्रों फॉगिंग की जा रही है. डॉ. दुबे का कहना है हम सावधानी रखकर इस बीमारी से बच सक ते हैं. डेंगू के वायरस से संक्रमित होने के बाद भी 95 फ ीसद मरीजों में बीमारी साधारण बुखार के बाद पांच से सात दिन में ठीक हो जाती है.
डेंगू का संक्रमण चक्र
.अंडा से लार्वा बनने में 3 दिन
. लार्वा से प्यूपा बनने में 5 से 7 दिन
.प्यूपा से मच्छर सातवें दिन
. मच्छर की जिंदगी. 28 से 35 दिन
़ें. संक्रमित व्यक्ति को काटने के बाद मच्छर पांच दिन तक पूरी तरह से संक्रमित होता है.
.मच्छर के काटने के बाद मरीज को 5 दिन से दिन में लक्षण आते हैं.
लक्षण आने पर वायरस पूरी तरह खत्म होने में 7 से 9 दिन का समय लग जाता है
डेंगू को ऐसे पहचानें
.ठंड के साथ तेज बुखार.
.सिर, मांसपेशियों और जोड़ों में तेज दर्द.
.आंख के पीछे सिर में तेज दर्द.
.शरीर में लाल रंग के दाने उभरना.
बचाव के लिए यह करें
. डेंगू का मच्छर दिन में काटता हैए इसलिए फुल बांह के कपड़े पहनें.
. मच्छरदानी, मच्?छरजालियां लगाएं.
.खून पतला करने की दवाएं न लें.
. संक्रमित होने पर तीन से चार लीटर तरल चीजें पीएं.
. नाक या मसूड़े से खून आए या खून की उल्टी हो तो फ ौरन डॉक्टर को दिखाएं.

नव भारत न्यूज

Next Post

कलियासोत-केरवा पर बाघ मूमेंट ..

Sat Sep 11 , 2021
भोपाल- शहरी सीमा में बाघ ने किया मवेशी शिकार.. कलियासोत-केरवा के बीच पर बाघ ने किया शिकार.. बीते पांच दिनों से 3 बाघों का लगातार हो रहा मूमेंट .. राजधानी शहरी सीमा में 18 बाघ हैं पनाहगार.. वीडियो में बाघ शिकार को ले जाते हुए कैद.. सूचना के बाद भी […]