मल्लिकार्जुन खड़गे से कांग्रेस के युवाओं को बहुत उम्मीद

सियासत

मल्लिकार्जुन खड़गे के कांग्रेस अध्यक्ष पद पर निर्वाचित होने से कांग्रेस के युवा नेताओं में विशेष रुप से उत्साह है। इसका कारण यह है कि मल्लिकार्जुन खड़गे ने अपने चुनाव के दौरान बार-बार कहा कि वे उदयपुर अधिवेशन के उस प्रस्ताव को लागू करेंगे जिसमें यह तय किया गया था कि 50 फ़ीसदी संगठन के पद युवाओं को दिए जाएंगे। जाहिर है इससे युवा नेताओं को लाभ मिलेगा और पार्टी में नई ऊर्जा का संचार होगा। मल्लिकार्जुन खड़गे यदि इस फार्मूले पर अमल कर पाए तो मालवा निमाड़ के भी कई युवा नेताओं को फायदा मिल सकता है। जहां तक मालवा निमाड़ के नेताओं का सवाल है तो मल्लिकार्जुन खड़गे से कोई भी सीधे जुड़ा हुआ नहीं है लेकिन कांतिलाल भूरिया 2014 की लोकसभा में मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ रहे हैं।

भूरिया , खड़गे के साथ में केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं। वैसे हाल के दिनों में जीतू पटवारी ने उनसे सबसे अधिक बार संपर्क किया है। मल्लिकार्जुन खड़गे के प्रस्तावक दिग्विजय सिंह थे जो आजकल जीतू पटवारी को फिर से महत्त्व देने लगे हैं। जीतू पटवारी भी आजकल राजा के साथ अधिक नजर आते हैं। इसके अलावा जीतू पटवारी के राहुल गांधी से भी अच्छे संबंध हैं। कांग्रेस में सब जानते हैं कि राष्ट्रीय अध्यक्ष भले ही मल्लिकार्जुन खड़गे हैं लेकिन असली सत्ता राहुल गांधी की ही चलेगी। इसलिए जीतू पटवारी सबसे अधिक लाभ में रहेंगे इसमें कोई शक नहीं। मल्लिकार्जुन खड़गे के अध्यक्ष बनने से कमलनाथ के समर्थकों को भी कोई नुकसान नहीं है इसलिए वे उत्साहित हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे के कमलनाथ से बहुत अच्छे संबंध हैं। कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव में कमलनाथ ने खुलकर मल्लिकार्जुन खड़गे का पक्ष लिया था। मल्लिकार्जुन खड़गे और कमलनाथ ने पार्टी में महासचिव के रूप में और लोकसभा सदस्य के रूप में साथ में काम किया है। दोनों साथ में केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं। इसलिए प्रदेश कांग्रेस में कमलनाथ की सत्ता को कोई चुनौती नहीं है। इस कारण से कमलनाथ के सभी समर्थक सज्जन वर्मा,बाला बच्चन, हुकुम कराड़ा, बटुक शंकर जोशी,डॉक्टर विजय लक्ष्मी साधो,रवि जोशी , विशाल पटेल,संजय शुक्ला अपने भविष्य के प्रति और टिकट के प्रति निश्चिंत हैं‌।

नव भारत न्यूज

Next Post

गांधी सागर योजना पर खड़े हुए सवाल

Fri Oct 21 , 2022
ग्रामीण क्षेत्रों में महज चालिस प्रतिशत करते हैं जलकर जमा मंदसौर: मप्र शासन ने गर्मी में संकट खत्म करने के लिए 1049 करोड़ में गांधीसागर समूह नल-जल योजना को स्वीकृति देते हुए जल निगम के माध्यम से काम शुरू कराया है। योजना पूरी होने के बाद रोज प्रति व्यक्ति 55 […]