गरीबों पर सितम,अमीरों पर रहम,ननि की कार्रवाई पर सवाल

जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर बिलौंजी, बैढऩ के सामने चाय,पान, फल-फूल दुकान खोलकर पाल रहे थे पेट,कईयों का रोजगार ननि ने छीना

सिंगरौली :नगर निगम सिंगरौली शहरवासियों को रोजगार तो नहीं दे पा रही है लेकिन उनकी कार्रवाई से कई गरीब बेरोजगार जरूर हो जा रहे हैं। किसी तरह चाय, पान, फल की दुकान खोलकर अपना एवं परिजनों का भरण-पोषण कर रहे थे। किन्तु आज ननि की अतिक्रमण विरोधी एवं स्वच्छ भारत अभियान के तहत की गयी कार्रवाई चर्चा का विषय बन गयी है।गौरतलब हो कि इन दिनों जन सेवा पखवाड़ा के तहत आज बुधवार को स्वच्छता अभियान की शुरूआत कलेक्टर के निर्देश पर नगरीय क्षेत्र में भी की गयी। इस दौरान नगर निगम के कार्यपालन यंत्री व्हीपी उपाध्याय के अगुवाई में जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर के सामने एनसीएल की भूमि में करीब दो साल से झोपड़ी में चाय, पान, बिस्किट-नमकीन, फल,फूल की बिक्री कर करीब दर्जन भर से अधिक गरीब अपना पेट पाल रहे थे कि नगर निगम के अधिकारियों ने गंदगी फैलाने का आरोप लगाकर झोपडिय़ों को उजड़वा दिया।

हालांकि सभी झोपड़ी व ठेले अतिक्रमण में हैं, किन्तु आम जनों का कहना है कि इन झोपडिय़ों से ननि का कोई नुकसान नहीं हो रहा था। हालांकि जमीन भी एनसीएल की है। फिर अपनी वाहवाही लूटने व स्वयं की पीठ थपथपाने के लिए इन गरीबों के झोपडिय़ों को उजाड़कर रोजगार छिन लिया है। यहां के लोग बताते हैं कि कई ऐसे गरीब थे जो रात-दिन यहीं पर चाय, पान, बिस्किट, नमकीन, फ्रूट बेचने का कार्य कर रहे थे। आरोप लगाया जा रहा है कि नगर निगम इन गरीबों पर तनिक भी दया नहीं आयी और एक झटके में ही झोपड़ी उजाडऩे का फरमान सुना दिया। कानूनी कार्रवाई के डर से गरीब भी अपनी झोपडिय़ों को उजाड़कर सामग्रियों को समेट उदास मन से घर की ओर रवाना हो गये। इस दौरान फुटपाथी गरीब व्यवसायी नगर निगम के साथ-साथ जिला प्रशासन एवं भाजपा सरकार को कोसने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे थे और कईयों ने कहा कि रोजगार तो दे नहीं सकते। किसी तरह धूप, गर्मी, ठण्ड, भरी बरसात में परिवारजनों का इसी दुकान के सहारे उदर पोषण कर रहे थे, किन्तु आज ननि ने छिन लिया है। आने वाले चुनाव में भाजपा को भी सबक सिखायेंगे। हालांकि ननि के कार्यपालन यंत्री ने इस दौरान कहा कि इन दुकानदारों के द्वारा गंदगी फैलायी जा रही थी स्वच्छता अभियान के तहत कार्रवाई की गयी है।

चाय, फू्रट के लिए लगाना पड़ेगा एक किमी का चक्कर
एनसीएल ग्राउण्ड बिलौंजी में आस-पास कोई किराना, जनरल स्टोर, फू्रट, चाय, पान की दुकानें नहीं हैं और न ही जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर मेंं कैंटिन है। अस्पताल के सामने झोपड़ी लगाकर फुटपाथी कारोबारी मरीजों के लिए सहारा भी थे। यदि चाय, फू्रट की जरूरत पड़ी तो मरीजों के परिजन यहीं से खरीदते थे। किन्तु आज ननि के अधिकारियों को यह नागवार लगा और स्वच्छता अभियान के तहत झोपडिय़ों को उजाड़कर वाहवाही लेने का खूब प्रयास कर रहे हैं। यहां दुकानें न होने से मरीजों के परिजनों को करीब एक किलोमीटर दूर चलने के बाद ही फ्रूट, चाय मिल पायेगा।
शहर के मोहल्लों की बजबजा रहीं नालियां,कहां है स्वच्छता अभियान
जिला मुख्यालय बैढऩ के समीपस्थ वार्ड क्र.38, 39, 40,41,42, 43 सहित अन्य कई वार्ड हैं जहां के मोहल्लों में वर्षों से नालियों की सफाई नहीं हुई है। नालियां गायब हैं, जिला मुख्यालय के इर्द-गिर्द मोहल्लों की नालियां गंदगी से सड़ांध मार रही हैं। यहां स्वच्छता अभियान कब चलेगा यही सवाल ननि के स्वच्छता अभियान व नोडल से सवाल किये जा रहे हैं। अब लोगबाग इस बात को लेकर जोर-शोर से मुखर होने लगे हैं कि क्या गरीबों के दुकानों की झोपडिय़ों को उजाड़कर ननि की कार्रवाई क्या सही है? या फिर अधिकारियों को खुश करने के लिए तरीका है। ननि के इस कार्रवाई की चहुंओर भत्र्सना की जा रही है।

नव भारत न्यूज

Next Post

नकली पुलिस अधिकारी बनकर करता था ठगी

Thu Sep 22 , 2022
क्राइम ब्रांच ने आरोपी को किया गिरफ्तार इंदौर:नकली पुलिस अधिकारी बताकर ठगी करने वाला आरोपी असली क्राईम ब्रांच की कार्यवाही में पकड़ा गया. शातिर आरोपी ने स्वयं को नेशनल एंटी करप्शन एण्ड ऑपरेशन कमेटी ऑफ इंडिया का सदस्य बताते हुए सस्ते लोन दिलाने के नाम पर फरयादी से 1 लाख […]