देश के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला मध्यप्रदेश का पोषण आहार घोटाला: राहुल

महंगाई भ्रष्टाचार बेरोजगारी और स्थानीय समस्याओं को लेकर रामपुर नैकिन तहसील कार्यालय का हुआ घेराव, सौंपा ज्ञापन

सीधी : महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार एवं स्थानीय जन समस्याओं को लेकर पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल के नेतृत्व, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ज्ञान सिंह, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष डॉ.महेंद्र तिवारी एवं जिले के वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में रामपुर तहसील का घेराव कर जनसमस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु राज्यपाल के नाम का ज्ञापन अनुविभागीय अधिकारी के माध्यम से सौंपा गया।घेराव कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने प्रदेश की भाजपा सरकार और उसके मुखिया शिवराज सिंह पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि देश के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला मध्यप्रदेश का पोषण आहार घोटाला है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह नौनिहालो के मुंह का निवाला और भांजे भांजियो की थाली का भोजन खा गए।

प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लेते हुए पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है निचले तबके के अधिकारियों से लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री तक भ्रष्टाचार में लिप्त है। आज मध्यप्रदेश भ्रष्टाचार और घोटाले में नं. 1 एक है, प्रदेश के सड़कों की हालत बद से बदतर है, सीधी से सिंगरौली मार्ग पिछले 15 वर्षों से निर्माणाधीन है जिसका 5 बार भूमिपूजन भाजपा नेताओं द्वारा किया जा चुका है। वही मार्ग पिछले 15 दिनो से अवरुद्ध है और प्रदेश के मुखिया सिंगरौली को सिंगापुर बनाने की बात करते हैं। किसान बिजली के लिए, खाद के लिए, पानी के लिए परेशान हैं और यह सरकार अपने को किसानों की हितैषी कहती है।

15 महीनों के कांग्रेस की सरकार में जो बिजली का बिल 100 रूपए मात्र 100 यूनिट पर आता था आज वही बिल 500 से लेकर 10000 रूपए आ रहा है। ट्रांसफार्मर जले हुए हैं, गांव में पहुंच मार्गो की स्थिति दयनीय है, प्रदेश का युवा रोजगार के लिए भटक रहा है और प्रदेश सरकार ने पिछले 5 वर्षों से भर्ती नहीं निकाली है। महंगाई ने आम लोगों का जीवन यापन करना मुश्किल कर दिया है लेकिन लेकिन सांसद विधायक मंत्री और मुख्यमंत्री सोशल मीडिया पर फोटो सेशन के माध्यम से प्रदेश का विकास कर रहे हैं। स्थानीय समस्याओं पर बोलते हुए पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने कहा कि चुरहट विधानसभा क्षेत्र में व्यापक भ्रष्टाचार व्याप्त है लोगों को मूलभूत सुविधाओं राशन, पानी, बिजली जैसी सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। श्री सिंह ने आगे कहा कि दाऊ साहब के बाद मुझे यहां की जनता ने सेवा करने का अवसर प्रदान किया।

पिछले चुनाव में चुरहट क्षेत्र की जनता के आश्वासन पर मैं प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने घूमता रहा लेकिन प्रदेश में सरकार तो कांग्रेस की बनी लेकिन चुरहट में क्या हुआ आप सब जानते हैं। आज चुरहट का हर व्यक्ति परेशान पीडि़त और प्रताडि़त है। दाऊ साहब हमेशा कहा करते थे कि योजनाएं ऐसी बननी चाहिए जिसका लाभ समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति को मिले लेकिन वर्तमान में प्रदेश की सत्ता पर काबिज सरकार खरीद-फरोख्त से बनी सरकार है, उसे जनता की सेवा और उनकी भावनाओं से कोई लेना-देना नहीं है। कार्यक्रम को जनपद अध्यक्ष रामपुर उर्मिला साकेत, पूर्व जनपद अध्यक्ष केडी सिंह, भारत जोड़ो यात्रा के समन्वयक राजेन्द्र सिंह भदौरिया, युवा नेता ज्ञानेंद्र अग्निहोत्री, जनपद उपाध्यक्ष ऋषिराज मिश्रा, गोमती पांडे, श्रीमती नीलम सिंह, गणेश साकेत, ब्लॉक अध्यक्ष डॉ.महेंद्र तिवारी, प्रदेश महिला कांग्रेस की महासचिव श्रीमती रंजना मिश्रा, मिठाई लाल कोल, राजेंद्र यादव भितरी, इंटक अध्यक्ष विष्णु बहादुर सिंह ने संबोधित किया।

राज्यपाल के नाम से दिए ज्ञापन में प्रमुख रूप से पोषण आहार घोटाले की सीबीआई जांच कराना, प्रधानमंत्री आवास में व्याप्त भ्रष्टाचार की जांच एवं पात्रों के नाम जोड़े जाने, अघोषित बिजली कटौती बंद कर सिंचाई के लिए कम से कम 12 घंटे बिजली प्रदाय करने, जले ट्रांसफार्मर बदले जाने, खंभे केबिल की व्यवस्था दुरुस्त करने, बेरोजगारों को रोजगार दिलाने, रीवा-सीधी-सिंगरौली रेललाइन का मुआवजा और रोजगार प्रदान किए जाने, रीवा अमरकंटक बघवार चुरहट मोहनिया सर्रा मार्ग का तुरंत निर्माण एवं मरम्मतीकरण कराए जाने, विधवा विकलांग निराश्रित एवं बीपीएल सूची में सर्वे कर नाम जोड़े जाने बाबत, भूमिहीनों को आवास एवं पट्टा दिलाए जाने, नलजल योजना के कार्य पूर्ण कर पेयजल उपलब्ध कराने, युवाओं का भविष्य चौपट कर रहे नशे के कारोबारियों पर लगाम लगाकर नशे के कारोबार पर तुरंत रोक लगाने, पुलिस विभाग द्वारा दोषियों पर कार्यवाही ना कर फरियादियों को परेशान करने एवं जिले में बेलगाम कानून व्यवस्था सुधारे जाने सहित विभिन्न मांगों एवं स्थानीय समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा कर निराकरण की मांग की गई।

अनुविभागीय अधिकारी रामपुर नैकिन द्वारा स्थानीय समस्याओं के जल्द से जल्द निराकरण का आश्वासन दिया गया। कांग्रेस द्वारा आयोजित रामपुर तहसील घेराव कार्यक्रम में जिले में निवासरत समस्त प्रदेश पदाधिकारी, पूर्व अध्यक्ष, वरिष्ठ नेतागण, जिला कांग्रेस पदाधिकारी, समस्त निकायों के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, पूर्व अध्यक्ष, पूर्व उपाध्यक्ष, समस्त पार्षद, जिला पंचायत उपाध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, पूर्व अध्यक्ष, पूर्व उपाध्यक्ष, जनपद सदस्य, कांग्रेस समर्थित समस्त सरपंच, पंच, ब्लॉक, मंडलम, सेक्टर के अध्यक्ष एवं पदाधिकारी, युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस, एनएसयूआई, सेवादल सहित सभी सहयोगी संगठन एवं प्रकोष्ठ के अध्यक्षों एवं पदाधिकारियों सहित भारी तादाद में चुरहट विधानसभा क्षेत्र की जनता जनार्दन उपस्थित रही।

जिले में व्यापक भ्रष्टाचार व्याप्त: ज्ञान
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ज्ञान सिंह ने कहा की जिले में व्यापक भ्रष्टाचार व्याप्त है। किसी भी कार्यालय में बिना पैसे की कोई सुनवाई नहीं होती है। छोटी-छोटी समस्याओं के लिए आमजन दर-दर भटकते हैं। बीपीएल सूची में नाम जोडऩे, आवास योजना का लाभ दिलाने, जमीनों के नामांतरण के लिए पैसे की मांग की जाती है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष आगे कहा कि आज जिले के सैकड़ों गांवों में ट्रांसफार्मर जले हुए विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने अपने हांथ खड़े कर दिए हैं। खंभे गिरे हैं, केबिल टूटी है, बार-बार शिकायतों के बाद भी सुनवाई नहीं हो रही, पिछले 3 वर्षों से सामूहिक विवाह का आयोजन नहीं किया गया। गरीबों ने इस दौरान अपने घरों में अपनी कन्याओं का विवाह किया जिन्हें 51 हजार की विवाह सहायता राशि आज तक प्रदान नहीं की गई, वृद्धा विकलांग निराश्रित पेंशन की सूची एवं बीपीएल में नाम नहीं जोड़े जा रहे हैं, स्थानीय जनप्रतिनिधि और भाजपा के नेता वसूली में व्यस्त हैं अधिकारी कर्मचारी बेलगाम हो चुके हैं। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने आम जनमानस से अपील करते हुए कहा कि इस भ्रष्ट निकम्मी और निरंकुश भाजपा सरकार को आने वाले 2023 के चुनावों में प्रदेश की सत्ता से उखाड़ फेंकने का संकल्प लेकर यहां से जाए और गांव-गांव जाकर जन-जन को भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों से अवगत कराएं।

बेजा वसूली में व्यस्त जनप्रतिनिधि: लालचंद
प्रदेश उपाध्यक्ष लालचंद गुप्ता ने स्थानीय विधायक सहित स्थानीय भाजपा नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा कि यहां के जनप्रतिनिधि और नेता वसूली में व्यस्त हैं और स्थानीय नेताओं के संरक्षण में नशे के कारोबारी युवाओं का भविष्य चौपट कर रहे हैं, लोगों के काम नहीं हो रहे हैं, अधिकारी-कर्मचारी बेलगाम हो गए हैं, लेकिन उन्हें समझ लेना चाहिए कि सत्ता आती और जाती रहती है। आने वाले 2023 के चुनाव में कांग्रेस पुन: सत्ता में आपसी करेगी तब ऐसे भ्रष्ट और निरंकुश प्रशासनिक अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा। श्री गुप्ता ने आगे कहा कि चुरहट विधानसभा क्षेत्र के जनता की सेवा राहुल भैया ने सदैव की है, एक बार गलती हुई है हमें उसमें सुधार करते हुए पुन: अपने सेवक को चुनना है। जनता की सेवा कांग्रेस की हमेशा प्राथमिकता रही है।

इनकी रही विशेष उपस्थिति
कार्यक्रम में सीधी जिले के सह प्रभारी हरिलाल कोल, पूर्व अध्यक्ष चिंतामणि तिवारी, वरिष्ठ नेता भारत सिंह, किसान कांग्रेस अध्यक्ष जगदीश मिश्रा, युवा कांग्रेस अध्यक्ष देवेंद्र सिंह दादू, जनपद अध्यक्ष कुसमी श्यामवती सिंह, नगर पंचायत अध्यक्ष चुरहट मोनिका गुप्ता, नगर पालिका अध्यक्ष सीधी काजल वर्मा, नगरपालिका उपाध्यक्ष दानबहादुर सिंह, आकाशराज पाण्डेय, नवीन सिंह, बूथ प्रकोष्ठ अध्यक्ष संदीप उपाध्याय, आईटी सेल अध्यक्ष पंकज सिंह, एड.रोहित मिश्रा, जिपं सदस्य राहुल पटेल, इंद्रा विश्वकर्मा, प्रकाश सिंह, विस अध्यक्ष चुरहट विजय सिंह, केडी सिंह, कमलेंद्र सिंह डब्बू उपस्थित रहे।

राहुल के हांथों सैकड़ों लोगों ने ली सदस्यता
सदस्यता लेने वालों में सुरेश साकेत सरपंच मड़वा, भयंकर सिंह मड़वा, विश्वनाथ साकेत पूर्व सरपंच बडख़रा, जमुना साकेत बडख़रा, सुदामा साकेत बडख़रा, निखिल शुक्ला, तितिरा, पोड़ी सरपंच सुनीता रामदास साकेत, मोतीलाल साकेत, नर्मदा गुप्ता, हीरामणि साकेत, गंगा साकेत, दरबारी साकेत, राजभान जायसवाल, मोतीलाल प्रजापति, जगदीश साकेत की अगुवाई में 500 से अधिक लोगों ने राहुल भैया के हांथो कांग्रेस की सदस्यता ली।

नव भारत न्यूज

Next Post

मेला में भीड़ नियंत्रित करने की हो चाकचौबंद व्यवस्था

Thu Sep 22 , 2022
नवरात्रि मेले की तैयारियों का कलेक्टर और एसपी ने किया निरीक्षण सतना :जिले के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल मैहर के मां शारदा देवी मंदिर में प्रतिवर्ष होने वाला शारदेय नवरात्रि मेले का आयोजन इस वर्ष 26 सितंबर से शुरु होगा। मैहर के नवरात्रि मेले में दर्शनार्थियों की सुविधाओं और कानून व्यवस्था […]