दूसरी तिमाही में आर्थिक विकास दर सात से आठ तक प्रतिशत रहने का अनुमान

नयी दिल्ली 06 सितंबर (वार्ता) निजी क्षेत्र की खपत और निवेश दोनों बढ़ने से चालू वित्त वर्ष दूसरी तिमाही में देश का वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) सात से आठ प्रतिशत रहने का अनुमान है।
वित्तीय क्षेत्र की कंपनी मोतीलाल ओसवाल सर्विसेज लिमिटेड (एमओएफएसएल) की सोमवार को जारी ईकोस्कोप रिपोर्ट के मुताबिक इस वर्ष में जुलाई में निजी खपत तीन महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई। साथ ही निजी निवेश में भी तेजी आई है। इसकी बदौलत जुलाई में जीडीपी के 5.6 प्रतिशत पर रहने का अनुमान है। वहीं इस अवधि में सकल मूल्य वर्द्धन (जीवीए) 7.7 प्रतिशत रह सकता है। इसके आधार पर वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में वास्तविक जीडीपी सात से आठ प्रतिशत तक रह सकता है।

नव भारत न्यूज

Next Post

तेज गति के साथ ज्यादा सुरक्षित और टिकाऊ बन रही हैं सड़कें : गडकरी

Mon Sep 6 , 2021
नयी दिल्ली, 06 सितम्बर (वार्ता) सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि देश में सड़कों का निर्माण पहले की तुलना में कहीं अधिक तेज गति एवं आधुनिक तकनीक के साथ हो रहा है और सड़के ज्यादा सुरक्षित तथा टिकाऊ बन रही है। श्री गडकरी ने अपने […]