तेजी जारी, सेंसेक्स हुआ 60 हजारी

मुंबई 12 सितंंबर(वार्ता) वैश्विक स्तर से मिले सकारात्मक संकेतों के साथ ही घरेलू स्तर पर आईटी, टेक, रियलटी, यूटिलिटीज और बेसिक मटेरियल्स में हुयी लिवाली के बल पर शेयर बाजार में आज लगातार तीसरे दिन तेजी बनी रही और इस दौरान लिवाली के बल पर सेंसेक्स 60 हजार के पार पहुंचने में सफल रहा।
बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 321.99 अंकों की बढ़त के साथ 60115.13 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 103 अंकों की तेजी लेकर 17936.35 अंक पर रहा। बीएसई में मिडकैप और स्मॉलकैप में भी तेजी रही जिससे मिडकैप 0.89 प्रतिशत बढ़कर 26167.43 अंक पर और स्मॉलकैप 1 प्रतिशत चढ़कर 29528.74 अंक पर रहा।बीएसई में सभी समूहों में तेजी रही जिसमें आईटी में 1.30 प्रतिशत, टेक 1.16 प्रतिशत, रियलटी 2.23 प्रतिशत, सीडी 1.40 प्रतिशत और यूटिलिटीज 1.70 प्रतिशत शामिल है। बीएसई में कुल 3759 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 2165 बढ़त में और 1428 गिरावट में रही जबकि 166 में कोई बदलाव नहीं हुआ।
वैश्विक स्तर पर चौतरफा तेजी रही जिसमें ब्रिटेन का एफटीएसई 1.32 प्रतिशत, जापान का निक्केई 1.16 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 2.69 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.82 प्रतिशत शामिल है।
बीएसई का सेंसेक्स 119 अंकों की बढ़त के साथ 59912.29 अंक पर खुला और यही इसका आज का निचला स्तर भी रहा। सत्र के दौरान लिवाली के बल पर यह 60284.55 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुंचा और अंत में यह पिछले दिवस के 58793.14 अंक की तुलना में 321.99 अंकों की बढ़त के साथ 60115.13 अंक के स्तर पर रहा।
सेंसेक्स में शामिल 30 कंपनियों में से 18 हरे निशान में और 12 लाल निशान में रही।
एनएसई का निफ्टी 57 अंकाें की बढ़त के साथ 17890.85 अंक पर खुला। सत्र के दौरान यह 17980.55 अंक के उच्चतम और 17889.15 अंक के निचले स्तर के बीच रहा। अंत में यह पिछले दिवस के 17833.35 अंक की तुलना में 103अंक अर्थात 0.58 प्रतिशत चढ़कर 17936.35 अंक पर रहा।
निफ्टी में शामिल 50 कंपनियों में से 36 हरे निशान में और 14 लाल निशान में रही।
शेखर

नव भारत न्यूज

Next Post

श्रीलंका में तमिलाें की स्थिति को लेकर भारत ने की आलोचना

Mon Sep 12 , 2022
नयी दिल्ली 12 सितंबर (वार्ता) भारत ने श्रीलंका में तमिल अल्पसंख्यकों के मुद्दे के राजनीतिक समाधान के लिए वहां की सरकार के रवैये की आलोचना करते हुए आज अपील की कि श्रीलंका जल्द से जल्द संविधान के 13वें संशोधन को लागू करे और सभी प्रांतीय परिषदों के चुनाव जल्द से […]