नीतीश ने तोड़ लिया राजग से नाता

पटना 09 अगस्त (वार्ता) बिहार में तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम के बीच सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड ने (जदयू) आज राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से नाता तोड़ लिया।

जदयू के सांसदों और विधानमंडल दल की मंगलवार को यहां हुई बैठक में इस पर मुहर लगी है। बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जदयू के सांसदों और विधायकों को बताया कि कैसे भाजपा उनके दल को तोड़ने की कोशिश कर रही है और ऐसे में अब भाजपा के साथ नाता नहीं रखना चाहते हैं।

श्री कुमार ने कहा कि कोई उनके दल को तोड़े यह कहीं से भी उचित नहीं है। बैठक में मौजूद सभी नेताओं ने श्री कुमार को निर्णय लेने के लिए अधिकृत भी किया, जिसके बाद उन्होंने भाजपा से नाता तोड़ने की घोषणा की।

इससे पूर्व जदयू के नालंदा से सांसद कौशलेन्द्र ने भी दावा किया कि पार्टी के विधायकों को भाजपा की ओर से तोड़ने के लिए प्रलोभन दिया गया था। विधायकों को भाजपा की ओर से छह-छह करोड़ रुपए का ऑफर देने की बात कही गई। यहां तक कि रविवार को जदयू अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने भी कहा था कि वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री नीतीश कुमर को कमजोर करने के लिए चिराग मॉडल अपनाया गया था। बाद में श्री आरसीपी सिंह के रूप में फिर से चिराग मॉडल-2 लाया जा रहा था लेकिन समय रहते जदयू ने इसे पहचान लिया। उन्होंने कहा था कि हम सब जानते हैं कि चिराग मॉडल किसका था। कहा गया कि उनका इशारा भाजपा की ओर था।

नव भारत न्यूज

Next Post

अरुण साव बने छत्तीसगढ़ भाजपा के नये अध्यक्ष

Tue Aug 9 , 2022
नयी दिल्ली, 09 अगस्त (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने छत्तीसगढ़ में बिलासपुर लोकसभा सीट से सांसद अरुण साव को पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष चुना है। भाजपा के महासचिव अरुण सिंह ने मंगलवार को यहां एक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी। श्री साव को […]