एमपीईबी के नहीं खुले दफ्तर,लटका रहा ताला

इलेक्ट्रिसिटी एमेंडमेंट बिल 2022 के विरोध में विद्युत मण्डल के अधिकारी,कर्मचारियों ने एक दिवसीय कार्य का किया बहिष्कार,बिजली की व्यवस्थाएं रहीं अस्त-व्यस्त

सिंगरौली :इलेक्ट्रिसिटी एमेंडमेंट बिल 2022 के विरोध में ग्रामीण सहित जिले के शहरी क्षेत्र के 50 से अधिक दफ्तरों, बिजली सब स्टेशनों में आज सोमवार को दिनभर दफ्तरों में ताला लटकता रहा। इस दौरान शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र की बिजली व्यवस्था पूरी तरह से अस्त-व्यस्त नजर आयी।
दरअसल यूनाइटेड फोरम फॉर पावर इम्प्लाईज एवं इंजीनियर्स के आह्वान पर प्रदेश सहित जिले के बिजली विभाग के अधिकारी,कर्मचारी सुबह से ही एक दिवसीय कार्य बंद कर विरोध प्रदर्शन करते रहे। इस दौरान विरोध कर रहे अधिकारियों, कर्मचारियों ने कहा कि यह बिल एमेडमेंट इलेक्ट्रिसिटी आम जनता व उपभोक्ताओं के लिए काफी नुकसानदेय है। संगठन के लोगों ने इसका विरोध करते हुए केन्द्र व प्रदेश की सरकार को चेताया है की अगर निजीकरण के विचार को वापस नहीं लिया गया तो आगे भी संगठन के आह्वान पर हम लोग एकजुट होकर सामूहिक विरोध करेंगे। इस दौरान बिजली व्यवस्था को लेकर जो भी व्यवधान उत्पन्न होगी उसकी संपूर्ण जिम्मेदारी केन्द्र व प्रदेश सरकार की होगी।

ग्रामीण अंचलों में अस्त-व्यस्त रही बिजली व्यवस्था
इलेक्ट्रिसिटी एमेंडमेंट बिल 2022 को लेकर यूनाइटेड फोरम फॉर पावर इम्प्लाईज एवं इंजीनियर्स के आह्वान पर सुबह से ही जिले के बिजली विभाग के ग्रामीण व शहरी सहित 300 से अधिक अधिकारी,कर्मचारी एक दिवसीय संपूर्ण कार्य बंद कर हड़ताल पर रहे। जिससे शहरी क्षेत्र सहित ग्रामीण अंचलों में कई जगहों पर बिजली व्यवस्था पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गयी। बिजली कट जाने के कारण लोग जहां दफ्तरों में पहुंच घण्टों अधिकारी,कर्मचारियों का इंतजार करते रहे। वहीं कई लोग फोन के माध्यम से अधिकारियों व कर्मचारियों से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन उपभोक्ताओं को सफलता नहीं मिली। जिससे लोग काफी परेशान रहे। जिले में सामूहिक हड़ताल व्यापक असर देखा गया।

विरोध प्रदर्शन में इनकी रही मौजूदगी
इलेक्ट्रिसिटी एमेंडमेंट बिल 2022 के विरोध मेें जिले के अधीक्षण अभियंता आरपी मिश्रा, कार्यपालन अभियंता अवनीश कुमार सिंह, अवनीश सिंह, सुमन कुमार भारती, बिजक प्रिये कार्यपालन अभियंता ट्रांसमिशन, सहायक अभियंता दिनकर दुबे, जन्मेजय सिंह, गौरव कुमार पाण्डेय, तरूण कुमार मोदी कनिष्ट अभियंता विशाल आनंद, संदीप विश्वकर्मा, माता प्रसाद शाह, परसुराम कुशवाहा, जसप्रीत सिंह, दुष्यंत सिंह, परीक्षण सहायक सुरेश प्रसाद मिश्रा, राजेश कुमार चर्मकार, कार्यालय सहायक जीएस तिवारी, सुरेश तिवारी,आरएन श्रीवास्तव, एमपी मिश्रा, लाइन परिचालक उग्रभान,धानेन्द्र सहित अन्य लोग मौजूद थे।

नव भारत न्यूज

Next Post

10 दिनों में भी पुलिस के पास नहीं पहुंची एमएलसी

Tue Aug 9 , 2022
सरई थाना क्षेत्र के नौढिय़ा निवासी आदिवासी गरीब के साथ बेरहमी से मारपीट का मामला सिंगरौली : सरई थाना क्षेत्र के समीपस्थ नौढिय़ा निवासी आदिवासी जगमोहन सिंह गोंड़ के साथ बेरहमी से जानलेवा हमला करने के मामले में चिकित्सकों में अभी तक सरई पुलिस के पास एमएलसी रिपोर्ट अभी तक […]