अध्यक्षी को लेकर मीना, सुनयना, आशा, कीर्ति एवं उमा में कांटे की टक्कर, फिर भी मीना का पलड़ा भारी

पन्ना :आगामी 10 अगस्त को जिले की छः नगर परिषदों एवं एक मात्र नगर पालिका पन्ना में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष को लेकर दावेदारों में जिले से लेकर भोपाल तक एड़ी चोटी की ताकत लगाई जा रही है क्योंकि पन्ना जिला भाजपा प्रदेशाध्यक्ष व्हीडी शर्मा के संसदीय क्षेत्र का जिला है इसलिए उनकी भी महत्वपूर्ण भूमिका होना लाजिमी हैं। वहीं पन्ना विधायक एवं प्रदेश के खनिज मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह की पूरी सहमति होने के बाद भी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष के पद का फैसला होगा। सबसे अधिक खींचतान पन्ना नगर पालिका में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष को लेकर चल रही है। चूंकि पांच दावेदार हैं और कोई किसी से कम नहीं हैं। सभी की अपनी अपनी राजनैतिक पकड़ एवं राजनैतिक प्रष्ठभूमि मजबूत है। यदि अध्यक्ष पद को लेकर नजर डाली जाये तो पांच दावेदारों में से श्रीमती मीना विष्णु पाण्डेय, श्रीमती उमा बबलू पाठक, श्रीमती आशा गुप्ता, सुनयना स्व. बृजेंद्र सिंह बुंदेला एवं श्रीमती कीर्ति अंकुर त्रिवेदी में कांटे का मुकाबला चल रहा है।

काफी प्रयास होने के बावजूद कोई दावेदार मानने को तैयार अभी तक नहीं हैं। जिस कारण पार्षदों की रायशुमारी भी कराई गई है। जिसमें प्रमुख रूप से पार्षदों की रायशुमारी में चार दावेदारों के नाम उभर कर सामने आये हैं जिसमें श्रीमती मीना पाण्डेय, सुनयना सिंह, श्रीमती आशा गुप्ता एवं श्रीमती उमा पाठक का नाम उभर कर सामने आया है। जहां तक श्रीमती आशा गुप्ता का प्रश्न हैं यदि अजयगढ़ में सीता गुप्ता एवं एक अन्य महिला गुप्ता परिवार से ही पार्षद हैं यदि वे अजयगढ़ में अध्यक्ष बनाई जाती है तो आशा गुप्ता स्वतः दौड़ से बाहर हो जायेंगी। फिर चार लोगों के बीच जोर आजमाइश होगी। जिसमें किसी को भी कम नहीं आंका जा सकता। श्रीमती कीर्ति अंकुर त्रिवेदी को व्हीडी शर्मा का खासा माना जाता है तो वहीं सुनयना सिंह, आशा गुप्ता एवं उमा पाठक किसी भी ग्रुप की नहीं मानी जाती है और उनके नाम को लेकर सांसद एवं मंत्री में भी कोई मतभेद नहीं आ सकते हैं।

सूत्रों से पता चला है कि राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले विष्णु पाण्डेय जिन्हें मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह का कट्टर समर्थक माना जाता है और प्रदेशाध्यक्ष व्हीडी शर्मा से मिलकर भी दावेदारी पेश की है हो सकता है कि अंत में वही बाजी मार जाये तो कोई आश्चर्य जनक नहीं होगा। यह भी पता चला है कि संगठन पूरा प्रयास कर रहा है कि दोनों पदों का निर्वाचन निर्विरोध हो अब देखना यह है कि भाजपा इस मामले में कहां तक सफल होती है। यह 10 तारीख को ही पता चलेगा। पन्ना नगर पालिका सहित जिले की सभी छः अन्य परिषदों में भी भाजपा का बोर्ड बनना तय है जिसको देखते हुए हर जगह से एक से अधिक दावेदार हैं, पन्ना नगर पालिका की तरफ यदि नजर डाली जाये तो पता चलता है कि यहां पर 28 वार्डाे में से एकतरफा 19 वार्डाे में भाजपा की जीत हुई है, तथा जो 3 निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव जीते हैं वे भाजपा में शामिल हो चुके हैं।

यहां पर पार्टी का सिंबल प्राप्त करने के लिए पांच महिला दावेदार प्रमुख रूप से दिखाई दे रही हैं, पार्टी का अधिकृत प्रत्याशी कौन होगा यह तो आगे की बात है लेकिन भाजपा प्रदेशाध्यक्ष व्हीडी शर्मा, प्रदेश के खनिज मंत्री व पन्ना विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह एवं संघ के पदाधिकारियों से मिलने जुलने का सिलसिला चल रहा है। जानकारों के अनुसार पन्ना नगर पालिका में जो पार्षद चुनकर आए हैं उसमें कांग्रेस की तरफ से कोई सुगबुगाहट नहीं है क्योंकि 28 में से मात्र 6 पार्षद कांग्रेस के जीते हैं, यहां पर सारा घमासान भाजपा के दावेदारों में है, जानकारी के अनुसार पन्ना नगर पालिका में अध्यक्ष पद के लिए भाजपा से जो दावेदार हैं उसमें वार्ड क्रं. 19 से निर्विरोध चुनकर आई श्रीमती मीना पाण्डेय वह पूर्व मे नगर पालिका पन्ना की उपाध्यक्ष एवं कृषि उपज मंडी पन्ना की अध्यवक्ष रह चुकी हैं।

भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश मंत्री श्रीमती आशा गुप्ता भी अध्यक्ष भी अध्यक्ष पद की दावेदार हैं। श्रीमती सुनयना सिंह भी प्रमुख दावेदार हैं, ये पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष स्वय. बृजेंद्र बुंदेला की धर्मपत्नी हैं, ज्ञात हो कि स्व. बृजेंद्र बुंदेला ने पन्ना नगर पालिका के अध्यक्ष रहते हुए तालाबों के जीर्णोद्धार करते हुए कई विकास कार्य करवाये गए थे जिसके नाम से वह जाने जाते हैं इनके प्रति पन्ना नगर एवं पार्टी के लोगों की सहानुभूति है, वार्ड क्रं. 1 से निर्विरोध विजयी प्रत्याशी श्रीमती उमा पति रामऔतार पाठक भी दावेदार हैं तथा इनकी भाजपा प्रदेशाध्यक्ष व्ही डी शर्मा के पन्ना में खास आदमी माने जाते हैं।

नव भारत न्यूज

Next Post

मेयर के खिलाफ नारेबाजी,कांगे्रस पार्टी के खिलाफ पड़ी भारी!

Mon Aug 8 , 2022
बीजेपी का आरोप,कांग्रेस पार्टी लोकतंत्र की कर रही हत्या सिंगरौली :पानि के प्रथम सम्मिलन एवं शपथ समारोह के दौरान मेयर के खिलाफ कांग्रेस पार्टी की नारेबाजी भारी पड़ गयी। अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए कांग्रेस पार्टी के लोग सोशल मीडिया सहित अन्य स्त्रोत के माध्यम से बीजेपी को बदनाम […]