एक वोट से सभापति की कुर्सी भाजपा के खाते में

मनोज तोमर संभालेंगे आसन्दी, उन्हें ३४ तो कांग्रेस की लक्ष्मी गुर्जर को मिले ३३ वोट, निर्दलीयों ने एन वक्त पर भाजपा को दिया चकमा

ग्वालियर: ग्वालियर निगम के सभापति पद के चुनाव में अंततः जीत की बाजी भाजपा के हाथ लगी है। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के नजदीकी पार्षद मनोज तोमर ने कांग्रेस की उम्मीदवार लक्ष्मी सुरेश गुर्जर को 1 वोट से हराकर जबरदस्त रस्साकसी वाला यह चुनाव जीत लिया। हालांकि भाजपा का ३८ पार्षदों के समर्थन का दावा धरा रह गया। 66 पार्षद में से भाजपा को 34 वोट मिले जबकि 33 वोट कांग्रेस को मिले। इनमें से एक वोट कांग्रेस से महापौर बनीं शोभा सिकरवार का भी है। साफ जाहिर है कि भाजपा को अपने ३४ पार्षदों के ही वोट मिले हैं जबकि अधिकांश निर्दलीयों के वोट कांग्रेस के पाले में गए हैं। हालांकि भाजपा एवं कांग्रेस के कुछेक पार्षदों द्वारा क्रॉस वोटिंग किए जाने की भी अटकलें लगती रहीं। यह स्पष्ट है कि यदि भाजपा अपने पार्षदों को हरियाणा के रिज़ॉर्ट ले जाकर बाड़ाबंदी नहीं करती तो भाजपा के हाथ से सभापति की सीट निकल भी सकती थी।

हालांकि भाजपा व कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर थी लेकिन पार्षदों की संख्या देखते हुए भाजपा का पलड़ा भारी नजर आ रहा था। भाजपा क्रॉस वोटिंग से इंकार कर रही है। वैसे भी राजनीति के जानकारों का कहना है कि क्रॉस वोटिंग यदि होती तो कांग्रेस को फायदा हो सकता था लेकिन तमाम अटकलों को झुठलाते हुए कांटे के मुकाबले में भाजपा ने एक वोट से कांग्रेस को मात दे दी। भाजपा के रणनीतिकारों ने पहले ही समझदारी का परिचय दिया था और शपथ ग्रहण समारोह के बाद ही अपने सभी पार्षदों को लेकर हरियाणा चले गए थे।

विजेता – पराजित का प्रोफाइल
सभापति बने भाजपा के मनोज तोमर वार्ड 55 से जीते हैं। वे दो बार पार्षद रह चुके हैं। उन्हें केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर का भरोसेमंद माना जाता है। उन्हें राजनीति का लम्बाअनुभव हैं और आम जनता व पार्षदों के बीच उनका सहयोगी व्यवहार रहा है।
कांग्रेस की दावेदार
वहीं कांग्रेस ने वार्ड 27 से चुनी गईं लक्ष्मी सुरेश गुर्जर को उम्मीदवार बनाया था। वे भले ही पहली बार जीतीं, लेकिन कांग्रेस ने ओबीसी वर्ग की महिला को प्रत्याशी बनाकर विधानसभा चुनाव के लिए इस वर्ग को अपनी तरफ करने का संदेश देने की कोशिश की। लक्ष्मी गुजर ने भाजपा के दो बार के पार्षद धर्मेन्द्र राणा की भतीजी को हराकर 12 वोट से जीत दर्ज की थी। यह नगर निगम चुनाव की सबसे छोटी जीत थी।

भाजपा विकास के लिए पहले भी संकल्पित थी, आज भी है : मनोज तोमर

ग्वालियर निगम के नवनिर्वाचित सभापति मनोज तोमर ने अपने चुनाव के उपरांत कहा कि शहर के विकास के लिए भाजपा पहले भी संकल्पित थी और आज भी है। जिन्होंने खरीद फरोख्त कर अपना सभापति बनाने का प्रयास किया था, उनको भाजपा के पार्षदों ने तस्वीर दिखा दी है। उन्होंने कहा कि विकास के मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होगी।

नव भारत न्यूज

Next Post

शिप्रा स्नान व महाकाल दर्शन के बाद टटवाल ने ली महापौर की शपथ

Sat Aug 6 , 2022
भारतीय जनता पार्टी के 37 पार्षदों का भी हुआ शपथ विधि समारोह उज्जैन: नगर के प्रथम नागरिक महापौर बने मुकेश टटवाल ने शुक्रवार को भाजपा के 37 पार्षदों के साथ शपथ ली। इससे पहले सुबह उन्होंने शिप्रा स्नान किया और महाकाल दर्शन के लिए पहुंचे। आज नगर निगम के सदन […]