कई अपेक्षाएं संजोए हैं जनता पुष्यमित्र भार्गव से……

सियासत

नवनिर्वाचित महापौर पुष्यमित्र भार्गव और भाजपा के पार्षदों ने शुक्रवार को शाम मेयर पद की शपथ ली। उनके साथ 66 पार्षदों ने भी शपथ ली जिसमें 64 भाजपा के और दो निर्दलीय पार्षद शामिल हैं। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सांसद शंकर लालवानी मौजूद नहीं थे। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय विदेश में होने के कारण शपथ विधि में उपस्थित नहीं हो सके। स्थानीय शासन मंत्री भूपेंद्र सिंह, उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव और अन्य नेताओं की मौजूदगी में यह समारोह हुआ। पार्षदों को 5 सूत्रीय एजेंडे पर भी शपथ दिलाई गई। जिसमें पर्यावरण संरक्षण ,खेलकूद को बढ़ावा इत्यादि बातें शामिल हैं। महापौर पुष्यमित्र भार्गव इंदौर के 24 वें महापौर हैं और अब तक के इतिहास के सबसे युवा महापौर भी।

उनकी एकेडमिक पृष्ठभूमि को देखते हुए इंदौर को उनसे काफी अपेक्षाएं हैं। खास तौर पर यह कि वे ऐसी कार्य संस्कृति विकसित करेंगे जो प्रदेश के अन्य नगर निगमों के लिए मॉडल बनेगी। वैसे इंदौर के लिए पिछले दिनों केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने अरबों रुपयों की घोषणाएं की हैं। नए महापौर के समक्ष अनेक चुनौतियां हैं लेकिन उन्हें सबसे बड़ा फायदा यह है कि प्रदेश और देश में उनकी पार्टी की सरकार है। इसलिए मेयर पुष्यमित्र भार्गव के रूप में इंदौर की जनता को 3 इंजन वाली सरकार मिली है। उनके समक्ष चुनौती भी यही रहेगी कि अब कोई बहानेबाजी जनता सहन नहीं करेगी। जनता ने भरपूर समर्थन दिया है। राजनीतिक परिस्थिति अनुकूल है। इसलिए नए महापौर से अपेक्षा रहेगी कि वे किंतु परंतु छोड़कर इंदौर के विकास को नई रफ्तार देंगे।

अब इंदौर शहर की निगाहें नए मेयर के एजेंडे पर रहेगी। पुष्यमित्र भार्गव को खासतौर पर विधानसभा के चुनाव तक शहर के अधूरे विकास कार्य और निर्माण कार्य पूरे करने पड़ेंगे। अधूरे विकास कार्य लगातार लंबित होने से इंदौर को खासतौर पर ट्रैफिक की परेशानी होती है। भार्गव को मेट्रो परियोजना और स्मार्ट सिटी योजना के अधिकारियों के साथ बैठक कर यह सुनिश्चित करना चाहिए कि अधूरे निर्माण कार्य जल्दी से जल्दी पूरे किए जा सकें। जैसा कि बार-बार इस कॉलम में लिखा जा चुका है शहर की सभी से प्रमुख समस्या ट्रैफिक और जल निकासी है। कल रात को हुई वर्षा से जिस तरह से शहर की निचली बस्तियां और पॉश बस्तियों में पानी भर गया वह चिंताजनक है। पुष्यमित्र भार्गव को लोक परिवहन मजबूत करना पड़ेगा जिससे अधिक से अधिक लोग निजी वाहनों की अपेक्षा लोक परिवहन में सफर करें। मुंबई में जिस प्रकार उच्च वर्गीय लोग भी लोकल ट्रेनों में सफर करते हैं वैसा ही इंदौर में होने की आवश्यकता है।

नए महापौर और पार्षदों के शपथ लेने से पूर्व ही भाजपा के प्रादेशिक नेतृत्व में निगम सभापति और एम आई सी के गठन को लेकर तैयारियां प्रारंभ कर दी है। प्रदेश नेतृत्व ने एमआईसी के गठन और निगम सभापति के लिए संभागीय प्रभारी भगवानदास सबनानी और प्रदेश के गृह मंत्री तथा इंदौर जिले के प्रभारी नरोत्तम मिश्रा को अधिकृत किया है। भगवानदास सबनानी प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा के राइट हैंड माने जाते हैं। उनको यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देने से स्पष्ट है कि विष्णु दत्त शर्मा का सीधा दखल एमआईसी और निगम सभापति के मामले में रहेगा। भाजपा नेतृत्व को यह अंदाज है कि पार्षद दल में कैलाश विजयवर्गीय के समर्थकों की संख्या बहुत ज्यादा है। इस कारण से एमआईसी और निगम सभापति पद के लिए उनसे मोबाइल द्वारा चर्चा की गई।

कैलाश विजयवर्गीय विदेश यात्रा पर हैं। इस कारण से वे आज के शपथ विधि समारोह में मौजूद नहीं रहेंगे। पता चला है कि कैलाश विजयवर्गीय ने किसी अनुभवी पार्षद को निगम सभापति बनाने की सलाह दी है। उनकी इस सलाह का साफ मतलब है कि मुन्ना लाल यादव , राजेंद्र राठौड़ और अश्विनी शुक्ला में से किसी एक को निगम सभापति बनाया जा सकता है। पुष्यमित्र भार्गव ब्राह्मण समुदाय से आते हैं इसलिए निगम सभापति का पद ओबीसी वर्ग को जा सकता है। यही वजह है कि भाजपा के पास राजेंद्र राठौर और मुन्ना लाल यादव के रूप में दो ही विकल्प बचते हैं। 8 अगस्त को निगम परिषद का सम्मेलन ब्रिलियंट कन्वेंशन हॉल में होगा जिसमें निगम सभापति के लिए चुनाव होगा। भाजपा को इसके पूर्व ही निगम सभापति का नाम तय करना पड़ेगा। एमआईसी का गठन महापौर द्वारा किया जाता है। इसलिए एमआईसी का गठन बाद में भी हो सकता है।

नव भारत न्यूज

Next Post

अमेरिका के पेनसिल्वेनिया में घर में आग लगने से 10 लोगों की मौत

Sat Aug 6 , 2022
वाशिंगटन 06 अगस्त (वार्ता/शिन्हुआ) अमेरिका के पेनसिल्वेनिया प्रांत में एक घर में आग लगने से कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को स्थानीय समयानुसार 02.42 बजे नेस्कोपेक, लुज़र्न काउंटी में एक दोमंजिले घर में आग लग गयी। घर में 14 लोग […]