बोले रिटायर्ड आईएएस वरद मूर्ति मिश्रा कांग्रेसो या भाजपा दोनों का चरित्र एक सा..

बोले रिटायर्ड आईएएस वरद मूर्ति मिश्रा कांग्रेसो या भाजपा दोनों का चरित्र एक सा... राजनीतिक दल हाईकमान को खुश करने ठेको, ट्रांसफर पोस्टिंग से पैसे कमा पार्टी फंड में भेजते हैं..

भोपाल, 04 अगसत-पूर्व IAS डॉ. वरद मूर्ति मिश्र ने अपना राजनीतिक दल बनाने का ऐलान किया है। वे मध्यप्रदेश विधानसभा 2023 का चुनाव लड़ेंगे। VRS लेने के बाद वरद मूर्ति मिश्र ने राजनीति के मैदान में उतरने का फैसला किया है। डॉ. वरद मूर्ति का कहना है कि पिछले कई सालों से उनके मन में ये बात थी कि सिस्टम धीरे-धीरे सिर्फ कुछ मजबूत लोगों के पक्ष में दिखाई देता है। गांव के लोग आज भी परेशान हैं। सिस्टम मूलभूत समस्याओं को नजरअंदाज कर रहा है। सरकार के पास इन समस्याओं का कोई समाधान नहीं है।

डॉ. वरद मूर्ति ने सरकारों पर निशाना साधा

डॉ. वरद मूर्ति ने सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार किसी भी दल की हो उनका पूरा ध्यान वोट लेने या फिर अपनी सत्ता को मजबूत करने या एक इवेंट की राजनीति करने पर रहता है। मध्यप्रदेश के लोग बहुत परेशान हैं। मध्यप्रदेश कृषि प्रधान राज्य है, मध्यप्रदेश का 55 प्रतिशत रोजगार कृषि पर आधारित है, लेकिन ये नकली बीजों का हब बना हुआ है। उर्वरक में भी मिलावट की जा रही है। सरकार के पास उर्वरक की जांच के लिए कोई एजेंसी नहीं है। अगर एजेंसी है भी तो उसमें बेहद कम कर्मचारी हैं।

किसानों के प्रति जताई चिंता

डॉ. वरद मूर्ति का कहना है कि वे आज तक नहीं समझ पाए कि हम किसानों को रात में ही बिजली क्यों देते हैं। क्यों नहीं ऐसा होना चाहिए कि किसानों के लिए एक सुविधाजनक समय तय कर लिया जाए और उस पर उसे बिजली दी जाए, जिससे वो अपनी फसल की सिंचाई कर सकें। इस सीजन में सर्पदंश के केस ज्यादा होते हैं। कई इलाके ऐसे हैं जहां फसलों की सिंचाई आसानी से हो सकती है लेकिन उसके बाद भी वहां सिंचाई के लिए व्यवस्था नहीं है। जोत का आकार छोटा होने से किसान परेशान हो रहा है। सरकार के पास कमर्शियल फसलों की दर निर्धारण करने की कोई व्यवस्था नहीं है।

नव भारत न्यूज

Next Post

कैंपस के रहवासियों व बच्‍चों पर आवारा कुत्‍ते हमला कर रहे हैं

Thu Aug 4 , 2022
भोपाल, 04 अगस्त-सेंट्रल जेल रोड स्थित मेपल ट्री कॉलोनी कैंपस रहवासियों की जान आवारा कुत्‍तों के कारण खतरे में। शिकायत करने पर वहीं की रहवासी आदिवासी कल्‍याण विभाग में कार्यरत शासकीय कर्मचारी ने उल्‍टा मेनका गांधी का नाम लेकर और छेड़खानी की झूठी रिपोर्ट दर्ज कराने की धमकी दी है। […]