जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री श्री शेखावत से मुलाकात की

श्री शेखावत ने केन-बेतवा परियोजना का कार्य जल्द शुरू करने का दिया आश्वासन

दिल्ली/भोपाल,  जल संसाधन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने दिल्ली प्रवास के दौरान केंद्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत से शिष्टाचार मुलाकात की। इस दौरान केन-बेतवा परियोजना, श्रीमंत माधवराव सिंधिया बृहद सिंचाई परियोजना सहित अन्य सिंचाई परियोजनाओं पर बृहद चर्चा हुई। जल संसाधन मंत्री ने बताया कि बुंदेलखंड की केन-बेतवा लिंक परियोजना को लेकर केन्द्रीन मंत्री के साथ विस्तार से चर्चा की। केन्द्रीय मंत्री ने इसका जल्द कार्य शुरू करने का आश्वासन दिया है।

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से चर्च के दौरान श्री सिलावट ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में वैभवशाली, शक्तिशाली, संपन्न और समृद्ध भारत का निर्माण हो रहा है। इसके साथ ही मध्य प्रदेश में केंद्र और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी की डबल इंजन वाली सरकार मिलकर प्रदेश को आगे ले जाने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकारें सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास जीतने की राह पर कदम बढ़ा रही है।

श्री सिलावट ने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने एक सपना देखा था, जिसे आज भाजपा की सरकार पूरा करने की ओर बढ़ रही है। वाजपेयी जी ने वर्ष 2002 में केन-बेतवा लिंक परियोजना की आधारशिला रखी थी। इस परियोजना के लिए केंद्र सरकार द्वारा 44 हजार 605 करोड़ रुपये का बजट मंजूर किया है। इसके जरिए बुंदेलखंड की दो बड़ी नदी केन एवं बेतवा को आपस में जोड़कर बारिश के पानी का बेहतर उपयोग किया जाएगा। इस परियोजना से बुंदेलखंड हरियाली लाने के साथ ही स्थानीय स्तर पर रोजगार भी उपलब्ध होगा। सरकार इसे तय सीमा के अंदर पूरा करना चाहती है और इसका कार्य जल्द शुरू करने की तैयारी कर रही है।

उन्होंने बताया कि केन्द्रीय मंत्री के साथ श्रीमंत माधवराव सिंधिया बहुउद्देशीय वृहद सिंचाई परियोजना को लेकर भी चर्चा की गई। करीब 6600 करोड़ की लागत से तैयार होने इस परियोजना से ग्वालियर, शिवपुरी, श्योपुर, मुरैना और भिंड जिले की पेयजल समस्या के निवारण के साथ-साथ करीब एक लाख 50 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि की सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। चंबल के नहरों में जल आपूर्ती की जाएकी, इसके साथ ही बिजली उत्पादन भी किया जाएगा। इसका डीपीआर तैयार किया जा चुका है, जल्द ही आगे की प्रक्रिया भी पूरी कर ली जाएगी। इस दौरान श्री सिलावट ने मध्यप्रदेश में जल संवर्धन और जल संरक्षण के लिये किये जा रहे कार्यों से भी केन्द्रीय मंत्री को अवगत कराया।

नव भारत न्यूज

Next Post

डरा धमका कर हमें चुप कराने में कामयाब नहीं होगी सरकार : राहुल

Thu Aug 4 , 2022
नयी दिल्ली, 04 अगस्त (वार्ता) कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि सरकार चाहती है कि उससे कोई जनता से जुड़े मुद्दों पर सवाल नहीं पूछे इसलिए वह डरा धमका कर हमें चुप कराने का प्रयास कर रही है लेकिन उसकी यह कोशिश सफल नहीं होगी। […]