सिद्धीखुर्द पंचायत के सरपंच व आरओ सहित पीठासीन अधिकारियों को नोटिस

उपखण्ड अधिकारी विहित प्राधिकारी पंचायत बैढ़न ने जारी किया नोटिस, 12 अगस्त को पेशी

सिंगरौली:बैढन जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत सिद्धीखुर्द पंचायत चुनाव में पूनम बैस की याचिका पर न्यायालय उपखण्ड अधिकारी एवं विहित प्राधिकारी पंचायत बैढ़न सिंगरौली ने सरपंच, रिटर्निंग आॅफीसर, पीठासीन अधिकारियों सहित अन्य को नोटिस जारी कर 12 अगस्त को उपखण्ड अधिकारी के न्यायालय में तलब होने के लिए कहा गया है।दरअसल जनपद पंचायत बैढन क्षेत्र में त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव का प्रथम चरण 25 जून को संपन्न हुआ था। प्रत्याशी पूनम बैस का आरोप है की इस दौरान भारी अव्यवस्थाओं के बीच किसी तरह चुनाव संपन्न हुआ। जिसमें बिजली की आंख मिचैली सबसे बड़ा कारण था। बताया जा रहा है की मतदान के दिन बैढन इलाके में घनघोर बारिश हुई थी। जिसके कारण ग्रामीण इलाकों में बिजली गुल थी।

अधिकांश मतदान केन्द्रों में मोबाइल टार्च रोशनी के सहारे आधी रात तकरीबन 1 बजे तक मतों की गणना की जा रही थी। रोशनी कम होने व बिजली की आंख मिचैली के कारण कुछ अभ्यर्थियों ने पीठासीन अधिकारियों से सांठ-गांठ बनाकर मतपत्रों के गणना पत्रक में गड़बड़झाला कराने में सफल हो गये है। इस तरह का आरोप ग्राम पंचायत सिद्धीखुर्द के सरपंच पद प्रत्याशी पूनम बैस ने लगाया है। उनका आरोप है की मतदान 25 जुलाई की शाम 7 बजे तक हुआ और गणना रात्रि 1 बजे तक चली। इस दौरान भारी बारिश के चलते बिजली गुल होने के कारण गैस सिलेण्डर एवं मोबाइल के सहारे मतों की गणना की गयी थी।

पर्याप्त रोशनी न होने से प्रतीक चिन्हों में लगे मोहर स्पष्ट नहीं दिखाई दे रहे थे। आपत्ति करने के बावजूद मतदान क्रमांक 183 के पीठासीन अधिकारी द्वारा सभी आपत्तियों को खारिज करते हुए आवेदन लेने से ही मना कर दिया। उल्टा पीठासीन अधिकारी हमारे एजेण्ट को डराने, धमकाने लगे। जबकि गणना पत्रक में पीठासीन अधिकारी के द्वारा काट-छांट किया गया था। इसी बात को लेकर एजेंट आपत्ति करने लगे तो उन्होंने जेल भेजवाने तक की धमकी दे डाली। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरपंच के निर्वाचन का विवरण प्रारूप 21 श्रीमती धनौहा-रामलल्लू शाह के सर्वाधिक मत होने का विवरण तहसील के निर्वाचन शाखा में कार्यरत रामलल्लू शाह के एक नजदीकी व्यक्ति ने 12 जुलाई को दोपहर करीब 3 बजे ही वायरल कर दिया था।

जबकि नतीजों का ऐलान 14 जुलाई को किया जाना था। दो दिन पूर्व सरपंच के निर्वाचन के विवरण सोशल मीडिया में सार्वजनिक किये जाने को लेकर निर्वाचन शाखा में पदस्थ संविदा ऑपरेटर की भूमिका भी संदिग्ध नजर आ रही है। वहीं संविदा ऑपरेटर की एक और कारगुजारी सामने आयी है। इन्हीं मुद्दे को लेकर पूनम बैस पत्नी बलराम बैस ने एसडीएम के यहां याचिका दायर किया है। जहां एसडीएम द्वारा रिटर्निंग आफीसर पंचायत व तहसीलदार सिंगरौली रमेश कोल, सरपंच धनउआ-रामलल्लू शाह, पीठासीन अधिकारी राजेश यादव, रामबदन प्रजापति, सूर्यभान सिंह के साथ-साथ देवमती, हीरामती को नोटिस जारी करते हुए 12 अगस्त को उपखण्ड कार्यालय सिंगरौली, बैढ़न में जबाव देने के लिए कहा है, नही ंतो एकपक्षीय कार्रवाई कर दी जायेगी।

नव भारत न्यूज

Next Post

भारोत्तोलन : छठे स्थान पर रहीं पूर्णिमा

Thu Aug 4 , 2022
बर्मिंघम, (वार्ता) भारतीय महिला भारोत्तोलक पूर्णिमा पांडे राष्ट्रमंडल खेल 2022 के 87+ किग्रा फाइनल में छठे स्थान पर रहीं, जबकि इंग्लैंड की एमिली कैंपबेल ने खेल रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक हासिल किया। पूर्णिमा ने स्नैच में 103 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 125 किग्रा के सफल प्रयासों के […]