अग्निकांड: आठ जिंदगियों से खेलने वाले अस्पताल का मैनेजर गिरफ्तार, चारों डायरेक्टर अभी भी फरार

शुरुआती जाँच मेँ ही नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग क़े अधिकारियों की गंभीर खामियां उजागर

पीएम के बाद चली चिताएं, मृतकों के घरों में पसरा मातम

जबलपुर: न्यू लाईफ मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल में सोमवार को हुए भीषण अग्निकांड में खाक हुई आठ जिंदगियों के बाद अस्पताल मैनेजर राम सोनी को गिरफ्तार कर लिया गया है। लेकिन अस्पताल के चारों डॉयरेक्टर डॉ. निशिंत गुप्ता, डॉ. सुरेश पटैल, डॉ. संजय पटैल, डॉ. संतोष सोनी एफआईआर दर्ज होने के बाद भी फरार हैं। सूत्रों के मुताबिक उनकी आखिरी लोकेशन नागपुर में ट्रेस हुई है।

गत दिवस दर्दनाक घटना के बाद अस्पताल में लापरवाही के अनेक तथ्य उजागर हुए है। जांच में फायर एनओसी की मियाद खत्म होने, अग्निशमन यंत्र, रेत की बाल्टियां, इमरजेंसी गेट, विद्युत सुरक्षा संबंधी आडिट भी नहीं होने के बाद भी जहां नगर निगम ने कोई कार्रवाई नहीं की वहीं दूसरी बड़ी लापरवाही यह सामने आई है कि 1980 वर्ग फिट के प्लाट में निर्मित तीन मंजिला इमारत का अस्पताल संचालकों ने सीएमएचओ को जो आवेदन दिया था उसमें बिल्डिंग कम्पलीशन सर्टिफिकेट के साथ एक प्राइवेट ले आउट प्रस्तुत किया था।

हैरत की बात यह है कि स्वीकृत ले आउट देखे बिना ही संबंधित अधिकारियों ने अस्पताल को पंजीकृत कर दिया था । आधारभूत खामियों के बावजूद अगस्त 2021 में सरकार की 6 सदस्यीय कमेटी ने अस्पताल को नियमों अनुसार संचालित होना बता दिया। समझा जा सकता है कि इस तरह के अन्य छोटे अस्पतालों को लेकर प्रशासन की ओर से कितनी गंभीरता बरती गई । घटना मेँ घायल 5 मरीजों मेँ एक की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है,मृतकों क़े पोस्टमार्टम के बाद आवश्यक कार्रवाई के बाद मृतकों के शवों को उनके परिजनों सुपुर्द कर दिया गया। इसके बाद अंतिम संस्कार किया गया।

इनका कहना है

धारा 304, 308, 34 के तहत प्रकरण दर्ज करने के बाद मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया गया है। अस्पताल के फरार संचालकों की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित कर दी गई है जो छापेमारी कर रही हैं।

सिद्धार्थ बहुगुणा, एसपी, जबलपुर

नव भारत न्यूज

Next Post

सोनिया गांधी को घेरने के प्रयास में स्मृति ईरानी खुद घिरी

Wed Aug 3 , 2022
दिल्ली डायरी प्रवेश कुमार मिश्र  लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी के बयान पर उठे बवाल के बीच केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जिस तरह से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर आक्रामकता के शाब्दिक प्रहार किए ,उसकी चौतरफा निंदा हो रही है. स्मृति के इस व्यवहार को भाजपा […]