एमपी में आप की दस्तक से कांग्रेस व भाजपा बेचैन 

दिल्ली डायरी 
प्रवेश कुमार मिश्र 
मध्यप्रदेश निकाय चुनाव में आम आदमी पार्टी की उपस्थिति से कांग्रेस व भाजपा खेमे में बेचैनी है. सिंगरौली नगर निगम पर आप उम्मीदवार रानी अग्रवाल की जीत मध्यप्रदेश में आप की उपस्थिति मानी जा रही है. हालांकि भाजपा को सात व कांग्रेस को तीन सीट पर विजय मिली है. फिर भी मध्यप्रदेश विधान सभा चुनाव के दृष्टि से मध्यप्रदेश में आप की दस्तक को राजनीतिक बदलाव की सुगबुगाहट माना जा रहा है.
कुनबा बचाने के जुगत में शिवसेना प्रमुख 
शिवसेना में भले ही स्पष्ट रूप से दो गुट दिख रहे है लेकिन शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अभी भी शिवसेना के अस्तित्व को बचाने या अपने कब्जा में रखने के प्रयास में हैं. राष्ट्रपति चुनाव में मजबूरी में ही सही उद्धव ठाकरे राजग उम्मीदवार के पक्ष में हैं. हालांकि महाराष्ट्र में एक गुट सरकार में है तो दूसरा गुट विपक्ष में है फिर भी संवैधानिक रूप से शिवसेना अभी एक ही है क्योंकि पार्टी पर कब्जा के लिए शिंदे गुट अभी मौके की ताक में बैठा है.
लिखित भाषण पढ़ने में अटके तेजस्वी
बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को उस समय असहज होना पड़ गया जब वे बिहार में शताब्दी वर्ष के समापन समारोह में लिखित भाषण को पढ़ते समय कई बार अटक गए. तेजस्वी के इस तरह के भाषण से जहां एक तरफ राजद के तमाम नेता असहज हो गए वहीं दूसरी ओर मंच पर मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत सामने बैठे पक्ष-विपक्ष के तमाम नेता भी हैरान दिखे. तेजस्वी के भाषण को लेकर सोशल मीडिया पर भी जम कर मजाक बनाया गया.
उपराष्ट्रपति चुनाव में धनखड़ को चुनोती
वैसे तो उपराष्ट्रपति चुनाव में अंकगणित के हिसाब से राजग उम्मीदवार जगदीप धनखड़ के पक्ष में माहौल है फिर भी संयुक्त विपक्ष ने धनखड़ के निर्विरोध निर्वाचन के मार्ग में कांग्रेस पार्टी की वरिष्ठ नेता माग्रेट आल्वा को उतारकर चुनाव सुनिश्चित करा दिया है. विपक्षी दलों ने संयुक्त बैठक कर संख्याबल में कम होने के बावजूद उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है. राजनीतिक गलियारों में इस एकतरफा लड़ाई में माग्रेट आल्वा द्वारा उम्मीदवारी स्वीकारे जाने को लेकर खुब चर्चा हो रही है.
मानसून सत्र में सरकार को घेरने की तैयारी 
संसद के मानसून सत्र में विपक्षी दलों के नेताओं ने विभिन्न ज्वलंत मुद्दों के सहारे सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है. महंगाई, अग्निवीर, ईडी के कथित दुरूपयोग, डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत में ऐतिहसिक गिरावट, चीन सीमा विवाद समेत 13 मुद्दों पर सदन में चर्चा की मांग करने की तैयारी में है जबकि दूसरी ओर सरकार इस सत्र में 32 विधेयक पेश करने की तैयारी में है.
 फिर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस 
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को ईडी कार्यालय में उपस्थिति दर्ज कराने को लेकर भेजे गए नोटिस के खिलाफ कांग्रेस पार्टी एक बार फिर देश भर में ईडी कार्यालय के सामने 21 व 22 अगस्त को विरोध प्रदर्शन करेगी. कांग्रेस पार्टी ने ईडी नोटिस को राजनीति से प्रेरित बताते हुए केन्द्र सरकार पर विपक्षी नेताओं को परेशान करने का आरोप लगाया है.

नव भारत न्यूज

Next Post

बारिश का दौर जारी,निकासी नहीं होने से सड़कें बनी तलैया

Tue Jul 19 , 2022
डवा: सावन के महीने में झमाझम बारिश का दौर सतत् जारी है। सुबह से रात तक रूक-रूक कर बारिश होती रही। इस बारिश से खेतों में पानी भर गया है। इसके साथ ही अब रोपाई और खेती के अन्य कामों में तेजी आएगी। तेज बारिश से शहर के निचले हिस्सों […]