प्रत्याशी ने दो लाख खर्च कर दिए, इसके बाद भाजपा ने उन्हें चुनाव मैदान से हटा दिया, हंगामा बरपा

ग्वालियर। वार्ड 7 से भाजपा प्रत्याशी ममता भदौरिया ने पांच दिन प्रचार कर लिया। वार्ड में वाहन रैली निकाल दी, करीब दो लाख रुपए की चुनाव सामग्री छपवा ली। उसके बाद उनसे टिकट वापस ले लिया गया। उनके बदले ऊर्जा मंत्री के करीबी वंदना आशीष तोमर को भाजपा ने वार्ड 7 से प्रत्याशी बनाया है। इसके बाद स्थानीय लोगों ने हंगामा कर दिया और नारेबाजी की। लोगों का आरोप है कि नया घोषित प्रत्याशी ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का खास है और केन्द्रीय मंत्री सिंधिया के दबाव के चलते यह बदलाव हुआ है।
ग्वालियर में 17 जून की रात भाजपा ने अपने प्रत्याशियो के नाम घोषित किए थे। वार्ड 7 में भाजपा ने दिवंगत नेता धर्मेन्द्र भदौरिया की पत्नी ममता धर्मेन्द्र भदौरिया को प्रत्याशी बनाया था। दूसरे नंबर पर ऊर्जा मंत्री तोमर के चहेते आशीष तोमर की पत्नी वंदना आशीष तोमर का नाम था। 18 जून से ही नाम घोषित होने के बाद ममता भदौरिया ने चुनाव प्रचार शुरू कर दिया। उन्होंने अपने क्षेत्र में रैली तक निकाल दी। इतना ही नहीं करीब दो से ढाई लाख रुपए की चुनाव सामग्री भी छपकर तैयार है।। अब उनको चुनाव सामग्री बांटने और प्रचार को एक कमान देने के लिए चुनावी कार्यालय का शुभारंभ करना था। इसलिए वह भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी के पास कार्यालय की इजाजत लेने पहुंची थी। तब उनको रुकने के लिए कहा गया। मंगलवार रात ममता भदौरिया के पास फोन आया कि अब वह प्रत्याशी नहीं है। उनके बदले वंदना आशीष तोमर को टिकट फाइनल किया गया है। वह अब प्रचार न करें। यह सुनते ही वह नाराज हुई और जब यह बात स्थानीय लोगों को पता लगी तो हंगामा खड़ा हो गया। अचानक प्रत्याशी बदलने से स्थानीय लोगों में आक्रोश है। लोग नाराज हैं और उन्होंने चेतावनी दी है कि प्रत्याशी के रूप में ममता भदौरिया नहीं मिलती हैं तो भाजपा को सबक सिखा देंगे।

नव भारत न्यूज

Next Post

आचार संहिता में हवाई फायरिंग, बदमाशों का नही लगा कोई सुराग

Thu Jun 23 , 2022
  ग्वालियर। आचार संहिता में हवाई फायरिंग करने वाले बदमाशों का पुलिस को अभी तक कोई सुराग नही मिला है। माधवगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली पीतमपुर कॉलोनी में रात करीब 8 बजे शिव शक्ति आर ओ प्लांट के गेट के सामने बदमाशों ने गाड़ी खड़ी कर दी थी। […]