प्रदेश कांग्रेस महासचिव एवं जनपद अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा, प्रत्याशी मनमाने हुए घोषित

निवाली (बड़वानी):नगर में नगर परिषद चुनाव की कांग्रेस द्वारा अधिकृत प्रत्याशियों की लिस्ट जारी की गई जिससे कांग्रेस पदाधिकारी गणो ने सूची मनमानी ढंग से घोषित की गई जिस से नाराज कांग्रेस पदाधिकारी गणों द्वारा सामूहिक इस्तीफे दिए।कांग्रेस ने पार्षद प्रत्याशियों की अधिकृत सूची दिनांक 22 जून को सुबह 10 बजे जारी की जिसके बाद नगर के पद अधिकारीयो व सदस्यों में कांग्रेस की अधिकृत सूची को देख नाराजगी जताई है जिसमें प्रदेश कांग्रेस महासचिव एवं वर्तमान जनपद अध्यक्ष विकास डावर द्वारा बता गया कि वह एवं उनके संपूर्ण परिवार एवं कांग्रेस समर्पित रहा है विकास डावर द्वारा कांग्रेस पार्टी को अपना समय देखकर अपना कर्तव्य निभाया।

कांग्रेस पार्टी द्वारा 2013 व 2018 के विधानसभा सर्वे में पहले पायदान पर नाम होने के बावजूद टिकट नहीं दिया गया फिर भी कांग्रेस के लिए पूरे मनोयोग के साथ काम किया और कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार को जीताया वर्तमान नगर परिषद में उनके द्वारा नगर परिषद के वार्डों में टिकट मांगा गया परंतु वरिष्ठ कांग्रेसी अधिकारी द्वारा नगर परिषद पार्षदों का भी टिकट नहीं दिया।

जिससे नाराज होकर कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष को प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ एवं जिलाध्यक्ष के नाम मीडिया के समक्ष इस्तीफा सोपा मीडिया से रूबरू होकर जनपद अध्यक्ष विकास अर्जुन डावर ने बताया कि नगरीय निकाय चुनाव को लेकर कांग्रेस की अधिकृत सूची से नाराज होकर पार्टी छोडऩे का फैसला लिया। इस्तीफा देने में कांग्रेस के पूर्व उप सरपंच पवन बंसल,दिनेश वाघ, विनोद वर्मा सहित सदस्यो ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दिया। इस संदर्भ में ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप जाधव द्वारा लिस्ट के बारे में कहा कि उन्होंने जो लिस्ट भेजी है वह बदल दी गई है वर्तमान लिस्ट से कांग्रेस में असंतोष है वही जारी लिस्ट से मेरा बहुत अहात हु इस संबंध में सभी वरिष्ठ को सूचना दे दी गई है।

नव भारत न्यूज

Next Post

बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे गिधौहा गांव के सैकड़ों आदिवासी परिवार

Thu Jun 23 , 2022
75 वर्षों बाद भी नहीं पहुंची बिजली, सड़क जनप्रतिनिधियों के खिलाफा ग्रामीणों में भारी असंतोष पांच किलोमीटर चलने के बाद मिलती है कच्ची-पक्की सड़क सिंगरौली : चितरंगी ब्लॉक के सबसे दूरस्थ अंचल कोरावल सर्किल के खम्हारडीह ऐसी ग्राम पंचायत है, जहां एक घनी आबादी में बूंद-बूंद पानी के लिए आदिवासी […]