लाल सेना के कमांडर को याद कर भावुक हुए लोग, कई कार्यक्रम हुए

भिंड: बसरेहर ब्लॉक अंतर्गत लोहिया गांव में अंग्रेज़ों से लड़ने के लिए लाल सेना बनाने वाले कमांडर अर्जुन सिंह भदौरिया की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। आजादी के हीरक वर्ष में कमांडर को उनके समाधि स्थल पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। कार्यक्रम में पहुंचे लोग कमांडर को याद कर भावुक हो गए। अतिथियों ने नई पीढ़ी को संघर्ष कर कमांडर से सीखने का संदेश दिया।क्रांतिकारियों और कमांडर के जीवन से जुड़ी फोटो प्रदर्शनी भी आयोजित हुई. लाल सेना के योद्धा रहे अंगद सिंह के पुत्र दिनेश सिंह कुशवाह, जहीरूद्धीन के पौत्र मोहम्मद शकील, कमांडर अर्जुन सिंह भदौरिया के पौत्र सिद्धार्थ भदौरिया ने फोटो प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

स्मारक शिलापट्ट के नजदीक बांस पर सुतली के सहारे लगाई गई तस्वीरें सबको अपनी तरफ आकर्षित खींच रही थी। कमांडर के जीवन संघर्ष पर केंद्रित पचास तस्वीरों का चयन कर यहां प्रदर्शित किया गया था। ‘कमांडर अर्जुन सिंह भदौरिया के सपनों का भारत’ विषय पर कनिष्ठ वर्ग में कक्षा-1 से 5 तक, मध्यम वर्ग कक्षा 6 से 12 तक, वरिष्ठ वर्ग समस्त अविद्यालयी बच्चे एवं नागरिकों ने बढ़-चढ़कर हिस्सेदारी की। प्रातः 10 बजे से शुरू हुआ स्पीच कॉम्पटीशन दोपहर दो बजे तक चला।

स्पीच कॉम्पटीशन में कनिष्ठ वर्ग में केंद्रीय विद्यालय की अनन्या, मध्य वर्ग में पान कुवर इंटर नेशनल स्कूल की आयुषी सिंह और वरिष्ठ वर्ग में केकेडीसी के सूर्यांश ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।खूबसूरत चंबल थीम पर पेंटिंग कॉम्पटीशन हुआ। इसमें चंबल घाटी के विविध पहलुओं को पेंटिंग कर कागज पर उकेरा गया। कनिष्ठ वर्ग में बहादुरपुर प्राइमरी स्कूल के देवांश ने प्रथम, मध्यम वर्ग में नारायणा कालेज की नैंसी, वरिष्ठ वर्ग शिवाजी शिक्षा निकेतन के शिव शर्मा ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।

नव भारत न्यूज

Next Post

तेज आंधी और बूंदाबांदी, होर्डिंग उड़े, पेड़ उखड़े

Tue May 24 , 2022
आने के पहले ही नौतपा हो गया पस्त ग्वालियर:आज सुबह तेज आंधी व बूंदाबांदी के बाद मौसम खुशगवार हो गया। आंधी से दुकानों के होर्डिंग सड़क पर आ गिरे। हालत यह रही कि सड़कों पर यातायात थम गया। आंधी में कई स्थानों पर पेड़ भी धराशायी हुए। दोपहर में भी […]