मेयर के परोक्ष चुनाव से फायदे में रहेंगे विजयवर्गीय

सियासत

नगरीय निकाय चुनाव 30 जून तक संपन्न कराने की घोषणा प्रदेश निर्वाचन आयोग ने की है। वैसे प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में मॉडिफाइड एप्लीकेशन लगाई है। इस पर क्या फैसला होता है यह दो-तीन दिन में पता चल जाएगा लेकिन भाजपा और कांग्रेस संगठन चुनाव के लिए तैयार हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने कार्यकर्ताओं और नेताओं से कहा है कि चुनाव तैयारी में जुट जाएं। यदि चुनाव होते हैं तो इंदौर नगर निगम में मेयर चुनाव की दृष्टि से कैलाश विजयवर्गीय का गुट सबसे अधिक लाभ में रहेगा।

इसका कारण यह है कि इस गुट के पास आकाश विजयवर्गीय और रमेश मेंदोला के रूप में दो विधायक हैं। क्षेत्र क्रमांक 5 के विधायक महेंद्र हार्डिया भी कैलाश विजयवर्गीय से बाहर नहीं जा सकते। क्षेत्र क्रमांक एक, चार और राऊ की शहरी सीटों पर भी कैलाश विजयवर्गीय के पास मजबूत उम्मीदवारों की कमी नहीं है। ऐसे में टिकट वितरण में सबसे अधिक शेयर कैलाश विजयवर्गीय के समर्थकों का रहेगा। जाहिर है पार्षद भी इसी गुट के सबसे अधिक चुनकर आएंगे।

इसका अर्थ यह है कि कैलाश विजवर्गीय अपने समर्थक को मेयर बनाने की स्थिति में है। यह तो सभी जानते हैं कि उनकी पहली पसंद रमेश मेंदोला रहेंगे। उनके अलावा जीतू जिराती भी दावेदार हो सकते हैं। कांग्रेस की ओर से संजय शुक्ला को सबसे अधिक लाभ मिलेगा क्योंकि उन्होंने लगातार फील्डिंग की है। वे अब कमलनाथ के विश्वासपात्र भी हैं तथा उनके पास साधनों और बाहुबल की कमी नहीं है। कुल मिलाकर इस बार इंदौर नगर निगम का चुनाव बेहद दिलचस्प होने वाला है।

नव भारत न्यूज

Next Post

चमगादड़ मरने से लोगों में भय व्याप्त

Sat May 14 , 2022
झाबुआ: शहर में बड़ी संख्या में चमगादड़ों के मरने से लोग दहशत में आ गए हैं। मर चुके चमगादड़ों की सडऩ से आसपास के रहवासियों को इसकी बदबू से भय का वातावरण दिखाई देने लगा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के सर्किट हाउस क्षेत्र में बड़ी संख्या में चमगादड़ों […]