आईजी ग्वालियर अनिल शर्मा को गुना प्रकरण में तत्काल प्रभाव से हटाने का निर्णय लिया गया

मुख्यमंत्री चौहान के निर्देश

आईजी ग्वालियर अनिल शर्मा को गुना प्रकरण में तत्काल प्रभाव से हटाने का निर्णय लिया गया –मुख्यमंत्री चौहान

हमारे पुलिस के मित्रों ने शिकारियों का मुकाबला करते हुए शहादत दी हैं।

अपराधियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई होगी, जो इतिहास में उदाहरण बनेगी।

अपराधियों की लगभग पहचान हो गई है, जांच पूरी चल रही है।

पास के गांव में एक शव भी बरामद हुआ है, गोली लगने से मौत हुई है।

घटना की पूरी जांच हो रही है। पुलिस फोर्स भेजा गया है।*

अपराधी किसी भी कीमत पर बचेंगे नहीं। कार्यवाही उदाहरण बनेगी।

इस घटना में शहादत देने वाले हमारे तीनों पुलिस के साथी भाई राजकुमार जाटव, धीरज भार्गव और सिपाही संतराम की शहादत व्यर्थ नहीं जाने दी जाएगी।

इन्होंने अपनी कर्तव्य की बल बेदी पर अपने आप को न्योछावर किया है। वो शिकारियों को रोकने खड़े थे।

ये कल्पना नहीं थी कि अचानक ऐसे गोली चलेगी लेकिन उन्होंने शहादत दी हैं और उन्होंने भी गोली चलाई।

इसलिए मैं उनकी शहादत का सम्मान करता हूं शहीद का दर्जा देंगे और एक- एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि उनके परिवार को दी जाएगी।

परिवार के एक सदस्य को शासकीय सेवा में लिया जाएगा, पूरे सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार होगा।

घटनास्थल पर घटना के बाद पहुंचने में देरी करने पर, मैंने ग्वालियर के आईजी को तत्काल हटाने का फैसला किया है।

विगत दिनों सिवनी जिले में हुई आदिवासी साथियों की दुखद मृत्यु और पूरे प्रकरण की जांच अब SIT करेगी

मुख्यमंत्री चौहान ने SIT का गठन कर शीघ्र जांच शुरू करने के निर्देश दिए है

मुख्यमंत्री चौहान ने घटना क्षेत्र के पुलिस थाना कुरई और चौकी बादलपार के पूरे स्टाफ को तत्काल प्रभाव से हटाने का निर्देश दिया है

मुख्यमंत्री चौहान ने सिवनी के एसपी को भी हटाने के निर्देश दिए है

नव भारत न्यूज

Next Post

मेयर के परोक्ष चुनाव से फायदे में रहेंगे विजयवर्गीय

Sat May 14 , 2022
सियासत नगरीय निकाय चुनाव 30 जून तक संपन्न कराने की घोषणा प्रदेश निर्वाचन आयोग ने की है। वैसे प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में मॉडिफाइड एप्लीकेशन लगाई है। इस पर क्या फैसला होता है यह दो-तीन दिन में पता चल जाएगा लेकिन भाजपा और कांग्रेस संगठन चुनाव के लिए तैयार […]