सोनिया ने की कांग्रेस कार्यकर्ताओं से पार्टी का कर्ज चुकाने की अपील

उदयपुर, 14 मई (वार्ता) कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं से भावुक अपील करते हुए कहा है कि कांग्रेस ने अपने सभी कार्यकर्ताओं को बहुत कुछ दिया है, इसलिए अब पार्टी का कर्ज उतारने का समय आ गया है और सभी काे मिलकर काम करना है।

श्रीमती गांधी ने शुक्रवार को पार्टी के उदयपुर में आयोजित चिंतन शिविर के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी के लंबे और सुनहरे इतिहास में आज समय आया है कि पार्टी के लोग निजी आकांक्षाओं को संगठन के हितों से जोड़कर पार्टी का कर्ज अदा करें।
उन्होंने कहा कि संगठन कैसे मजबूत हो, इसके लिए इस चिंतन शिविर में खुलकर अपनी बात इस तरह से रखनी है ताकि यहां से संगठन की मजबूती, दृढ़ निश्चय और एकता का एक मजबूत संदेश जाए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को मजबूत बनाने में पार्टी कार्यकर्ताओं का महत्वपूर्ण योगदान है।
उन्होंने कहा,“ मैं जानती हूँ कि हमारे कई साथी यहां आना चाहते थे और इस चिंतन शिविर में शामिल होना चाहते थे लेकिन कई कारणों से हमें संख्या को सीमित रखना पड़ा।
मुझे पूरा भरोसा है की वे इस बात को समझेंगे और इसका मतलब यह नहीं है कि संगठन को मजबूत बनाने में उनका योगदान किसी से कम है।”
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार इतिहास के नाम पर झूठ परोसने का काम कर रही है और हमारे महान नेताओं विशेष तौर पर पंडित जवाहरलाल नेहरू को बदनाम करने पर तुली है भाजपा उनके योगदान, उपलब्धियों और बलिदानों को एक सोची-समझी रणनीति के तहत नीचा दिखाने या उनका खंडन करने का प्रयास कर रही है, उसका मकसद राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारों और अपने वैचारिक पद पर दर्शकों का महिमा मंडन करना है।

उन्होंने कहा कि राजनीतिक दल की हैसियत से पार्टी के लिए विमर्श कर आगे का रास्ता बनाने का यह चिंतन शिविर एक अवसर है।
भाजपा की नीतियों के कारण देश का किसान पीड़ित है, युवा बेरोजगार हैं, लोगों के काम धंधे बंद हो गए हैं, दलित आदिवासियों अल्पसंख्यकों पर योजनाबद्ध तरीके से हमले हो रहे हैं।
देश की जनता के सामने आज जो असाधारण चुनौतियां हैं उनका पार्टी को असाधारण तरीके से मुकाबला करना है।

श्रीमती गांधी ने कहा कि पार्टी को न केवल जीवित रखने के लिए बल्कि आगे बढ़ने के लिए समय-समय पर अपने अंदर परिवर्तन लाने होते हैं और इस वक्त पार्टी को सुधारों की सख्त जरूरत है, इसलिए रणनीति में बदलाव लाने, ढांचागत सुधार करने और काम के तरीकों में परिवर्तन लाकर सामूहिक प्रयास से पार्टी के पुनरुत्थान के लिए काम करना है ताकि कांग्रेस नयी ऊर्जा, नयी प्रतिबद्धता और नये आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ सके।

नव भारत न्यूज

Next Post

सुब्रत रॉय को पेश करने के पटना उच्च न्यायालय के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

Fri May 13 , 2022
नयी दिल्ली,13 मई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने ‘सहारा इंडिया’ प्रमुख सुब्रत रॉय को पटना उच्च न्यायालय में पेश करने के लिए पुलिस को जारी आदेश पर शुक्रवार को रोक लगा दी। न्यायमूर्ति ए. एम. खानविलकर की अध्यक्षता वाली पीठ ने सुब्रत रॉय के खिलाफ इस मामले में आगे की कार्यवाही […]