पुलिस भर्ती दौड़ में एक और अभ्यर्थी की मौत, फिजिकल टेस्ट स्थगति

दो दिन में दो मौतें, तीसरा अस्पताल में भर्ती,उपचार जारी

जबलपुर: भीषण गर्मी के बीच पुलिस आरक्षक पद के लिए रांझी स्थित एफएएफ ग्राउंंड में चल रही शारीरिक परीक्षा के दौरान 800 की दौड़ के बाद बेहोश हुए एक और अभ्यर्थी की उपचार के दौरान मौत हो गई। उल्लेखनीय है कि आरक्षक भर्ती फिजिकल टेस्ट के दौरान जिले में दो दिन के भीतर दो उम्मीदवारों की मौत हो चुकी है। जबकि एक युवक का उपचार अब भी जारी हैं। हालांकि उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। इसी बीच  मप्र पुलिस भर्ती के लिए फिजिकल टेस्ट को दो जून तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक  प्रदेश में छठवीं बटालियन सहित प्रदेश के 6 स्थानों इंदौर, उज्जैन, भोपाल, ग्वालियर, सागर में आरक्षक की शारीरिक परीक्षा चल रही है। 10 मई को जबलपुर स्थित एसएएफ में आयोजित शारीरिक परीक्षा मेंशामिल अभ्यर्थियों में बालाघाट निवासी इंदर कुमार लिल्हारे (29) भी शामिल हुआ था। शारीरिक परीक्षा में पहले 800 मीटर की दौड़ 2.45 मिनिट में क्वालिफाइ करना होता है। इसके बाद लंबी कूद और गोला फेंक में शामिल होने का मौका दिया जाता है। इंदर कुमार लिल्हारे ने 10 मई की शाम की पाली में 800 मीटर की दौड़ पूरी की इसके बाद उसकी अचानक तबियत खराब हो गई वह दौड़ के बाद पानी पीकर बैठा, तो बहोश हो गया था। उसके नाक कान से खून निकल रहा था। उसे गंभीर हालत में शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

जहां गुरूवार सुबह 5 बजे उसकी सांसें थम गईं। इसी प्रकार मंगल वार को जबलपुर में पुलिस की सीधी भर्ती परीक्षा में अपनी किस्मत आजमा रहे वार्ड नंबर 8 छपरा, खेड़ा जिला सिवनी में रहने वाला नरेंद्र कुमार गौतम22 वर्षीय की भी दौड़ के बाद तबियत खराब हो गई थी और अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी। इस तरह दो दिनों के भीतर दो उम्मीदवारों की मौत हो गई हैं।जबकि बरेला निवासी 27 वर्षीय अभ्यर्थी शिवम सेन का उपचार जारी है। इस बीच अब पुलिस आरक्षक भर्ती के लिए चल रहे फिजिकल-टेस्ट पर रोक लगा दी गई है।
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर भीषण गर्मी को देखते हुए भर्ती प्रक्रिया पर दो जून तक रोक लगाए जाने की बात कही है।

इंजीनियरिंग की जॉब नहीं मिलने पर आरक्षक बननेे का देखा था सपना-
भोपाल से बीई की पढ़ाई कर चुका इंदरकुमार लिल्हारे परिवार का इकलौता सहारा था। उससे बड़ी दो बहने हैं, जिनकी शादी हो चुकी है। इंजीनियरिंग की जॉब नहीं मिली तो उसने आरक्षक भर्ती की प्रक्रिया में शामिल हुआ था। पिता भेड़ूलाल लिल्हारे ग्राम पंचायत सचिव हैं। इंदर कुमार लिल्हारे की मौत की खबर सुनकर मां ताराबाई समेत परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।
किडनी नहीं कर रही थी काम, यूरिन नहीं बन रहा था चचेरे भाई यशवंत के मुताबिक हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने बताया था कि इंदर कुमार लिल्हारे की किडनी काम नहीं कर रही थी। उसके शरीर में एसिड और शूगरकी मात्रा बढ़ गई थी। यूरिन नहीं बन रहा था। पुलिस के शव वाहन से पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव लेकर बालाघाट के लिए रवाना हुए।
बुधवार को सिवनी निवासी युवक की हुई थी मौत
इससे पहले बुधवार को सिवनी जिले के वार्ड नंबर 8 छपरा खेड़ा निवासी अभ्यर्थी नरेंद्र कुमार गौतम (22) को मौत हुई थी। उसकी तबियत सुबह 8 बजेकी 800 मीटर दौड़ के बाद खराब हुई थी। निजी अस्पताल पहुंचने से पहले उसने दम तोड़ दिया था। नरेंद्र भी परिवार की इकलौती संतान था। दो साल पहले उसके एक भाई की मौत हो गई थी। वहीं आखिरी उम्मीद था। पिता शंकरलाल बेटे को आरक्षक बनने का सपना लेकर साथ आया था। पर उसे बेटे के शव के साथ लौटना पड़ा।
दोनों युवकों का हार्ट फेल
बताया जाता है कि दोनों युवकों का हार्ट फेल हुआ था। जहां बुधवार को दम तोडऩे वाले 22 वर्षीय नरेंद्र गौतम को दो हार्ट अटैक आया था। वहीं गुरूवार सुबह दम तोडऩे वाले इंदर कुमार लिल्हारे को भी हार्ट अटैक आयाथा। उसके हार्ट में खून की बड़ी मात्रा में रिसाव हुआ था। तेज गर्मी के चलते भी बीपी की समस्या बढ़ी है। वहीं कोविड के प्रभाव से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। दम तोडऩे वाले युवकों में एक संक्रमित रह चुका है। कोविड की दूसरी लहर में संक्रमित के संपर्क में आने पर होम आइसोलेशन में था।

नव भारत न्यूज

Next Post

मोदी आज मप्र स्टार्टअप नीति का वर्चुअल शुभारंभ करेंगे

Fri May 13 , 2022
इंदौर, 13 मई (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज शाम मध्यप्रदेश स्टार्टअप नीति का वर्चुअल शुभारंभ कर स्टार्टअप कम्युनिटी को संबोधित भी करेंगे। प्रधानमंत्री द्वारा स्टार्टअप पोर्टल की लॉन्चिग भी की जाएगी। आधिकारिक जानकारी के अनुसार इन्दौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में स्टार्टअप कॉन्क्लेव-2022 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान चुनिंदा स्टार्टअप्स […]