गंगाजल पेकेण्ड़ ड्रिंकिंग वाटर प्लांट को किया सीज

बिना पंजीयन एवं लाइसेंस के संचालित हो रही थी फैक्ट्री, औषधि खाद्य व पुलिस की संयुक्त कारवाई

सिंगरौली : खाद्य औषधि विभाग के द्वारा कलेक्टर के निर्देश पर चलाए जा रहे मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत खाद्य एवं पुलिस विभाग की संयुक्त टीम ने गढ़वा थाना क्षेत्र के ग्राम पौड़ी में संचालित गंगाजल पेकेण्ड़ ड्रिंकिंग वाटर प्लांट में छापामार कार्रवाई करते हुए फैक्ट्री को सीज कर दिया है।दरअसल सिंगरौली कलेक्टर के निर्देश पर खाद्य एवं औषधि निरीक्षक ओपी साहू एवं पुलिस की संयुक्त टीम ने गढ़वा थाना क्षेत्र के पौड़ में संचालित गंगाजल पेकेण्ड ड्रिंकिंग वाटर की फैक्ट्री में छापा मार कार्रवाई करते हुए यह पाया कि उक्त फैक्ट्री बिना पंजीयन एवं लाइसेंस के संचालित हो रही थी ।

मौके पर 50 बोरी में पाउच से भरी पाई गई। जिनमें 100-100 पाउच रखे हुए थे। पाउच में पैकिंग करने वाले का पता भी कनिस वाटर सप्लायर उत्तर प्रदेश लिखा पाया गया। जबकि पाउच पौड़ी पैक किए जा रहे थे । जिस पर खाद्य औषधि निरीक्षक ओपी साहू ने उक्त फैक्ट्री को सीज करते हुए पानी पाउच के नमूने जांच हेतु राज्य खाद्य प्रयोगशाला भोपाल के लिए भेजा है । इस संबंध में कार्रवाई के दौरान खाद्य औषधि निरीक्षक ओपी साहू ने बताया कि पानी पाउच बाटल निर्माण के लिए बीआईएस से आईएसआई लेना आवश्यक है ।

इसके बाद खाद्य सुरक्षा विभाग से फसाई लाइसेंस लेना आवश्यक है। उक्त फैक्ट्री मालिक के विरुद्ध खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के तहत कार्रवाई की गई है। आगे खाद्य व औषधि निरीक्षक ने बताया कि अभी तक जिले में संचालित अवैध रूप से पेकेण्ड ड्रिंकिंग वाटर के चार प्लांट सीज किए जा चुके हैं । आगे भी ऐसे बिना लाइसेंस के वाटर प्लांटो पर कार्रवाई जारी रहेगी। उक्त कार्रवाई में अनिल उपाध्याय टी आई, सब इंस्पेक्टर बंसल, रामनिवास द्विवेदी, अरविंद, नरेंद्र, मुकेश, सैनिक तेजबली सिंह का योगदान सराहनीय रहा।

नव भारत न्यूज

Next Post

रीवा-हनुमना हाईवे में युवक को अज्ञात वाहन ने कुचला

Fri May 13 , 2022
सौ मीटर घसिटने के बाद हुई मौत रीवा: जिले से गुजरने वाले नेशनल हाईवे 135 रीवा-हनुमना मार्ग में लगातार दूसरे दिन वीभत्स दुर्घटना हुई है. इस हादसे में एक हलवाई की मौके पर मौत हो गई. सुबह हादसा देख आसपास के राहगीरों ने मनगवां पुलिस को सूचना दी. जानकारी के […]