माइनिंग कॉलेज में 95 स्वीकृत पदों पर होगी नियुक्ति

खनन प्रौद्योगिकी में 120 सीट की होगी क्षमताए, 12वीं पास के बाद मिलेगा प्रवेश

सिंगरौली :राज्य शासन द्वारा मंत्री परिषद के आदेश के अनुसार जिला मुख्यालय सिंगरौली में नवीन खनिज प्रौद्योगिकी संस्थान की स्थापना एक संकाय के साथ वर्ष 2023 से प्रारंभ करने के लिए शैक्षणिक 33 पद तथा गैर शिक्षकिय के 62 सहित कुल 95 पदों के सृजन की स्वीकृति एवं अपेक्षित आवर्ती व्यय के वित्तीय प्रावधान की इजाजत दी गई है।गौरतलब हो कि जिला मुख्यालय बैढऩ सिंगरौली में माइनिंग कॉलेज खोले जाने की मांग को लेकर सिंगरौली विधायक राम लल्लू वैश्य , सांसद रीति पाठक सहित अन्य जनप्रतिनिधि लगातार मुख्यमंत्री से मांग करते आ रहे थे । 4 मई को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के कैबिनेट में सिंगरौली में माइनिंग कॉलेज खोले जाने की स्वीकृति मिल गई थी ।

जहां मध्यप्रदेश शासन द्वारा मंत्री परिषद के आदेश का हवाला देकर अपर सचिव मध्यप्रदेश शासन तकनीकी शिक्षा कौशल विकास एवं रोजगार विभाग में स्वीकृत नवीन खनन प्रौद्योगिकी के पदों का सृजन कर आदेश जारी किया है। जिसमें प्राचार्य, माइनिंग इंजीनियरिंग , प्राध्यापक, एसोसिएट प्राध्यापक, सहायक प्राध्यापक, टीपीओ , प्राध्यापक बेसिक साइंसेज एंड ह्यूमैनिटीज, भौतिक, रसायन, गणित, अंग्रेजी, कर्मशाला अधीक्षक, सहायक कर्मशाला अधीक्षक, लाइब्रेरियन, फि जिकल ट्रेनिंग इंस्ट्रक्टर सहित कुल 33 , गैर शिक्षकीय के पद लैब टेक्नीशियन, लैब असिस्टेंट , वर्कशॉप इंस्ट्रक्टर, लैब अटेंडेंट, डाटा एंट्री ऑपरेटर, मेंटेनेंस टेक्नीशियन, इंस्ट्रूमेंट रिपेयरर , इलेक्ट्रीशियन, स्किल्ड असिस्टेंट, स्टेनोग्राफ र, लाइब्रेरी क्लर्क , ग्रेड 2 लिपिक, रिकॉर्ड कीपर , अकाउंटेंट , स्टोर कीपर , ग्रेड 3 लिपिक तथा चतुर्थ श्रेणी स्टॉप कलेक्टर दर पर आउट सोर्स सृजन पदों में चपरासी, चौकीदार, स्वीपर , माली, वाटरमैंन हम्माल, छात्रावास हेतु स्टाफ में केयरटेकर, मेट्रन, इलेक्ट्रीशियन, मेंटेनेंस टेक्नीशियन शामिल है ।

इनकी कुल संख्या 62 है। इधर आगे बताया गया है कि खनन प्रौद्योगिकी संस्थान पर आपेक्षित आवर्ती व्यय लगभग 6.8 करोड़ प्रतिवर्ष संभावित है। भवन निर्माण एवं उपकरणों हेत अपेक्षित अनावर्ती में लगभग 76.56 करोड संभावित है । जिसमें एनसीएल सिंगरौली के सीएसआर से आपेक्षित अनावर्ती व्यय 76 .56 करोड रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है। वित्तीय वर्ष 22-23 के लिए 10 करोड़ रुपए का प्रावधान भी कर दिया गया है । जहां उक्त राशि 3 से 4 वर्षों के दौरान व्यय की जाएगी। साथ ही भूमि प्रावधान के संबंध में अवगत कराया गया है कि सिंगरौली में खनन नवीन प्रौद्योगिकी संस्थान की स्थापना के लिए कलेक्टर सिंगरौली के पत्र एवं दिनांक 11 दिसंबर 2017 को पारित एवं घोषित आदेशानुसार 163.25 एकड़ भूमि का आवंटन किया गया है। फिलहाल जिले में नवीन खनन प्रौद्योगिकी की मंजूरी मिलने एवं पदों के सृजन किए जाने को लेकर सिंगरौली के युवाओं में प्रदेश सरकार एवं क्षेत्रीय भाजपा जनप्रतिनिधियों के प्रति आभार व्यक्त किया है।

नव भारत न्यूज

Next Post

दिव्यांग के साथ गैंगरेप, चार आरोपी धराये

Fri May 13 , 2022
बरगवां पुलिस की कार्रवाई सिंगरौली : बरगवां पुलिस ने छत्तीसगढ़ प्रांत के दिव्यांग युवती के साथ गैंगरेप करने वाले 4 आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ प्रांत की एक दिव्यांग युवती को मोबाइल के माध्यम से आरोपियों ने सरई इलाके में […]