केके स्पन कंपनी के 5 करोड़ बैंक गारंटी का मामला ठण्डे बस्ते

कलेक्टर से भी हुई थी शिकायत, ननि के जबावदेह अधिकारियों पर क्या हुई कार्रवाई कोई पता नहीं

सिंगरौली :  नगर पालिक निगम सिंगरौली के सिवरेज कार्य में लगी व मौजूदा टर्बिनेट केके स्पन कंपनी के 5 करोड़ रूपये परफार्मेंस बैंक गारंटी रिटर्न किये जाने के कार्रवाई का मामला ठण्डे बस्ते में चला गया है। जबकि इसकी शिकायत कलेक्टर से भी की गयी थी।गौरतलब हो कि नगर पालिक निगम सिंगरौली में वर्ष 2017 में सिवरेज पाईप लाईन का कार्य केके स्पन कंपनी को सौंपा गया था। जिसकी कुल लागत 110 करोड़ 46 लाख रूपये थी। लेकिन बिडम्बना है कि कार्य उक्त कंपनी द्वारा तकरीबन 32.65 प्रतिशत ही कर पाया।

हैरानी की बात है कि कार्य के एवज में केके स्पन कंपनी ने 5 करोड़ रूपये बतौर बैंक गारंटी के रूप में ननि को दिया था। सूत्र बताते हैं कि नगर निगम के अधिकारियों ने 5 करोड़ रूपये परफार्मेंस बैंक गारंटी की रकम को वर्ष 2020 माह सितम्बर, अक्टूबर में रिटर्न कर दिया था। जबकि नियमानुसार बैंक गारंटी रिटर्न तक की जाती है। जब कार्य पूर्ण हो जाये और 5 साल तक ठीक-ठाक रहे। किन्तु ननि के साहब लोगों ने उक्त संविदा कंपनी पर दरियादिली दिखाते हुए टर्बिनेशन के डेढ़ साल पहले ही 5 करोड़ रूपये बैंक गारंटी रिटर्न कर दिया। ननि अधिकारियों के इस कारनामे की जानकारी कलेक्टर को भी दी गयी। लेकिन अभी तक इस पर क्या कार्रवाई हुई। जिम्मेदार अधिकारी बताने को तैयार नहीं हैं।
कार्रवाई से परहेज क्यों?
केके स्पन कंपनी पर नगर निगम के अधिकारियों ने इतनी बड़ी दरियादिली क्यों दिखाया? जब उक्त संविदा कंपनी को टर्बिनेट नहीं किया गया था और सिवरेज का कार्य भी चल रहा था। फिर टर्मिनेशन के डेढ़ साल पहले ही परफार्मेंस बैंक गारंटी 5 करोड़ रूपये वापस क्यों कर दी गयी। ननि आयुक्त ने सफाई दिया था कि उक्त संविदा कंपनी का 7 करोड़ रूपये अभी भी ननि के पास है। जबकि यह रकम ईमाइलेजेशन के रूप में है। इसे बैंक गारंटी के रूप में क्यों माना जा रहा है। अब नगर निगम में ही चर्चा है कि 5 करोड़ रू.केके स्पन कंपनी को कार्य करने के पूर्ण करने के पूर्व क्यों वापस कर दी गयी और अब उक्त कंपनी को टर्मिनेट भी कर दिया गया है। घटिया कार्यों के रकम की वसूली कैसे की जावेगी। अभी तक ननि के अधिकारी यही पता लगा रहे हंै कि उक्त जानकारी मीडिया कर्मियों को कैसे पहुंची। शक की सुई ननि के निलंबित सहायक यंत्री की ओर घूम रही है।

नव भारत न्यूज

Next Post

वनवासियों को जंगल की मालिकी दिलवाने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य: शाह

Fri Apr 22 , 2022
भोपाल, 22 अप्रैल (वार्ता) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मध्यप्रदेश, वनवासियों को वन क्षेत्र का मालिक बनाने वाला देश का पहला राज्य है। श्री शाह आज जंबूरी मैदान में वन समितियों के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश ने यह युग परिवर्तनकारी कार्य […]