सुविधायुक्त बस स्टैण्ड की नहीं लड़े लड़ाई, नामकरण की लड़ रहे लड़ाई

 नवभारत मुहिम ने प्रमुखता से उठाया था सुविधायुक्त नवीन बस स्टैण्ड का मुद्दा, सर्वसुविधायुक्त नवीन बस स्टैण्ड का हो चुका है निर्माण

सीधी :  जिला मुख्यालय में सुविधायुक्त नवीन बस स्टैण्ड का निर्माण पूर्ण होने के साथ ही डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी अंतर्राज्यीय बस स्टैण्ड सीधी का नामकरण भी हो चुका है। बिडम्बना यह है कि सुविधायुक्त बस स्टैण्ड के निर्माण को लेकर काफी विलम्ब हुआ और उस दौरान बस स्टैण्ड के निर्माण को लेकर लड़ाई लडऩे के लिये कोई भी आगे नहीं आया। अब जब बस स्टैण्ड का निर्माण कार्य हो चुका है तो नामकरण की लड़ाई लडऩे के लिये लोगों ने मोर्चा खोल दिया है।

बताते चलें कि वर्ष 2014 में शहर के बाजार क्षेत्र में स्थित सोनांचल बस स्टैण्ड को भारी वाहनों के चलते यातायात में भारी अवरोध होने के कारण तत्कालीन कलेक्टर सुश्री स्वाती मीणा एवं तत्कालीन पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन द्वारा बंद कर दिया गया था। जिसके बाद सुविधाविहीन राज्य परिवहन के डिपो परिसर में वैकल्पिक बस स्टैण्ड का संचालन शुरू कर दिया गया था। वर्ष 2014 से कई वर्ष तक सुविधाविहीन बस स्टैण्ड में यात्रियों एवं बस संचालकों की समस्या को देखते हुए नवभारत ने मुहिम चलाकर स्थानीय प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों सहित मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया गया। परिणाम स्वरूप मुख्यमंत्री द्वारा नवीन बस स्टैण्ड की घोंषणा की गई। लेकिन निर्माण शुरू नहीं हो सका। नवभारत मुहिम में इस समस्या को उठाने का क्रम जारी रहा। आखिर 25 अक्टूबर 2019 को सुविधायुक्त बस स्टैण्ड निर्माण का भूमिपूजन किया गया।

मिनी स्मार्ट सिटी के बजट से शहर के दक्षिणी करौंदिया पानी टंकी के पास नवीन बस स्टैण्ड का निर्माण कार्य 5.50 करोड़ की लागत से कराया जा चुका है। अब इसके उद्घाटन का लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। नवीन बस स्टैण्ड के नामकरण की प्रक्रिया भी निगरानी समिति की बैठक मेंं लिये गये निर्णय अनुसार नवीन बस स्टैण्ड का नाम डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी अंतर्राज्यीय बस स्टैण्ड रखा गया है। बस स्टैण्ड का नाम सार्वजनिक होते ही इसका विरोध शुरू हो गया है। जिले के युवाओं, समाजसेवियों एवं विभिन्न राजनैतिक दलों के द्वारा सोशल मीडिया में इसका जमकर विरोध किया जा रहा है। लोगों की मांग है नवीन बस स्टैण्ड का नाम जिले के बड़े दिवंगत जनप्रतिनिधियों या महान हस्तियों के नाम पर किया जाना चाहिए, जिनसे जिले की पहचान है। उधर प्रशासन की ओर से जिला निगरानी समिति मेंं लिये गये निर्णय अनुसार डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी अंतर्राज्यीय बस स्टैण्ड के नाम पर अंतिम मुहर लग चुकी है।

नवीन बस स्टैण्ड की सुविधाओं पर नजर
शहर के नवीन बस स्टैण्ड का निर्माण करीब 5.50 करोड़ की लागत से 16622 वर्ग मीटर क्षेत्र में किया गया है। यहां एक साथ 34 बस रूक सकती हैं। वहीं 15 बसें पार्क की जा सकती हैं। यात्रियों के लिए उत्कृष्ट गुणवत्ता का यात्री प्रतीक्षालय, रेस्टोरेंट के साथ 18 दुकानों का निर्माण कराया गया है। दुकानों को नीलामी के आधार पर उपलब्ध कराया जायेगा। बस स्टैण्ड में बाहरी पार्किंग व्यवस्था में चार पहिया और दो पहिया वाहनों के लिये स्थान निर्धारित है। महिला-पुरूषों के लिये अलग-अलग प्रसाधन, टिकट व जानकारी के लिए काउंटर बनाये गये हैं।

नव भारत न्यूज

Next Post

मीना कुमारी का किरदार निभायेगी कृति सैनन!

Sun Mar 27 , 2022
मुंबई, (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री कृति सैनन सिल्वर स्क्रीन पर मीना कुमारी का किरदार निभाती नजर आ सकती हैं। बॉलीवुड में चर्चा है कि महान अभिनेत्री मीना कुमारी के जीवन पर फिल्म बनायी जाने वाली है। यह फिल्म टी-सीरीज के बैनर तले बनाई जाएगी। चर्चा है कि इस फिल्म में कृति […]