राज्य स्तर पर कैरियर मेले का आयोजन

भोपाल, 07 मार्च (वार्ता) मध्यप्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि पढ़ाई के साथ ही रोजगार का लाभ देने के लिए कैरियर मेले का आयोजन सराहनीय कदम है। कैरियर मेले में विद्यार्थियों के लिये एक सुनहरा अवसर है। डॉ. यादव आज सरोजिनी नायडू शासकीय कन्या स्नातकोत्तर (स्वशासी) महाविद्यालय में जिला स्तरीय “कैरियर अवसर मेले” का शुभारंभ कर यह बात कही। उन्होंने कहा कि पूर्व में कैरियर मेले में तकनीकी क्षेत्र के बच्चों को प्राथमिकता मिलती थी। अब यह व्यवस्था बदल रही है। उच्च शिक्षण संस्थानों में भी प्लेसमेंट सेल के माध्यम से युवाओं को अपने कैरियर में मदद मिल रही है। उन्होंने कहा कि सरोजिनी नायडू महाविद्यालय को नैक से एक ग्रेड प्राप्त है। ए ग्रेड पाने के लिए हर संभव मदद करने के लिए शासन तैयार है। डॉ. यादव ने कहा कि जिला स्तरीय कैरियर मेले में 10 बच्चों का चयन कर राज्य स्तरीय कैरियर मेले का आयोजन करें।
जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश अव्वल रहा है। इससे शिक्षा में वृहद परिवर्तन देखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद कैरियर मार्गदर्शन योजना में लगभग ढाई लाख विद्यार्थियों को रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यह बड़ा लक्ष्य है। उन्होंने छात्राओं से जल की बर्बादी को रोकने का संकल्प लेने की बात करते हुए कहा कि जीवन में हर चीज का विकल्प है परन्तु पानी का विकल्प नहीं है, अत: पानी बचाएँ।
सरोजिनी नायडू महाविद्यालय की प्राचार्य श्रीमती प्रतिभा सिंह ने बताया कि कैरियर मेले में जिले के विभिन्न महाविद्यालय से 750 छात्र-छात्राओं ने पंजीकरण कराया है। विभिन्न क्षेत्रों से 22 कंपनियों ने मेले में सहभागिता की है। इसमें नेटलिंक, एक्सिस बैंक, दावत फुड्स, मेगनम ग्रुप, पेटीएम आदि कंपनियाँ शामिल हैं। इस अवसर पर मंत्री द्वय ने महाविद्यालय परिसर में लगे स्टॉल का अवलोकन भी किया।

नव भारत न्यूज

Next Post

दोनों पक्षों की तबाही

Tue Mar 8 , 2022
यूक्रेन पर रूसी हमले को सोमवार को 12 दिन हो गए हैं. रूसी हमले से पूरा यूक्रेन करीब-करीब तबाह हो गया है. रूस का भी भारी नुकसान हुआ है. दावा यह किया जा रहा है कि 10,000 से अधिक रूसी सैनिक मारे गए हैं. रूस के 46 फाइटर जेट भी […]