महाशिवरात्रि पर शहर हुआ शिवमय

अचलेश्वर पर शानदार रोशनी, सिद्धेश्वर मंदिर में रूद्रभिषेक, सड़कों पर लगे बैरीकेड्स, रात 12 बजे से ही डायवर्ट कर दिया गया ट्रैफिक
ग्वालियर:  आज महाशिवरात्रि सोमवार की रात 12 बजे से भगवान भोलेनाथ के अभिषेक के साथ ही प्रारंभ हो गई है। विद्वानों के अनुसार मंगलवार को महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव का अभिषेक करने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहेगी। अचलेश्वर महादेव मंदिर, गप्तेश्वर महादेव मंदिर, कोटेश्वर महादेव मंदिर समेत शहर के प्रमख शिवालयों में भक्तों की भारी भीड़ लगी है। पूरा शहर शिवमय हो गया है। लगभग 1 हजार से अधिक पुलिस के जवान व अधिकारी शहर में सुरक्षा की कमान संभाल रहे हैं। शहर के प्रमुख शिवालयों के पास ट्रैफिक प्लान पहले से ही तैयार है। अचलेश्वर रोड नो व्हीकल जोन कर दिया गया है।

रात 12 बजे से ही अचलेश्वर पर शिवभक्तों की लाइन लगना शुरू हो गई। इस मार्ग पर आने वाले यातायात को वैकल्पिक मार्ग से निकाला जा रहा है। इसी तरह गुप्तेश्वर मंदिर के रास्ते पर हैवी ट्रैफिक प्रतिबंधित है। कोटेश्वर मंदिर रोड पर भी ट्रैफिक डायवर्ट किया गया है। महाशिवरात्रि के लिये अचलेश्वर महादेव मंदिर को फूलों व रंगीन लाइटस से सजाया गया है। यहां रात 12 बजे बजे से शिवभक्तों के लिये पट खोल दिये गए। महाशिवरात्रि पर 100 क्विंटल आलू, 50 क्विंटल साबूदाना, 10 क्विंटल फ्रूट चाट से अचलनाथ का छप्पन भोग लगाया गया। भोलेनाथ का गंगाजल से अभिषेक करने के लिये गंगाजी से कांवर भरकर लाई गई है। फाल्गुन कृष्णपक्ष चतुर्दशी महाशिवरात्रि भगवान शंकर का अत्यंत महत्वपूर्ण व्रत है।आज श्री सिद्धेश्वर हनुमानजी मंदिर में रूद्रभिषेक प्रातः 5 से 7 बजे तक किया गया। वहीं इसके बाद प्रसादी वितरित की गई।

नव भारत न्यूज

Next Post

प्रशासन की टास्क फोर्स पहुंची चंबल में, नष्ट किया 100 ट्राली रेत

Tue Mar 1 , 2022
मुरैना:  जिला प्रशासन ने रेत माफिया के खिलाफ मोर्चा खोलने के संकेत दे दिए हैं। जिला प्रशासन के निर्देश पर गठित टॉस्क फोर्स जौरा के चंबल क्षेत्र में मौजूद गांव गुड़ा पहुंची तथा वहां माफिया द्वारा डंप किया रेत नष्ट किया। इस मौके पर एसडीएम व एसडीओपी सहित अन्य अधिकारी […]