सागर, दमोह तथा छतरपुर जिलें में दूषित पानी की सप्लाई को चुनौती हाईकोर्ट ने मांगा जवाब

सागर, दमोह तथा छतरपुर जिलें के290 गांव में दूषित पानी की सप्लाई
हाईकोर्ट ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब
जबलपुर। बक्सवाहा जलापूर्ति योजना के तहत सागर, दमोह तथा छतरपुर जिलें के290 गांव में दूषित पानी की सप्लाई किये जाने को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की गयी है। याचिका में कहा गया है किदूषित पानी की सप्लाई से हजारों लोग के जीवन को खतरा है। याचिका की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट जस्टिस शील नागू तथा जस्टिस एमएस भटटी की
युगलपीठ ने अनावेदकों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।
यह जनहित याचिका तमिलनाडू निवासी कन्नन स्वामीनाथम की ओर से दायर की गईहै। जिसमें कहा गया है कि वह टीयूीव-एसयूडी साउथ एशिया प्राइवेज कंपनीमें रेंजीडेंसल इंजीनियर के तौर पर कार्यरत था। उक्त कंपनी एक अंतर्राष्ट्रीय कंपनी है और जिसका पुणे में मुख्यालय है। कंपनी का मध्यप्रदेश जल नियम मर्यादित जो एक स्वशासकीय संस्था है, से अनुबंध हुआ था।
अनुबंध के अनुसार उसकी कंपनी को गुणवक्ता व पर्यवेक्षण के संबंध मेंअपना अभिमत देना था। बक्सवाहा जल परियोजना के तहत मध्य प्रदेश के सागर, दमोह तथा छतरपुर जिले के 290 गांव में पानी की सप्लाई की जानी थी। जिसका ठेका एलएण्डटी कंपनी को दिया गया है। कंपनी ने पाईप लाईन लगाने मेंभारतीय मानक नियमों को पालन नहीं किया। इसके अलावा आरोप है किगुणवक्ताहीन सामग्री को प्रयोग किया गया और गलत तरीके से पाईप लाईन डाली गई। तमाम अनियमित्ताओं के कारण उसने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।
इस्तीफ देने के बाद तमाम अनियमित्ताओं की जांच करने सागर संभागायुक्त कीअध्यक्षता में तकनीकि विशेषज्ञ की तीन सदस्यीय टीम गठित किये जाने के संबंध में अभ्यावेदन दिया था। अभ्यावेदन पर सक्षम अधिकारियों द्वारा कोईकार्यवाही नहीं किये जाने के कारण उक्त याचिका दायर की गयी है। याचिकामें कहा गया है कि अमानक तरीके से बिछाई गयी पाईप लाईन में लीकेज होने केकारण लोगी को दूषित पानी की सप्लाई हो रही है। जो उनके स्वास्थ के लिए हानिकारक है और सरकार की राशि का दुरूपयोग किया गया है। याचिका की सुनवाईके बाद युगलपीठ ने अनावेदक संबंधित कंपनी, राज्य सरकार तथा मप्र जल निगम मर्यादित को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इसके अलावा याचिकाकर्ता के अभ्यावेदन के निराकरण के आदेश जारी कर अगली सुनवाई 6 सप्ताह बादनिर्धारित की है। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता मुकेश कुमार अग्रवाल तथाअधिवक्ता उत्कृष्ट अग्रवाल ने पैरवी की।

नव भारत न्यूज

Next Post

ब्राजील में बारिश से मची तबाही, 185 लोगों की मौत

Wed Feb 23 , 2022
ब्रासीलिया, 23 फरवरी (वार्ता/स्पूतनिक) ब्राजील में रियो डी जनेरिया के उत्तरी पेट्रोपोलिस शहर में मूसलाधार बारिश से आई बाढ़ और उसके बाद हुए भूस्खलन से मरने वालों की संख्या बढ़कर 185 हो गई है। स्थानीय प्रशासन ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। रियो डी जनेरियो राज्य के अग्निशमन विभाग ने […]