रत्न जैसा पत्थर, राजस्थान-गुजरात से भी आ रहे खरीददार

एक पत्थर की कीमत एक से दो हजार रुपए, टोलियां बनाकर लोग कर रहे खुदाई.

15 दिनों में बिक चुका है लाखों का पत्थर.

तेंदूखेड़ा(दमोह):  सागर के बाद दमोह में भी चमकीले पत्थरों की खुदाई शुरू हो गई है, लोग इन्हें रत्न मान रहे हैं .

तेंदूखेड़ा नगर से लगभग 35 किलोमीटर दूर जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत बोरिया के पास मध्यप्रदेश शासन की वीरान बंजर भूमि पर ऐसे अमूल्य बेशकीमती गोल पत्थर निकल रहे हैं , जिन्हें खरीदने के लिए दूर दूर से लोग इस जगह पहुंच रहे हैं . ऐसे छोटे छोटे गोल आकार के मोती के समान प्राचीन पत्थर निकल रहे हैं जिनकी अंर्तराष्ट्रीय बाजार में कीमत काफी है . यह पत्थर यहां की धरती पर एक से दो फुट भूमि खोदने पर लोगों को मिल रहे है . लोग इस पत्थर को बेचकर कमाई कर रहे है . यह बेशकीमती पत्थर गोलाकार एवं इनके बीच में छेद है . इनकी खरीदी करने आए ग्राहकों ने बताया कि यह काफी कीमती पत्थर है इस खुदाई कार्य में लगभग हजारों लोग लगे हुए हैं . इस बात की जानकारी प्रदेश सहित अन्य प्रदेशों के लोगों को पड़ गई है लेकिन प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं है . तारादेही पुलिस को भी इस बात की जानकारी है. वह भी मौका स्थल पर कई बार होकर वापस आ गई है. लेकिन वास्तविकता क्या है,इसका खुलासा नहीं हो पा रहा है.

आदिवासी को खुदाई में मिले थे यह पत्थर

दरअसल 15 दिन पहले एक आदिवासी युवक सरकारी जमीन पर मिट्टी खोद रहा था . उसे खुदाई में छोटे आकार के चमकीले गोल पत्थर मिले जब उसने गांव में आकर इन्हें दिखाया तो ग्रामीणों ने इन्हें रत्न करार दिया . इसके बाद बंजर पड़ी भूमि पर खुदाई करने वालों की भीड़ लगने लगी . 20 एकड़ के दायरे में बोरिया गांव और आसपास के लोग परिवार सहित टोलियां बनाकर गेती फावड़ा लेकर दिनभर खुदाई करके पत्थर निकालने में लगे हैं . अलग अलग जगह जंगल क्षेत्र में लोग खुदाई कर रहे हैं. यह पत्थर गोल एवं मोती के आकार का है .

 

इन बेशकीमती बहुमूल्य रत्नों को सागर ,जबलपुर ,दमोह ,नरसिंहपुर , छतरपुर , टीकमगढ़ के साथ ही भोपाल व राजस्थान और गुजरात के लोग इस ग्राम में पहुंच रहे हैं और गरीबों से पत्थर माटी के मोल खरीद कर ले जा रहे हैं .

क्या कहते हैं खरीदार 
एक ग्रामीण से जबलपुर के इदरीश ने चमकीला पत्थर खरीदा है उनका कहना है कि पत्थर के बारे में नहीं पता है देखने में अच्छा था इसलिए दो हजार में खरीद लिया है.
– सागर से पत्थर खरीदने आए गोलू तिवारी ने बताया कि यह पत्थर काफी प्राचीन है और मोती के समान है अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी अच्छी कीमत मिलेगी .

इनका कहना है

इस संबंध में तेंदूखेड़ा एसडीएम अंजली द्विवेदी ने बताया कि खनिज अधिकारी को सूचना भेज दी है विभाग ने इस संदर्भ में कोई कार्रवाई नहीं की है रिपोर्ट कलेक्टर को भी भेजी है . दमोह कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य ने कहा कि खनिज अमले को भेजकर वास्तविक स्थिति पता करेंगे.

नव भारत न्यूज

Next Post

आशीर्वाद की जगह जन परेशानी यात्राः कांग्रेस

Fri Aug 20 , 2021
भाजपा नेताओं पर प्रकरण दर्ज करने की मांग इंदौर:  प्रशासन द्वारा दी गई यात्रा की अनुमति का किसी तरह पालन नही हुआ है,भाजपा नेताओं पर मुकदमा दर्ज किया जाएं. शहर में निकली जन आशीर्वाद यात्रा में जनता इस हद तक परेशान किया कि,त्यौहार पर खरीदी करने जाने वाले लोगों को […]