स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर का मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में निधन

मुंबई, 06 फरवरी (वार्ता) स्वर साम्राज्ञी एवं भारत रत्न लता मंगेशकर का रविवार सुबह आठ बजकर 12 मिनट में यहां ब्रीच कैंडी अस्पताल में निधन हो गया। वह 92 वर्ष की थी।
स्वर कोकिला मंगेशकर को कोरोना की बीमारी के कारण 08 जनवरी को ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बीच में उनकी तबियत ठीक हो गयी थी लेकिन शनिवार को अचानक उनकी तबियत बहेद खराब होने के बाद उन्हें फिर से वेंटिलेटर में रखा गया था और शाम को उनका इलाज कर रहे डाॅक्टर प्रतीत समदानी ने बताया था कि दवा अपना असर कर रही है लेकिन आज सुबह उनका निधन हो गया।
स्वर सम्राज्ञी का हाल जानने के लिए कल से ही लोग अस्पताल पहुंच रहे थे। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे सबसे पहले उनका हाल जानने के लिए गये थे और उसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की पत्नी भी अस्पताल गयी थी। आज उनका हाल जानने के लिए केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी आने वाले थे।
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, फिल्म अभिनेता धर्मेंद्र, गायक उदित नारायण, बांसुरी बादक हरि प्रसाद चौरसिया ने सुश्री मंगेशकर के निधन पर दुख जताया है।
श्री नितिन गडकरी ने कहा कि सुश्री लता जी ने संगीत को एक नयी ऊंचाई प्रदान की। लता दी करोड़ों लोगों के प्रेरणा स्रोत बनी रहेंगी।
फिल्म अभिनेता रजा मुराद ने कहा कि पिछले 80 वर्ष से सुश्री लता जी लोगों के कानों में रस घोलती थी हम सब उनके ऋणी हैं। उनके आवाज में एक जादू था, जो भी उनके गाने सुनता था वह मंत्रमुग्ध हो जाता था। उन्होंने कहा कि जैसे हमारे देश में धरती का स्वर्ग कहे जाना वाला कश्मीर है और एक ताजमहल है उसी तरह एक लता मंगेशकर हैं। उनके कंठ में माँ सरस्वती का वास था। उन्हाेंने कहा कि हमने संगीत जगत का कोहिनूर खो दिया। लता जी जैसे कोई नहीं।
स्वर सम्राज्ञी लता के निधन पर दो दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है। उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा।हेमा मालिनी ने कहा कि मेरी फिल्मी करियर में लता दीदी का बड़ा योगदान है क्योंकि उनकी आवाज मेरे फिल्मों में होने से काफी मदद मिलती थी। वे आज हमारे बीच नहीं हैं। हमारी उनकी व्हाट्सएप पर बातचीत होती रहती थी। वे मुझे कहती थी कि उनको मेरा नृत्य बहुत पसंद था और मुझे उनकी आवाज बहुत पसंद थी उन पर तो सरस्वती का वरदान था, उनको आज पूरी दुनिया याद कर रही है।
सुश्री लता जी के बचपन का नाम हेमा मंगेशकर था। फिल्म अभिनेता धर्मेंद्र ने कहा कि सुश्री लता जी एक महान गायिका थी हम लोग उनके सामने बहुत छोटे कलाकार हैं। गायिका शुभा मुद्गल ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है।
सुश्री लता मंगेशकर ने फिल्मों में हर दौर की मशहूर अभिनेत्रियों के लिए गाना गया था। उन्होंने मधुबाला से माधुरी दीक्षित तक के लिए गाने गाये थे। स्वर कोकिला का का अंतिम संस्कार आज शाम शिवाजी पार्क में किया जायेगा

नव भारत न्यूज

Next Post

सरहा आंगनबाड़ी केन्द्र में कार्यकर्ता की भर्ती निरस्त

Sun Feb 6 , 2022
बारिश दलहनी,तिलहनी फसलों के लिए नुकसानदेय, किसानों के माथे पर छाई चिंता की लकीरें, गेंहू, जौ फसलों के लिए फायदेमंद हैं  सिंगरौली : देवसर महिला एवं बाल विकास परियोजना क्षेत्र के सरहा आंगनबाड़ी केन्द्र के कार्यकर्ता की भर्ती को निरस्त कर दिये जाने की खबर है। हालांकि इसकी पुष्टि आईसीडीएस […]