घूसखोर बी एमओ रिश्वत लेते रंगे हाथो गिरफ्तार

15000 की रिश्वत लेते हुए ट्रैप

 दमोह:  घूसखोरी का संक्रमण कोरोना से ज्यादा तेजी से फैलता नजर आ रहा है, छोटे से शहर दमोह एक सप्ताह के भीतर दूसरे बड़े अधिकारी को लोकायुक्त पुलिस सागर ने एक वरिष्ठ पत्रकार से ही रिश्वत लेते हुए रंगे हाथो गिरफ्तार किया है. मप्र में भ्रष्टाचार के आंकड़े चोकाने वाले हैं कोरोना काल में ये भ्रष्टाचार का संक्रमण अब अस्पतालों में भी तेजी से फैल रहा है इसमें भगवान का दर्जा पा चुके सरकारी डॉक्टर भी कारगुजारी में पीछे नहीं हैं.

इनकी भ्रष्टाचार पर पकड़ उस समय कमजोर हो गई, जब इन्होंने दमोह के एक वरिष्ठ पत्रकार से ही एक कोराेना वाहन के बिल के एवज में दस परसेंट रिश्वत की मांग कर डाली और पंद्रह हजार की राशि लेते रंगे हाथो गिरफ्तार हो गए. दमोह में हफ्ते भर में ये दूसरा मामला है जब अधिकारी रिश्वत का पैसा लेते हुए लोकायुक्त के जरिए रंगीन हाथों दबोचे गए हैं,पर इन रिश्वतखोरों की बेशर्मी तो देखिए की पर्याप्त सबूतों के बाद भी अपने आप को साजिश का शिकार बताकर मुंह छिपा रहे हैं.

आजम खान पीड़ितका कहना है कि कोरोना काल में जिन ड्राइवर्स और वाहन मालिकों ने जान हथेली पर रखकर अपनी निस्वार्थ सेवा को पूरा किया. वहीं अपने चार लाख के जायज बिल के लिए ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर के चक्कर लगाते रहे कर्ज के बोझ में मजबूरन गाड़ियां बंद हो गईं पर पैसा के एवज में दस परसेंट की घूसखोरी में अब श्रीमान पंद्रह हजार रंगे रुपयों के साथ सागर लोकायुक्त पुलिस के हाथों दबोच लिए गए. इस पूरी कार्रवाई में टीम में आए निरीक्षक केपी बेन, बी एम दिवेदी, आशुतोष व्यास, नीलेश और भी 8 सदस्यों की टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है.

नव भारत न्यूज

Next Post

निगम ने तोड़े बेकलाईन के अवैध अतिक्रमण

Tue Feb 1 , 2022
इंदौर:  पाटनीपुरा से भमोरी तक फुटपाथ से अतिक्रमण हटाने के पश्चात नगर निगम ने सोमवार को बेकलाईन के अवैध अतिक्रमण हटाए. उपायुक्त श्रीमती लता अग्रवाल ने बताया कि पाटनीपुरा चौराहा से नंदा नंगर शनि मंदिर तक बेकलाईन में किये गये अवैध अतिक्रमण सहित 6 पक्के निर्माण को जेसीबी के माध्यम […]