विभूतियों को सम्मान की घोषणा से देश गौरवान्वित: शिवराज

भोपाल, (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समाज सेवा, कला, विज्ञान, सहित विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान से देश की सेवा करने वाले विभूतियों को पद्म भूषण और पद्म श्री सम्मान प्रदान करने की घोषणा का स्वागत करते हुए सम्मानित विभूतियों को बधाई दी है।

श्री चौहान ने ट्वीट किया है कि जिन्होंने राष्ट्र की सेवा में सम्पूर्ण जीवन समर्पित कर दिया, उनके चरणों में वे नमन करते हैं। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की सम्मानित विभूतियों सहित पूर्व सीडीएस जनरल स्व. बिपिन रावत, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कल्याण सिंह, गीता प्रेस के पूर्व अध्यक्ष स्व. राधेश्याम खेमका को सादर नमन किया। साथ ही शास्त्रीय संगीतज्ञ डॉ. प्रभा अत्रे को हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित की हैं।

श्री चौहान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त फिजिशयन, भोपाल गैस त्रासदी के बाद हजारों पीड़ितों के लिए असाधारण चिकित्सा व्यवस्था करने वाले स्व डॉ. एनपी मिश्रा को चिकित्सा क्षेत्र के लिए पद्मश्री सम्मान पर सादर नमन करते हैं। आपका संपूर्ण जीवन, सेवा का अप्रतिम अध्याय है, जो हमेशा प्रेरणा देता रहेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि विभूतियों को सम्मान की घोषणा से देश गौरवान्वित है। उल्लेखनीय है कि गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई है। भोपाल के स्व. डॉ एन.पी. मिश्रा (मरणोपरांत) को चिकित्सा के क्षेत्र में तथा अर्जुन सिंह धुर्वे को कला, अवध किशोर जड़िया को साहित्य एवं शिक्षा तथा रामसहाय पांडे और दुर्गाबाई व्याम को कला के क्षेत्र में पद्मश्री से सम्मानित किया गया है।

उन्होंने गोंड लोककथा की चित्रकारी की पर्याय, मंडला की बेटी सुश्री दुर्गाबाई व्याम जी को कला के क्षेत्र में पद्मश्री सम्मान के लिए शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट किया है कि ‘आपने जीवन के संघर्षों, चुनौतियों और विषमताओं के बीच चित्रकारी कला को न केवल प्रवाहमान रखा, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाई। आपको हार्दिक बधाई।’

इसी क्रम में मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश की जनजातीय संस्कृति को विशेष पहचान दिलाने के लिए समर्पित डिंडौरी के अर्जुन सिंह धुर्वे को भी कला क्षेत्र में पद्म श्री सम्मान के लिए हार्दिक शुभकामनाएं दी हैं। श्री चौहान ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ‘आपने बैगा नृत्य एवं संस्कृति को प्रवाहमान रखते हुए लोककला को शिखर पर पहुँचाया। आपको बधाई।’

श्री चौहान ने बुंदेलखंड के गीत-संगीत संस्कृति की पहचान राई नृत्य को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठा दिलाने वाले सागर जिले के प्रतिभावान कलाकार श्री रामसहाय पांडेय जी को कला क्षेत्र से पद्मश्री सम्मान के लिए बधाई देते हुए ट्वीट किया है कि ‘आप प्रदेश का गौरव हैं। आज हम सभी गौरवान्वित हैं, हमारी शुभकामनाएँ’ मुख्यमंत्री ने शिक्षा और साहित्य के क्षेत्र में पद्मश्री से सम्मानित अवध किशोर जड़िया को भी बधाई एवं शुभकामनाएं प्रेषित की हैं।

नव भारत न्यूज

Next Post

ओमीक्रॉन के कारण आईएमएफ ने घटाया भारत के विकास अनुमान को

Thu Jan 27 , 2022
नयी दिल्ली 26 जनवरी (वार्ता) अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कोरोना के नये वेरिएंट ओमीक्राॅन के कारण भारत के चालू वित्त वर्ष के विकास अनुमान में आधी फीसदी की कटौती करते हुये इसके अब नौ फीसद रहने की बात कही है जबकि अलगे वित्त वर्ष के अनुमान आधी फीसदी की […]