एमपीपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षा में दो कोरोना संक्रमित सहित कुल 1700 अभ्यर्थी हुए शामिल

इंदौर, 24 जनवरी (वार्ता) मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (एमपीपीएससी) द्वारा आयोजित सहायक संचालक संवर्ग (सामाजिक न्याय ) एवं दन्त शल्य चिकित्सक की परीक्षा में दो कोरोना संक्रमित अभ्यर्थियों सहित कुल एक हजार सात सौ अभ्यथी शामिल हुए।
डॉ आर पंचभाई (विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी एमपीपीएससी) ने बताया कि कल दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक सहायक संचालक संवर्ग (सामाजिक न्याय) एवं दन्त शल्य चिकित्सक की भर्ती की परीक्षा का आयोजन किया गया। इंदौर शहर में 10 परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित इस परीक्षा में सहायक संचालक संवर्ग (सामाजिक न्याय) परीक्षा के पद के लिए लगभग एक हजार पांच सौ अभ्यर्थी सम्मिलित हुए एवं दन्त शल्य चिकित्सक परीक्षा में लगभग दो सौ अभ्यर्थी सम्मिलित हुए।
डॉ पंचभाई ने बताया कि कोविड प्रोटोकॉल के अंतर्गत सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सभी 10 केन्द्रों पर डॉ. एवं मेडिकल की सुविधा अभ्यर्थियों को उपलब्ध कराई गई। शहर के 02 केंद्र शासकीय होल्कर विज्ञान महाविद्यालय एवं माता जीजाबाई शासकीय कन्या महाविद्यालय, मोती तबेला इंदौर में 02 कोविड परीक्षार्थी भी परीक्षा में सम्मिलित हुए। परीक्षा आयोजन के लिए 10 केन्द्राध्यक्ष एवं 10 पर्यवेक्षक सहित संभागायुक्त कार्यालय से भी परीक्षा आयोजन के लिए स्टाफ लगाया गया था।

नव भारत न्यूज

Next Post

मुख्यमंत्री के सपनों का शहर है इंदौर

Mon Jan 24 , 2022
  सियासत 26 जनवरी को आमतौर पर जिला प्रभारी मंत्री झंडा वंदन करते हैं. सामान्यतः मुख्यमंत्री भोपाल में झंडा फहराते हैं। इस वर्ष मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर झंडा फहराने का ऐलान किया है. झंडा वंदन ऐसा समारोह होता है […]